Bihar Assembly Election : जीतन राम मांझी कल एनडीए में होंगे शामिल, महागठबंधन को बड़ा झटका

  • नीतीश और मांझी में बनी बात, हम नेता कल करेंगे NDA में शामिल होने का ऐलान।
  • Mahagathbandhan से तोड़ एनडीए का हिस्सा बनाने के लिए राजी करने में नीतीश कुमार ने निभाई अहम भूमिका।
  • HAM ने बिहार में विकास के लिए एनडीए का हाथ थामने का दावा किया।

By: Dhirendra

Updated: 02 Sep 2020, 02:44 PM IST

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 ( Bihar Assembly Election 2020 ) की सुगबुगाहट तेज होते पाला बदलने को सिलसिला भी तेज हो गया है। तमाम कयासों के बीच 3 सितंबर को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्दुस्तान अवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ( Jeetan Ram Manjhi ) फिर से एनडीए ( NDA ) में शामिल हो जाएंगे। उन्हें महागठबंधन ( Mahagathbandhan ) से एनडीए में खींच लाने में सीएम नीतीश कुमार ( CM Nitish Kumar ) की भूमिका अहम मानी जा रही है।

बिहार के चुनावी मौसम में इस सियासी उठापटक को महागठबंधन के लिए बड़ा झटका माना जा रहा हैं। हम के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने पुष्टि कर दी हैं दानिश रिजवान ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि 3 सितंबर को हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ( HAM ) एनडीए का हिस्सा बन जाएगा और जीतन राम मांझी इसकी विधिवत घोषणा करेंगे।

शिक्षक दिवस के दिन इन खूबसूरत कोट्स के साथ कहें 'हैप्पी टीचर्स डे'

विकास के लिए थामेंगे एनडीए का हाथ

हम के प्रवक्ता रिजवान दानिश ने कहा कि एनडीए के हाथ विकास के लिए थामने जा रहे हैं। ऐसे में हमारे लिए सीट शेयरिंग ( Seat Sharing ) कोई मुद्दा नहीं है। इससे पहले मंगलवार को जो जानकारी मिली थी उसके मुताबिक मांझी और जेडीयू ( JDU ) के बीच एमएलसी की एक सीट को लेकर पेंच फंसा हुआ था। हालांकि, इस बात के शुरू से ही कयास लगाए जा रहे थे कि सीट शेयरिंग को सुलझा कर मांझी फिर से अपने पुराने घर में वापस लौटेंगे।

जेडीयू कोटे 12 सीटें चाहते हैं मांझी

हम जीतन राम मांझी के बारे में कहा जा रहा है कि उनकी पार्टी बिहार में जेडीयू कोटे की 10-12 सीटों पर अपने उम्मीदवार देगी जिसमें अधिकांश सीटें मगध क्षेत्र का हिस्सा होंंगी। बिहार में मांझी फिलहाल अपनी पार्टी के इकलौते विधायक हैं।

Hate Speech : आज फेसबुक इंडिया के अधिकारी शशि थरूर के सामने होंगे पेश, इस मुद्दे पर रखेंगे अपना पक्ष

नीतीश चाहते हैं मांझी चुनाव लड़ें

बिहार के सीएम नीतीश कुमार से हुई मुलाकात में जीतन राम मांझी ने स्पष्ट कर दिया है कि वो विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं। जबकि नीतीश कुमार ने जीतन राम मांझी से विधानसभा चुनाव लड़ने का अनुरोध किया है। नीतीश कुमार चाहते हैं कि जीतन राम मांझी विधानसभा का चुनाव आरजेडी नेता उदय नारायण चौधरी के खिलाफ लड़ें।

बता दें कि 2015 के चुनाव में भी जीतन राम मांझी ने चुनाव लड़ने से मना कर दिया था। सूत्रों के जानकारी के मुताबिक नीतीश कुमार ने जीतन राम मांझी को चुनाव लड़ने के लिए मना लिया है। आने वाले दिनों में देखना होगा की मांझी के गठबंधन में शामिल होने की घोषणा किस फॉर्मूले के तहत करते हैं।

आज विश्व नारियल दिवस है, जानें एक साधारण फल कैसे भारतीयों की जीवन में इतना महत्वपूर्ण हो गया?

bihar assembly election
Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned