सावरकर के पोते रणजीत ने राहुल गांधी के खिलाफ कराई शिकायत दर्ज, मुंबई पुलिस से कार्रवाई की मांग

सावरकर को भारतीय जनता पार्टी में एक विशेष जगह है और पार्टी उन्हें एक महान देशभक्त शख्सियत के रूप में देखती है।

By: Dhirendra

Published: 15 Nov 2018, 09:48 AM IST

नई दिल्ली। स्‍वतंत्रता सेनानी और देशभक्‍त वीर सावरकर के पोते रणजीत सावरकर ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ कथित तौर पर अपने दादा के बारे में झूठी बयान देने के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। मुंबई के शिवाजी पार्क पुलिस स्टेशन में दायर अपनी शिकायत में रणजीत ने मुंबई पुलिस से राहुल गांधी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बता दें कि राहुल गांधी इससे पहले भी सावरकर को लेकर इस तरह का बयान दे चुके हैं। जबकि सावरकर को भारतीय जनता पार्टी में एक विशेष जगह और पार्टी उन्हें एक महान देशभक्त शख्सियत के रूप में देखती है।

मंदिर मुद्दे पर दिग्विजय सिंह का मोदी पर हमला, राम को विवादों में घसीटना सरकार की बड़ी मंशा

राहुल का बयान झूठ का पुलिंदा
रणजीत सावरकर ने मुंबई पुलिस से की शिकायत में कहा है कि राहुल के बयान में दावा किया गया है कि विनायक दामोदर सावरकर ने अंग्रेजों से माफी मांगी और जेल से रिहा होने के लिए उन्होंने ब्रिटिश हुकुमत को लेटर भी लिखा था। कांग्रेस अध्‍यक्ष का यह बयान पूरी तरह से गलत और झूठ का पुलिंदा है। वह राजनीतिक लाभ की वजह से सावरकर की छवि खराब करने में ले हैं।

सिग्‍नेचर ब्रिज: मनोज तिवारी ने FIR में सीएम केजरीवाल का नाम दर्ज कराया, अमानतुल्‍लाह मुख्‍य आरोपी

सावरकर ने मांगी थी माफी
इससे पहले राहुल गांधी ने 20 अक्टूबर को हैदराबाद में राजीव गांधी सद्भावना यात्रा के दौरान अपने संबोधन में कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी ने संसद में वीर सावरकर का फोटो रखी है। जब अंग्रेजों ने इस देश पर शासन किया, जब सभी कांग्रेस नेता जेल में थे। तब वीर सावरकर ने अंग्रेजों को एक पत्र लिखा था। इस पत्र का हवाला देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया था कि सावरकर ने लिखा था कि वह अंग्रेजों के लिए कुछ भी करेंगे। राहुल गांधी ने दावा किया था कि सावरकर ने ब्रिटिश हुकूमत को अपने लेटर में लिखा था कि मैं किसी भी राजनीतिक गतिविधियों में शामिल नहीं हूं। मुझे जेल से मुक्त कर दो। राहुल ने दावा किया था कि वीर सावरकर ने कथित तौर पर जब लेटर लिखा था तब महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, बीआर अम्बेडकर और सरदार पटेल भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़ रहे थे।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned