बीजेपी में शामिल होने के बाद मंच पर ही उठक-बैठकर लगाने लगा ये नेता, बोला- अपने पापों के लिए खुद को दे रहा हूं सजा

  • बीजेपी नेता ने मंच पर लगाई उठक-बैठक
  • बोले- अपने पापों की खुद को दे रहा हूं सजा

By: धीरज शर्मा

Published: 04 Mar 2021, 03:09 PM IST

नई दिल्ली। आमतौर पर चुनावी माहौल के बीच नेता जनता के आगे अपनी उपलब्धियां और पूरे किए वादों को गिनाते हुए दिखाई देते हैं। लेकिन क्या आपने देखा है कि चुनावी माहौल के बीच मंच पर ही नेता उठक-बैठक लगाने लगे और फिर ये कहे कि ये उसके पापों की सजा है।

दरअसल ऐसा हुआ है पश्चिम बंगाल ( West Bengal ) में। जहां टीएमसी से बीजेपी में शामिल हुए नेता ने मंच पर ही सबके सामने उठक-बैठक लगाना शुरू कर दी।

शिवरात्रि पर ममता बनर्जी भरेंगी अपना नामांकन, जानिए क्या है इसके पीछे रणनीति

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को झटका लगा है। एक ब्लॉक-स्तरीय तृणमूल कांग्रेस नेता सुसांता पाल ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है। लेकिन इससे भी ज्यादा चौंकाने वाला वाकया तब हुआ जब इस नेता ने बीजेपी में जाकर खुद को सजा दी।

बीजेपी में शामिल होने के बाद सुसांता पाल ने मंच पर ही खुद को दंड देते हुए उठक-बैठक लगाना शुरू कर दी। इस दौरान मंच पर शुभेंदु अधिकारी और अन्य नेता उपस्थिति थे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भाजपा में शामिल होने के बाद सुसांता पाल ने मंच से जनता को संबोधित करते हुए अपने हाथों से दोनों कानों को पकड़ कर उठक-बैठक लगाई और कहा कि वह खुद को टीएमसी सदस्य होने के पापों से मुक्त करने के लिए ऐसा कर रहे हैं।

आपको बता दें कि सुसांता पाल ने मंच से लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि वह एक भाजपा नेता हुआ करते थे, लेकिन साल 2005 में वाम मोर्चा सरकार को सत्ता से हटाने के लिए टीएमसी में शामिल हुए थे। सुसांता पाल ने कहा कि मैं अब अपने आप को दंडित करके अपने पापों के लिए माफी मांग रहा हूं। इस दौरान मंच पर शुभेंदु अधकारी और अन्य भाजपा नेता भी मौजूद रहे।

पीएम और उपराष्ट्रपति सुरंग के जरिए जाएंगे संसद, जानिए क्या है पूरा प्लान

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है वैसे-वैसे राजनीतिक दलों के नेताओं ने ताबड़तोड़ रैलियां करना शुरू कर दिया। चुनाव प्रचार के दौरान राजनीतिक दलों जनता को लुभाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं, ताकि राज्य में सत्ता हासिल कर सकें।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned