J P Nadda : पीएम मोदी ने देश को वोट बैंक के दुष्चक्र से बाहर निकाला, विकास की राजनीति की

 

  • पीएम ने वोट बैंक के माइंडसेट से बाहर निकलने का नजरिया लोगों को दिया।
  • बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि पीएम गरीब जरूरतमंद की चिंता सबसे पहले करते हैं।
  • सरकार की ओर टकटकी लगाकर प्रतीक्षा करने वाले लोगों का पीएम मोदी में भरोसा बढ़ा है।

By: Dhirendra

Updated: 17 Sep 2020, 05:19 PM IST

नई दिल्ली। आज पूरा देश पीएम नरेंद्र मोदी का जन्मदिन दिन मना रहा है। वहीं भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ( J P Nadda ) बिहार विधानसभा चुनाव में पार्टी को जीत दिलाने में व्यस्त हैं। लेकिन उन्होंने चुनावी व्यवस्तताओं के बीच चौंकाने वाला बयान दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वोट बैंक के सियासी दुष्चक्र को तोड़ने का काम किया। अब भारत के मतदाता वोट बैंक के दुष्चक्र से बाहर आ चुके हैं।

पीएम मोदी के जन्मदिन पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि इससे पहले सत्ताधारी दलों ने वोट के नाम पर सत्ता को स्थायी बनाए रखने के लिए सियासी उपक्रम के रूप में इस्तेमाल किया। लेकिन पीएम ने वोट बैंक के माइंडसेट से बाहर निकलने का नजरिया लोगों को दिया।

बीजेपी नेता संजय जायसवाल का बड़ा बयान, आधुनिक भारत के विश्वकर्मा हैं पीएम मोदी

पीएम ने गरीब की चिंता सबसे पहले की

बीजेपी अध्यक्ष नड्डा ने कहा कि पीएम गरीब जरूरतमंद की चिंता सबसे पहले करते हैं। विकास के अवसर को क्षेत्र, वर्ग या व्यक्ति के आधार पर तय न कर आवश्यकता के हिसाब से तय करते हैं।

पीएम ने गरीब और आम लोगों को पोस्टरों और नारों में निकाल उनकी समस्याओं का समाधान जमीन
पर करने की कोशिश की। यही कारण है कि सरकार की ओर टकटकी लगाकर प्रतीक्षा करने वाले लोगों का पीएम मोदी में भरोसा बढ़ा है। इसकी वजह यह है कि आज देश के नागरिक को सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहे हैं।

PM Modi का 70वां जन्मदिन आज, सोशल मीडिया पर लगा बधाइयों का तांता, राष्ट्रपति कोविंद, अमित शाह ने बताया ‘लोकप्रिय नेता’

गरीब केंद्रित योजनाओं पर अमल

पिछले छह साल से ज्यादा समय में पीएम मोदी ने गरीब केंन्द्रित जनधन खाते, रोजगार, पीएम आवास, आवास योजना, उज्ज्वला योजना, किसान सम्मान निधि और आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं पर अमल कर लोगों को बता दिया कि सत्ता केवल सुख भोगने का साधनभर नहीं है।

किसानों के हित में उठाए कई कदम

परंपरागत सियासी ट्रैक से हटकर उन्होंने टू द पीपल, फॉर द पीपल, बाय द पीपल के विचार को हकीकत में तब्दील कर दिखाया है। आमजन को सरकार की उपयोगिता, उसके निर्णय और स्वयं नागरिक होने की जिम्मेदारी के बोध होने और अभियानों में नागिरकों की भागीदारी सुश्निश्चित करने का वातावरण बनाया। इसी तरह किसानों के हित में भी कई कदम उठाए।

Rahul Gandhi ने पहले पीएम मोदी को दी जन्मदिन की बधाई, फिर बेरोजगारी के मुद्दे पर साधा निशाना

एक देश, एक कानून पर जोर

दूसरी तरफ राष्ट्रीय एकता में सबसे बड़ी बाधा कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए हटाकर एक देश एक कानून पर भी जोर दिया है। अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनने का सपना भी मोदी सरकार में ही पूरा हो सका है। मुस्लिम बहनों के लिए तीन तलाक जैसा अपमानजनक विषय समाप्त किया जा चुका है। जहां कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया को प्रभावित किया वहीं पीएम मोदी ने डटकर इसका मुकाबला किया।

pm modi
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned