लोकसभा में प्रोटेम स्पीकर बने वरिष्ठ सांसद संतोष गंगवार, अब नवनिर्वाचित सांसदों को दिलाएंगे शपथ

लोकसभा में प्रोटेम स्पीकर बने वरिष्ठ सांसद संतोष गंगवार, अब नवनिर्वाचित सांसदों को दिलाएंगे शपथ

Mohit sharma | Publish: May, 30 2019 09:59:58 AM (IST) | Updated: May, 30 2019 04:06:21 PM (IST) राजनीति

  • सांसद संतोष गंगवार को लोकसभा 2019 का प्रोटेम स्पीकर बनाया गया है।
  • संतोष गंगवार उत्तर प्रदेश की बरेली सीट से लोकसभा चुनाव जीते हैं।
  • अब संतोष लोकसभा में नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलाएंगे।

नई दिल्ली। भाजपा के वरिष्ठ सांसद संतोष गंगवार को लोकसभा चुनाव 2019 का प्रोटेम स्पीकर बनाया गया है। संतोष गंगवार उत्तर प्रदेश की बरेली सीट से लोकसभा चुनाव जीते हैं। संतोष लगातार आठ बार से लगातार सांसद बनते आ रहे हैं। माना जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी ने इससे खुश होकर पुरस्कार के रूप में उनको यह बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। अब संतोष लोकसभा में नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलाएंगे। आपको बता दें कि संतोष वर्तमान भाजपा सरकार में वित्त राज्य मंत्री हैं।

फिल्मी सितारों से जगमगाएगा मोदी का शपथ ग्रहण समारोह, ये अभिनेता हो सकते हैं शामिल

 

संतोष गंगवार को भाजपा का दिग्गज नेता माना जाता है। वह अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में पेट्रोलियम राज्यमंत्री की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं। एक नवंबर 1948 को उत्तर प्रदेश के बरेली में जन्मे संतोष गंगवार की प्रारंभिक शिक्षा ग्रह जनपद और उच्च शिक्षा आगरा युनिवर्सिटी से हुई। संतोष ने बीएससी और एलएलबी डिग्री होल्डर हैं। संतोष पढ़ाई के दौरान ही छात्र राजनीति से जुड़ गए थे। देश में आपातकाल के समय विरोधी आंदोलन से जुड़े और कई बार जेल गए। 1996 में उनको भाजपा ने उत्तर प्रदेश में महासचिव बनाया।

फिर बिगड़ी लालू यादव की तबीयत, लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद खाना-पीना छोड़ा

इसके बाद जब 13वीं लोकसभा में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार बनी तो उनको पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री की जिम्मेदारी दी गई। इसके साथ ही संतोष विज्ञान एवं तकनीकि जैसे विभागों में भी राज्यमंत्री जैसे पद पर भी रहे। राजनीतिक जीवन की बात करें तो गंगवार ने 1981 में भाजपा के टिकट पर पहली बार बरेली से चुनाव लड़ा, लेकिन सफल न हो सके। यही नहीं 1984 के लोकसभा चुनाव में भी उनको हार का सामना करना पड़ा। लेकिन 1989 के चुनाव में उनको बरेली सीट से जीत हासिल हुई और संतोष पहली बार सांसद चुने गए। इसके बाद से 2009 में उनको कांग्रेस के प्रवीण सिंह ऐरन से शिकस्त झेलनी पड़ी। विकास पुरुष के नाम से मशहूर संतोष गंगवार 1996 में बरेली में वह शहरी कोऑपरेटिव बैंक के चेयरपर्सन नियुक्त किए गए।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned