scriptMuslim women wearing hijab are voting on these issues | UP Assembly Election 2022 : हिजाब के पीछे अब खुला दिमाग रखती हैं मुस्लिम महिलाएं,इन मुददों पर कर रहीं मतदान | Patrika News

UP Assembly Election 2022 : हिजाब के पीछे अब खुला दिमाग रखती हैं मुस्लिम महिलाएं,इन मुददों पर कर रहीं मतदान

UP Assembly Election 2022 दूसरे चरण के विधानसभा चुनाव में भी हिजाब के पीछे मुस्लिम महिलाओं ने वोट डालने में खूब उत्साह दिखाया। मुस्लिम महिलाओं ने इस दूसरे चरण के मतदान में भी क्षेत्रीय विकास और शिक्षा से जुड़े मुददों को ध्यान में रखते हुए ही वोट किया। मुस्लिम महिला मतदाताओं का मानना है कि शिक्षा और विकास और पिछड़ेपन से जुड़ी तमाम परेशानियां अपने आप खत्म हो जाती है। उन्होंने इस बार मतदान के दौरान इन्हीं दो मुददों को ध्यान में रखा और अपने मताधिकार का उपयोग किया।

मेरठ

Updated: February 17, 2022 12:59:24 pm

UP Assembly Election 2022 इस समय हिजाब को लेकर मामला गरमाया हुआ है। वहीं हिजाब पहनने वाली मुस्लिम महिलाओं का दिमाग अब पहले की तरह संकीर्णता से भरा नहीं है। आजाद ख्यालों की हिजाब पहनने वाली इन मुस्लिम महिला मतदाताओं का मानना है कि अच्छी शिक्षा से घर-परिवार का तो विकास होगा ही साथ ही समाज और अपने मजहब के लिए भी कुछ कर सकेंगे। मतदान के दौरान ये बदलाव अब मुस्लिम महिालाओं की कुछ नई इबारत ही गढ़ रही हैं। एक वो दौर था जब शौहर बीवी को बुरका पहनाकर मतदान के दिन घर से लेकर निकलता था ओर अपने इशारे पर मतदान करने के लिए कहता था। लेकिन अब बुरके के भीतर की महिला भी काफी बदल गई है। उसकी सोच भी बदल गई है।
UP Assembly Election 2022 : हिजाब के पीछे अब खुला दिमाग रखती हैं मुस्लिम महिलाएं,चुनाव में अपने विवेक पर कर रही मतदान
UP Assembly Election 2022 : हिजाब के पीछे अब खुला दिमाग रखती हैं मुस्लिम महिलाएं,चुनाव में अपने विवेक पर कर रही मतदान
समाज और देश के बारे में सोचकर किया वोट
बेशक वो बुरका और हिजाब के भीतर ही मतदान देने गई हो लेकिन उसके दिमाग की सोच को एक नए पंख लग गए हैं। जिसमें वो अपने परिवार के बारे में ही नहीं बल्कि समाज और देश के बारे में भी सोचने लगी हैं। वे अब मतदान के दौरान प्रत्याशियों को हर स्थिति से मांपकर ही वोट करती नजर आई। इन मुस्लिम महिलाओं का मानना है कि बच्चों को अच्छी शिक्षा मिले तो उनके परिवार का तो विकास होगा ही। साथ ही समाज और देश में भी उनका सम्मान बढ़ेगा। आज की मुस्लिम महिलाओं में आज के समय में आगे बढ़ाने के लिए काफी उत्साह है। वे अब शिक्षित बनकर अपना और अपने परिवार के साथ समाज पर भी ध्यान देना चाहती है। समय बदल रहा है और इसी बदले समय की इबारत बनकर ये मुस्लिम महिलाएं सामने आ रही है।
यह भी पढ़े : UP Assembly Elections 2022 : योगी के इस मंत्री के खिलाफ सेक्टर मजिस्ट्रेट ने दर्ज कराई एफआईआर

घर और समाज में शिक्षा और विकास का महत्व
मुस्लिम शिक्षिका कहकशा नफीसा का कहना है कि उन्हें पता है कि घर और समाज में शिक्षा और विकास का कितना महत्व होता है। उन्होंने कहा कि अब मुस्लिमों को कोई अनपढ़ कहने की गुस्ताखी नहीं कर सकता। समाज में शिक्षा की अलख जलनी शुरू हो गई है। घर में महिलाएं अब बच्चों के लिए सबसे पहले पढ़ाई के लिए सोचती हैं। वे अब समाज में हर जगह अपनी भागीदारी देखना चाहती हैं। यहीं कारण है कि आज मतदान में भी वे स्वयं के विवेक के मतदान कर रही हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: RCB ने राजस्थान को जीत के लिए दिया 158 रनों का लक्ष्यपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.