कर्नाटक क्राइसिस में नया मोड़, भाजपा ने जेडीएस को दिया सीएम पद का ऑफर

कर्नाटक क्राइसिस में नया मोड़, भाजपा ने जेडीएस को दिया सीएम पद का ऑफर

Dhirendra Kumar Mishra | Publish: Jul, 12 2019 11:02:25 AM (IST) | Updated: Jul, 12 2019 04:40:08 PM (IST) राजनीति

  • Karnataka Political Updates: Political Crisis खत्‍म करने के लिए BJP का नया दांव
  • JDS के कुमारस्‍वामी को दिया Karnataka CM पद का ऑफर
  • Rebellion MLAs को लेकर BJP Leader's में फूट के आसार

नई दिल्‍ली। पिछले सात दिनों से कर्नाटक राजनीतिक संकट ( karnataka crisis ) को लेकर जारी घमासान के बीच इस बात की चर्चा जोरों पर है कि भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) ने जेडीएस ( JDS ) को सीएम पद का ऑफर दिया है। इससे कर्नाटक की राजनीति में नया मोड़ आ सकता है। हालांकि भाजपा के किसी नेता ने इस बात की पुष्टि नही की है।

दूसरी तरफ चर्चा यह भी है कि कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन ( Congress-JDS Coalition ) के बागी विधायकों को भाजपा में शामिल करने को लेकर पार्टी के नेताओं में एक राय नहीं है।

Murlidhar Rao

भाजपा नेता ने किया मुलाकात से इनकार

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक भाजपा ने कर्नाटक में सत्‍ता में वापसी करने के लिए जेडीएस के कुमारस्‍वामी को मुख्‍यमंत्री पद का ऑफर दिया है।

सूचना तो यहां तक है कि भाजपा के राष्‍ट्रीय सचिव मुरलीधर राव ( BJP National Secratory Murlidhar Rao ), कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ( Karnataka CM HD Kumaraswamy ) के करीबी और पर्यटन मंत्री आर महेश ( Tourism minister R Mahesh ) के बीच इस मुद्दे पर बातचीत भी हुई है।

इस बारे में पूछे जाने पर भाजपा नेता मुरलीधर राव ( BJP Leader Murlidhar Rao ) ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। उन्होंने यहां तक कह दिया कि सीएम कुमारस्‍वामी के करीबी आर महेश से उनकी मुलाकात नहीं हुई है।

राहुल गांधी ने लोकसभा में उठाया किसानों की बदहाली का मुद्दा, राजनाथ ने कहा- इसके लिए

मुरलीधर राव ने कहा कि एक ही स्‍थान पर दो नेताओं का होना एक संयोग है। इस तरह की अफवाहों पर यकीन करने की जरूरत नहीं है। उन्‍होंने कहा कि मुलाकात की बातों में कोई दम नहीं है।

कुशासन का शासन जल्‍द समाप्‍त होगा

इसके उलट भाजपा नेता मुरलीधर राव ने कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन पर हमला बोलते हुए कहा कि कर्नाटक में कुशासन का राज जल्‍द समाप्‍त होने वाला है।

उन्‍होंने कहा कि कर्नाटक क्राइसिस ( Karnataka Crisis ) को लेकर बदलते समीकरणों पर भाजपा की नजर जरूर है। मुरलीधर राव ने कहा कि कर्नाटक की जनता के हित में पार्टी कुछ भी करने को तैयार है।

kr ramesh

भाजपा की राह में स्‍पीकर रमेश ने फंसाया पेच

बता दें कि कर्नाटक में कांग्रेस के 13 और जेडीएस के 3 विधायकों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बागी विधायकों के इस्‍तीफे से कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार ( Congress-Jds Coalition Government ) लगभग अल्पमत में आ गई है।

अगर कर्नाटक विधानसभा के अध्‍यक्ष केआर रमेश कुमार बागी विधायकों का इस्‍तीफा स्‍वीकार कर लें तो सरकार गिर सकती है।

इस्तीफा मंजूर होने पर भाजपा की बन सकती है सरकार

अगर कर्नाटक विधानसभा के अध्‍यक्ष बागी विधायकों का इस्‍तीफा मंजूर कर लेते हैं तो सदन में सदस्य संख्या 208 रह जाएगी।

 

कर्नाटक क्राइसिस: बेंगलूरु से दिल्‍ली तक घमासान, सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

ऐसे में बहुमत का आंकड़ा 105 का हो जाएगा और सरकार के पास 100 की सदस्य संख्या होगी। वर्तमान में भाजपा के पास 105 विधायक हैं। दो निर्दलीयों को मिला दें तो यह आंकड़ा 107 का हो जाता है।

ऐसा न होने पर बागी विधायकों पर बढ़ेगा दबाव

विधानसभा अध्‍यक्ष केआर रमेश द्वारा इस्तीफा स्वीकार नहीं किए जाने की स्थिति में सदन की सदस्य संख्या 224 ही रहेगी।

इस स्थिति में अगर विश्वास मत या अविश्वास प्रस्ताव पेश किया जाता है तो कांग्रेस और जेडीएस अपने विधायकों को व्हिप जारी कर सकती है।

ऐसे स्थिति में अगर बागी विधायक सरकार के खिलाफ जाएंगे तो एंटी-डिफेक्शन लॉ के तहत उनकी सदस्यता रद्द हो सकती है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned