लालू प्रसाद यादव का नीतीश सरकार पर तंज, 'कोरोना' से भी ज्यादा खतरनाक बताया

RJD Chief Lalu Prasad Yadav ने नीतीश सरकार को बताया कोरोना से ज्यादा खतरनाक

By: धीरज शर्मा

Published: 08 May 2021, 12:18 PM IST

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जनता दल ( RJD ) के सुप्रीमो और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ( Lalu Prasad Yadav ) ने नीतीश सरकार पर तंज कसा है। दरअसल लालू यादव में बिहार में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के खतरे से ज्यादा खतरनाक नीतीश सरकार को बताया है।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद बकायदा ट्वीट के जरिए नीतीश सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा- 'सरकार की जनता के साथ गद्दारी कोविड से भी बड़ी महामारी है।'

यह भी पढ़ेँः जाने माने सितारवादक प्रीतक चौधरी भी कोरोना से हारे जंग, एक हफ्ते पहले पिता देबू चौधरी का हुआ था निधन

बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले हर रोज बढ़ रहे हैं. संक्रमण से निपटने के लिए राज्य की नीतीश कुमार सरकार ने राज्य में 15 मई तक फिलहाल लॉकडाउन लगा दिया है। वहीं जमानत पर बाहर निकले लालू प्रसाद यादव एक बार फिर राजनीति में सक्रिय नजर आ रहे हैं।

उन्होंने नीतीश सरकार को कोरोना से बड़ा खतरा बताया है। लालू यादव ने ट्वीट कर केंद्र व राज्य सरकार पर हमला बोला है. लालू यादव ने कहा,'सरकार की जनता के साथ गद्दारी कोविड से भी बड़ी महामारी है।'

लालू यादव के नीतीश सरकार पर किए गए इस हमले के बाद वे ट्रोल होने लगे। कई यूजर्स ने लालू यादव से ट्वीटर पर सवाल करना शुरू कर दिए।

एक सोशल मीडिया यूजर नमक ने उनसे पूछ लिया कि आपको किस महामारी के जुर्म में जेल हुई? इसी तरह एक अन्य यूजर ने लालू यादव के ट्वीट पर लिखा कि आपके आने से खुशी लौट आई है इसी तरह बेबाक अंदाज में लिखिए।

यह भी पढ़ेंः पुद्दुचेरी के मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में कोरोना का साया, 183 में से इतने लोग निकले कोविड संक्रमित, मच गया हड़कंप

आपको बता दें कि हाई कोर्ट की ओर से बिहार की राजधानी पटना के पीएमसीएच अस्पताल में हो रहे ऑक्सीजन गड़बड़ी की रिपोर्ट सामने आने के बाद से ही विपक्ष बिहार सरकार पर हमलावर हो गया है।

लालू यादव से पहले पप्पू यादव ने भी पीएमसीएच मामले में सवाल उठाए और कहा कि पीएमसीएच में ऑक्सीजन ही नहीं रेमडेसिवीर दवा की भी कालाबाजारी हो रही है।

लालू यदाव ने कहा कि लोग सिर्फ कोरोना संक्रमण, दवा की कमी, बेड की कमी, ऑक्सीजन की कमी से नहीं मर रहे बल्कि नीतीश सरकार के लापरवाही रवैये से भी उनकी जान जा रही, और जिनकी नहीं गई है उनकी खतरे में है।

दरअसल हाल ही में चारा घोटाले में जमानत पर रिहा होने के बाद, लालू प्रसाद अपने दिल्ली स्थित आवास में ठहरे हुए हैं। यहां पर वे एम्स के डॉक्टरों की कड़ी निगरानी में हैं। उनसे राज्य में जारी कोरोना संकट पर चर्चा करने के लिए 9 मई को राजद विधायकों, सांसदों और पार्टी के शीर्ष नेताओं की एक आभासी बैठक होने की उम्मीद है।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned