Corona संक्रमितों की तेजी से बढ़ती संख्या के चलते महाराष्ट्र के CM नहीं चाहते lockdown का अंत

  • Maharashtra CM Udhav Thackeray का Lockdown को लेकर बड़ा बयान
  • प्रदेश में तेजी से बढ़ते आंकड़ों के बीच नहीं चाहते खत्म हो लॉकडाउन
  • मुंबई-पुणे जैसे हॉट स्पॉट इलाकों में जारी रखेंगे पाबंदियां

By: धीरज शर्मा

Published: 30 May 2020, 11:55 AM IST

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना का संकट ( coronavirus ) लगातार बढ़ रहा है। खास तौर पर महाराष्ट्र ( Maharashtra ) में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। यहां अब तक 60 हजार से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। हालांकि 18 हजार से ज्यादा लोगों को स्वस्थ्य किया जा चुका है।
वहीं दो हजार से ज्यादा लोग महामारी के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं। कोरोना संकट के बीच देशभर में लॉकडाउन ( Lockdown ) का चौथा चरण 31 मई को खत्म हो रहा है। यही वजह है कि हर किसी की निगाह लॉकडाउन के पांचवे चरण पर टिकी है।

इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकर ( CM Udhav Thackeray ) ने संकेत दिए हैं वो लॉकडाउन हटाने के पक्ष में नहीं हैं। इसके बीच प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामले हैं। सीएम ठाकरे का कहना है कि मुंबई, पुणे जैसे हॉट स्पॉट में तो लॉकडाउन की पाबंदियां जारी रहेंगी। कुछ जिलों में जरूर ढील बढ़ाई जा सकती है। हालांकि इस पर अभी अंतिम फैसला नहीं लिया है।

मोदी सरकार2.0 के एक साल पर बोले बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, चुनौतियों को अवसर में बदलने का साल

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि कोरोना से जंग को देखते हुए आने वाले 15 दिन काफी महत्वपूर्ण होंगे। ऐसे में प्रदेश के कुछ इलाकों में कुछ रियायतें देने पर विचार किया जा रहा है। सीएम ने कहा कि हम सप्ताह के अंत में कोरोना के हालातों को लेकर समीक्षा कर रहे हैं। अंतिम निर्णय 31 मई के बाद ही लिया जाएगा।

हमारा निर्णय भी पीएम मोदी के आदेशों पर निर्भर रहेगा। अगर केंद्र सरकार लॉकडाउन को बढ़ाती है तो हम भी इसका पालन करेंगे।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दावा किया कि राज्य सरकार के पास कुल-कोविद -19 संख्या नियंत्रण में थी और मृत्यु दर में कमी आई थी, लेकिन उन्होंने कहा कि अभी भी सुरक्षा उपायों को कम करने का वक्त नहीं है।

उन्होंने कहा “हम अब एक महत्वपूर्ण मोड़ पर हैं। महामारी चरम पर है। मुंबई और पुणे में हालात बेहद नाजुक हैं। इसलिए हम यहां से आगे कैसे बढ़ेंगे, यह महत्वपूर्ण है।

उन्होंने कहा, "अब चीन और केरल में संक्रमण की दूसरी लहर देखी जा रही है।" "अब तक का अनुभव यह है कि एक बार नियंत्रित होने के बाद कोरोना दोबारा पलट कर आ रहा है। ऐसे में हमारे पास इससे निपटने के लिए कितनी मजबूत तैयारी होगी ये देखना भी महत्वपूर्ण है। ”

झारखंड में लॉकडाउन-5 की तैयारी में सोरेन सरकार, जानें क्या है पूरा मामला

जून में बारिश शुरू होने के बाद कोरोना वायरस से निपटने के लिए तैयारी के सवाल पर सीएम ने कहा कि इसके लिए भी पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। कि बारिश के दौर में किसी भी तरह की पैनिक स्थिति ना बने।
आपको बात दें किकोरोना संक्रमण का सबसे ज्यादा कहर आर्थिक राजधानी मुंबई में हुआ है।

यहां कोरोना मरीजों की संख्या 35 हजार को पार कर चुकी है। हर गुजरते दिन के साथ शहर में कोरोना मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है।

Show More
धीरज शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned