शशि थरूर ने हल की राहुल गांधी की मुश्किल, बोले- मैं लोकसभा में नेता कांग्रेस बनने को तैयार

शशि थरूर ने हल की राहुल गांधी की मुश्किल, बोले- मैं लोकसभा में नेता कांग्रेस बनने को तैयार

Chandra Prakash Chourasia | Updated: 27 May 2019, 10:24:23 PM (IST) राजनीति

  • दिग्गजों की करारी शिकस्त का कांग्रेस पर दिखने लगा असर
  • पार्टी के लिए लोकसभा में नेता कांग्रेस तय करना हुआ मुश्किल
  • राहुल गांधी और सोनिया गांधी के पास अब सदन में दिखेंगे नए चेहरे

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी शिकस्त के बाद हर ओर से इस्तीफा देने झड़ी लगी हुई है। अबतक सात प्रदेश अध्यक्षों ने इस्तीफा दे दिया है। खुद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) ने भी इस्तीफे की पेशकश की थी। इन्हीं सब के बीच कांग्रेस के आगे एक और बड़ी समस्या थी कि लोकसभा में बतौर पार्टी नेता किसे नियुक्त किया जाए। कांग्रेस की मुश्किल का हल शशि थरूर ( Shashi Tharoor ) ने निकाल दिया है। उन्होंने कहा कि अगर पार्टी उन्हें लोकसभा में कांग्रेस पार्टी का नेता पद की पेशकश करती है तो वह इस दायित्व को निभाने के लिए तैयार हैं।

एयर मार्शल रघुनाथ नांबियार बोले- हां, घने बादलों में विमानों को नहीं खोज पाते हैं कई रडार

मैं तैयार हूं: शशि थरूर

तिरुवनंतपुरम ( Thiruvananthapuram ) से लगातार तीसरी बार शशि थरूर सांसद चुनकर दिल्ली आ रहे हैं। सोमवार को उन्होंने एक स्थानीय चैनल से बात करते हुए कहा कि अगर पेशकश की गई, तो मैं कांग्रेस का लोकसभा नेता बनने के लिए तैयार हूं।

रामदेव बोले- अकेले 300 सीटें जीतना कमाल, 23 मई को मनाया जाए मोदी दिवस

सदन में कौन करेगा पलटवार?

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं की हार हुई है। जिसकी वजह से पार्टी के सामने सदन में नेता के चयन का संकट खड़ा हो गया है। इसबार सदन में सोनिया गांधी और राहुल गांधी के आसपास दिखने वाले चेहरे नहीं होंगे। क्योंकि मल्लिकार्जुन खड़गे , वीरप्पा मोइली, के एच मुनियप्पा, के वी थॉमस, के सी वेणुगोपाल और ज्योतिरादित्य सिंधिया , सुष्मिता देव और रंजीत रंजन इस बार लोकसभा नहीं पहुंच पाए हैं। हालांकि कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी और पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी इस बार भी सदन में होंगे, लेकिन इनमें से कोई सदन के नेता का पद संभालेगा ये कहना अभी मुश्किल है। ऐसे में अटकलें लगाई जा रही हैं कि शशि थरूर, अधीर रंजन चौधरी और मनीष तिवारी मे से किसी को भी नेता पद दिया जा सकता है।

'राहुल गांधी का अध्यक्ष बने रहना चाहिए'

शशि थरूर ने स्वीकार किया कि कांग्रेस की मुख्य चुनावी थीम 'न्याय' को मतदाताओं के समक्ष ठीक से नहीं रखा गया। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की 'नरम हिंदुत्व' की नीति की भी ओलाचना की। हालांकि थरूर ने जोर देकर कहा कि राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बने रहना चाहिए।

खेलो पत्रिका Flash Bag NaMo9 Contest और जीतें आकर्षक इनाम, कॉन्टेस्ट मे शामिल होने के लिए http://flashbag.patrika.com पर विजिट करें।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned