Twitter-twitter खेलने वालों को Surjewala की सलाह- social media पर बयानबाजी से दूर रहे नेता

  • Congress ने पार्टी के सीनयर नेताओं को social media पर बयानबाजी करने से दूर रहने की सलाह दी
  • Randeep Surjewala ने मैं ट्विटर-ट्विटर खेल रहे मित्रों को सोशल मीडिया पर बयानबाजी रोकने की सलाह दूंगा

By: Mohit sharma

Updated: 02 Aug 2020, 10:03 PM IST

नई दिल्ली। कांग्रेस ( Congress ) ने पार्टी के सीनयर नेताओं को सोशल मीडिया ( Social Media ) पर बयानबाजी करने से दूर रहने और उपयुक्त पार्टी मंचों पर अपने विचार पेश करने की सलाह दी है। कांग्रेस का यह स्टैंड पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ( Congress Leader Rahul Gandhi ) के नजदीकि राज्यसभा सदस्यों द्वारा 10 साल के संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन ( UPA ) शासन के दौरान कांग्रेस के प्रदर्शन के बारे में आत्मनिरीक्षण की बात कहने की बहस के बीच आया है। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ( Congress spokesperson Randeep Surjewala ) ने रविवार को कहा कि "मैं ट्विटर-ट्विटर खेल रहे मित्रों को सोशल मीडिया पर बयानबाजी रोकने की सलाह दूंगा"। सुरजेवाला ने आगे कहा कि हमारे पास आंतरिक लोकतंत्र ( Internal democracy ) है। इसलिए नेतागण अपने विचारों को पार्टी के उचित मंचों पर पेश करें।

Tamil Nadu Governor Banwarilal Purohit कोरोना से संक्रमित, Swatantra Dev Singh भी पॉजिटिव

कांग्रेस प्रवक्ता रविवार को एक मीडिया कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख सुरजेवाला ने इस दौरान पार्टी के नेताओं को ट्विटर पर अपना उचित स्टैंड रखने को कहा। सुरजेवाला ने आगे कहा कि संकट की इस घड़ी में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को सोनिया गांधी, राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के साथ कंधा से कंधा मिलाकर खड़ा होना चाहिए। इस दौरान सुरजेवाला ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को उनकी जिम्मेदारी भी याद दिलाई। उन्होंने कहा युवाओं का मार्गदर्शन करना भी सीनियर नेताओं की ही जिम्मेदारी है।

India-China Dispute: लद्दाख में तनाव पर बोले S Jaishankar, China से मुकाबले के लिए भारत को तैयार रहना होगा

आईएएनएस की एक रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष्ज्ञ सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई एक बैठक के बाद पार्टी के भीतर तीखी बयानबाजी का दौर चल निकला है। दरअसलख् राहुल गांधी के बेहद करीबी माने जाने वाले राज्यसभा के नवनिर्वाचित सदस्य राजीव सातव ने यूपीए के 10 साल के शासन में आत्मनिरीक्षण की बात कही थी, जिसके लिए उनको कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के पलटवारों को सहना पड़ा।

Congress
Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned