असम-मिजोरम सीमा विवाद: असम पुलिस के 6 जवान शहीद, गृहमंत्री अमित शाह और PMO से दखल की मांग

Assam-Mizoram Border Dispute: असम और मिजोरम के बीच जारी सीमा विवाद के समाधान को लेकर दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से दखल देने की मांग की है।

By: Anil Kumar

Updated: 26 Jul 2021, 10:01 PM IST

नई दिल्ली। पूर्वोत्तर भारत के कई राज्यों के बीच सीमा विवाद है, जिसको लेकर तकरार भी बढ़ता जा रहा है। वहीं, अब असम और मिजोरम के बीच जारी सीमा विवाद के समाधान को लेकर गृहमंत्री अमित शाह से दखल देने की मांग की गई है।

सोमवार को दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने अमित शाह से बात की और सीमा विवाद को सुलझाने की अपील की। बातचीत के दौरान सीमा विवाद पर दोनों प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों ने विवाद सुलझने तक सयम बरते का भरोसा दिया है। इससे पहले असम और मिजोरम के सीएम ने सीमा विवाद को सुलझाने के लिए गृहमंत्री से हस्तक्षेप की मांग की थी।

यह भी पढ़ें :- Gujarat: केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अहमदाबाद-गांधीनगर को दो फ्लायओवर की दी सौगात

सीमा विवाद को लेकर असम और मिजोरम की सीमा पर रहने वाले नागरिको और पुलिस के बीच कई बार झड़प हो चुकी है। मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा ने सोमवार को पुलिस व नागरिकों के बीच झड़प का एक वीडियो ट्वीट किया और इसपर कार्रवाई की मांग की। सीएम ने इस वीडियो को गृहमंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए ट्वीट किया।

इस वीडियो के जवाब में असम पुलिस ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा 'यह दुर्भाग्‍यपूर्ण है कि मिजोरम से कुछ असामाजिक तत्‍व असम के सरकारी अधिकारियों पर पथराव कर रहे हैं। ये अधिकारी लैलापुर में असम की जमीन की अतिक्रमण से रक्षा करने के लिए तैनात हैं।"

असम पुलिस के 6 जवान शहीद

असम और मिजोरम में सीमा विवाद पर लगातार टकराव बढ़ता जा रहा है। अब असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्व सरमा ने दावा किया है कि इस तनातनी में अब तक असम पुलिस के 6 जवान शहीद हो चुके हैं। वहीं, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस मुद्दे को जल्द से जल्द सुलझाने के निर्देश दिए हैं।

असम-मिजोरम के सीएम में ट्वीटर वार

सीमा विवाद को लेकर अमस और मिजोरम के मुख्यमंत्रियों के बीच ट्वीटर वार चल रहा है। सोमवार को असम के सीएम हिमंता बिस्‍वा शर्मा ने ट्विटर करते हुए लिखा, ''माननीय जोरमथंगा जी, कोलासिब (मिजोरम) के एसपी ने हमसे कहा है कि जब तक हम अपनी पोस्ट से पीछे नहीं हट जाते तब तक उनके नागरिक सुनेंगे नहीं और हिंसा नहीं रोकेंगे। ऐसे हालात में सरकार कैसे चला सकते हैं?'' इसके बाद हिमंत बिस्वा ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए लिखा है, 'आशा है कि आप जल्‍द से जल्‍द दखल देंगे'।

हिमंत बिस्वा के ट्वीट के जवाब में मिजोरम के सीएम जोरमथंगा ने ट्वीट करते हुए लिखा "हिमंत जी, माननीय अमित शाह जी ने दोनों मुख्‍यमंत्रियों की सौहार्दपूर्ण बैठक कराई थी। उसके बाद आश्‍चर्यजनक रूप से आज मिजोरम में वेरिंगटे ऑटो रिक्‍शा स्‍टैंड के पास असम पुलिस की दो कंपनियां नागरिकों के साथ आईं और वहां मौजूद नागरिकों पर आंसू गैस के गोले दागे और लाठी चार्ज किया। उन्‍होंने सीआरपीएफ और मिजोरम पुलिस के जवानों को भी भगा दिया।'

इसके बाद हिमंत बिस्वा ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा "मेरी सीएम जोरमथंगा से बात हुई है। मैंने दोहराया है कि असम बॉर्डर पर यथास्थिति बरकरार रखेगें.. जिससे कि शांति बनी रहे। उन्होंने मिलकर बातचीत करने की भी बात कही है।"

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बीते शनिवार को दो दिवसीय पूर्वोत्तर भारत के दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने पूर्वोत्तर भारत के आठों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी। इस दौरान सीमा विवाद समेत कई मुद्दों पर बातचीत हुई थी।

home minister amit shah
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned