कल होगी Congress कार्य समिति की बैठक, Rahul Gandhi को अध्यक्ष बनाने की मांग तेज

  • सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कांग्रेस कार्य समिति की बैठक।
  • कांग्रेस सचिव चल्ला वामशी चंद रेड्डी ने रविवार को पत्र लिखकर राहुल को अध्यक्ष बनाने की मांग की।
  • काफी वक्त से पार्टी के भीतर राहुल गांधी को कमान दिए जाने पर जोर रहे हैं कई नेता।

 

नई दिल्ली। पिछले काफी वक्त से कांग्रेस पार्टी में नेतृत्व बदलने की चर्चाएं चल रही है। इन सबके बीच कांग्रेस नीति निर्माण की सर्वोच्च संस्था कांग्रेस कार्य समिति (सी डब्ल्यू सी) की सोमवार को एक अहम आयोजित की जाएगी। बताया जा रहा है कि इस बैठक में राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने पर मोहर लगाई जा सकती है।

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने किया ऐलान, बिहार में इन पार्टियों के साथ मिलकर लड़ेगी विधानसभा चुनाव

इससे पहले कांग्रेस के तमाम नेताओं ने पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा था। इस पत्र के माध्यम से पार्टी पदाधिकारियों ने नेतृत्व परिवर्तन की मांग की थी। हालांकि कांग्रेस पार्टी ने इस तरह के किसी भी पत्र के लिखे जाने से इनकार किया है। पार्टी का कहना है कि सोमवार को होने वाली कार्य समिति की बैठक में मौजूदा राजनीतिक हालात पर चर्चा की जाएगी। हालांकि बावजूद इसके कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चाओं का बाजार गर्म है।

बैठक के बारे में जानकारी देते हुए कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि सोमवार 24 अगस्त को सीडब्ल्यूसी की बैठक सुबह 11 बजे आयोजित की गई है। यह मीटिंग वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संपन्न होगी।

वहीं, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव चल्ला वामशी चंद रेड्डी ने रविवार को सभी कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) के सदस्यों को लिखे पत्र में कहा कि राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष पद पर बढ़ावा देने में किसी भी तरह की देरी पार्टी की प्रगति के लिए "बेहिसाब नुकसान" का कारण होगी और "कांग्रेस परिवार को उत्साहहीन" करेगी।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने किया खुलासा, कब तक भारत में आएगी कोरोना वैक्सीन

सीडब्ल्यूसी की बैठक से एक दिन पहले रेड्डी ने कहा कि यह निर्णय "आगे की रचनात्मक कार्रवाई के लिए लॉन्चिंग पैड बनाएगा और हमें किसी भी घटना के लिए तैयार करेगा।" उन्होंने कहा कि राहुल ही एकमात्र ऐसे नेता हैं जो पार्टी में युवाओं और बुजुर्गों को एकजुट कर सकते हैं और वह "अकेले हमें इन अंधेरे वक्त से बाहर ले जा सकते हैं।"

गौरतलब है कांग्रेस कार्यसमिति की पिछली बैठक में वर्ष 2019 के आम चुनाव में पार्टी की हार को लेकर कुछ सांसदों द्वारा मुद्दा उठाए जाने पर तीखी बहस हुई थी। इसके बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि सोमवार को कार्य समिति की बैठक काफी महत्वपूर्ण हो गई है। बताया गया है कि कुछ नेताओं ने सोनिया गांधी को पत्र लिखा था और नेतृत्व परिवर्तन के साथ ही कार्य समिति के लिए चुनाव कराने की मांग भी की थी।

पार्टी से निलंबित किए गए प्रवक्ता संजय झा ने कहा था कि पार्टी के सांसदों समेत कांग्रेस के 100 नेताओं ने सोनिया गांधी को पत्र लिखा था। सभी ने इस पत्र के जरिये नेतृत्व परिवर्तन की मांग उठाई थी। पत्र लिखने वाले नेताओं ने अंतरिम अध्यक्ष की जगह कांग्रेस पार्टी का फुल टाइम अध्यक्ष बनाने की मांग उठाई थी ताकि पार्टी को फिर से जीवित किया जा सके। 

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने किया खुलासा, कब तक भारत में आएगी कोरोना वैक्सीन

वहीं, कांग्रेस के कई नेता इस बात से नाराज भी हैं कि पार्टी अब दिशाहीन हो गई है। जहां कांग्रेस के कुछ नेता राहुल गांधी को फिर से पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने की भी मांग उठा रहे हैं, वहीं अन्य नेताओं का मानना है कि राहुल गांधी और उनकी टीम के लोग फिलहाल राजनीतिक रूप से अपरिपक्व हैं और चुनाव में जीत नहीं दिला सकते। 

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned