scriptoperation of House has been historic even during Corona period, 370 MPs reached Lok Sabha every day | कोरोना काल में भी ऐतिहासिक रहा सदन का संचालन, Lok Sabha  में हर दिन पहुंचे 370 सांसद | Patrika News

कोरोना काल में भी ऐतिहासिक रहा सदन का संचालन, Lok Sabha  में हर दिन पहुंचे 370 सांसद

 

  • लोकसभा ओम बिरला ने सदन के सफल संचालन का श्रेय सांसदों को दिया।
  • 521 सांसदों ने एप से लगाई उपस्थिति।
  • सदन की कार्यवाही का संचालन सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के मुताबिक हुई।

नई दिल्ली

Updated: September 25, 2020 07:55:08 am

नई दिल्ली। कोरोना वायरस संक्रमण के डर से जहां लोग घर से बाहर निकलने से डर रहे हैं वहीं संसद के मानसून सत्र ने कई आयाम बनाए हैं। सांसदों ने कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा उठाते हुए सदन में ऐतिहासिक उपस्थिति दर्ज कराई। लोकसभा ( Lok Sabha ) में औसतन 370 सांसदों की उपस्थिति प्रतिदिन की रही।
Lok Sabha
लोकसभा ओम बिरला ने सदन के सफल संचालन का श्रेय सांसदों को दिया।
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदन के सफल संचालन और ऐतिहासिक उपस्थिति का श्रेय सांसदों के सामूहिक प्रयास को दिया है।

दरअसल, कोरोना महामारी के बीच लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सांसदों के संक्रमण से सुरक्षा के व्यापक इंतजाम करवाने के बाद मानसून सत्र शुरू करवाया था। सांसदों को बैठने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की गई। यही वजह रही कि लोकसभा में सांसद अच्छी खासी संख्या में सदन की कार्यवाही में भाग लेने पहुंचे।
कुल सांसदों के करीब 68.65 फीसदी सांसद हर दिन सदन में मौजूद रहे। सबसे अधिक 383 सांसद 22 सितंबर को सदन में मौजूद रहे। इतना ही नहीं तीन बैठकें देर रात तक चली, जिनमें सांसदों ने भाग लेकर विधायी कार्य किए और अपने संवैधानिक कर्तव्यों का निर्वहन किया।
Farooq Abdullah का भड़काऊ बयान- कश्मीर में आजादी की बात बेमानी, हर जगह एके-47 लिए सुरक्षाकर्मी

मोबाइल एप से 521 सांसदों ने दी उपस्थिति

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने के लिए इस बार सांसदों की उपस्थिति देने के लिए मोबाइल एप का उपयोग भी किया गया। इसको लेकर सांसदों ने जागरूकता दिखाई। सत्र के दौरान 521 सांसदों ने इस एप पर उपस्थिति दी।
देशहित को सर्वोपरि माना

लोकसभा के अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि अपने कर्तव्य पथ पर चलते हुए असाधारण परिस्थितियों में संसद ने देश को सकारात्मक संदेश दिया है। इस ऐतिहासिक सफलता का श्रेय सभी सांसदों के सामूहिक प्रयासों को जाता है, जिन्होंने स्वास्थ्य सुरक्षा प्रोटोकॉल की पालना करते हुए सदन की कार्यवाही में भाग लिया। सांसदों ने समय-सुविधा को नहीं बल्कि देशहित को सर्वोपरि मानते हुए सदन की कार्यवाही में भाग लिया। मानसून सत्र ने देशवासियों के मन में एक नया विश्वास पैदा किया है।
काला कानून पर Narendra Singh Tomar बोले - कांग्रेस में जो लोग अच्छे हैं उनकी पूछ खत्म हो गई

जब देश सो रहा था, तब संसद चल रही थी

लोकसभा की कार्यवाही के दौरान देवरिया से सांसद रामपति राम त्रिपाठी ने कहा कि एक समय था, जब आतंकियों की फांसी रुकवाने के लिए मध्य रात्रि को सुप्रीम कोर्ट खुलवाई गई थी। वहीं कोरोना महामारी के दौरान देश की संसद को मध्य रात्रि तक सुचारू रूप से चलाया गया। ताकि लोगों को बेहतर स्वास्थ सुविधाएं मिल सके। जब लगभग पूरा देश सो रहा हो, तब भी पूरी ऊर्जा के साथ सदन की कार्यवाही चलाई गई। इस तरह से सत्र चलाने का श्रेय लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को जाता है।
फैक्ट फाइल

— सत्र प्रारंभ 14 सितम्बर

- 68 प्रतिशत समय में विधायी कार्य।

- 32 प्रतिशत समय में गैर-विधायी कार्य।

- अनुदानों की अनुपूरक मांगों पर 4 घंटे 38 मिनट चर्चा।
- 2300 अतारांकित प्रश्नों के उत्तर सभा पटल पर रखे गए।

- शून्य काल में 370 लोक महत्व के मामले उठाए।

- नियम 377 के अधीन लोक महत्व के 181 मामले उठाए।
- मंत्रियों ने विभिन्न महत्वपूर्ण विषयों पर 40 वक्तव्य दिए।

- कोविद-19 वैश्विक महामारी पर 5 घंटे 8 मिनट की विशेष चर्चा।

- मंत्रियों ने 855 पत्र सभा पटल पर रखे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.