अब इस राज्य में बीजेपी के खिलाफ तैयारी कर रही TMC, अभिषेक बनर्जी के दौरे से पहले दिखा पोस्टर वार

पश्चिम बंगाल में जीत के बाद टीएमसी नेताओं के हौसले बुलंद, अब बंगाली भाषियों के जरिए बीजेपी को हराने के लिए झोंक रहे पूरी ताकत

By: धीरज शर्मा

Published: 02 Aug 2021, 12:55 PM IST

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल ( West Bengal ) में बीजेपी ( BJP ) से मिली शानदार जीत से लबरेज तृणमूल कांग्रेस ( TMC ) अब अपने पैर पसारने में जुटी है। बंगाल के बाद ममता बनर्जी ( Mamata Banerjee ) पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा ( Tripura ) में भी बीजेपी को झटका देने की तैयारी कर रही है। यही वजह है कि त्रिपुरा में बंगाली भाषियों का वोट बंटोरने के लिए ममता ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। पार्टी के बड़े नेता त्रिपुरा का दौरा कर रहे हैं।

लेकिन टीएमसी के बढ़ते कदमों से बीजेपी खेमे में भी हड़कंप मचा हुआ है। टीएमसी के दिग्गज नेता और ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी के त्रिपुरा दौरे से पहले ही पोस्टर वॉर देखने को मिला। सड़कों पर लगे अभिषेक बनर्जी के पोस्टर फाड़ दिए गए है। अभिषेक के फटे पोस्टर इस बात का संकेत दे रहे हैं कि त्रिपुरा में इस बार बीजेपी की राह आसान नहीं होगी।

यह भी पढ़ेंः बीजेपी के लिए कांग्रेस बना रही खास रणनीति, राहुल के इस बयान के बाद तेज हुईं अटकलें

15.jpg

त्रिपुरा (Tripura) में संपर्क अभियान के तहत तृणमूल कांग्रेस (TMC) के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) सोमवार को राज्‍य का दौरा करेंगे। उनके इस दौरे को देखते हुए टीएमसी ने त्रिपुरा की सड़कों पर अभिषेक बनर्जी और ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के नाम के कई पोस्‍टर लगाए।

वहीं त्रिपुरा में टीएमसी के नेता आशीष लाल सिंह का कहना है कि एयरपोर्ट से लेकर गोरखा बस्‍ती तक के रास्‍ते में कई पोस्‍टर रविवार रात को क्षतिग्रस्‍त हुए हैं। टीएमसी का आरोप है कि ये बीजेपी कार्यकर्ताओं ने किया है। इसे लेकर पार्टी अपना विरोध दर्ज कराएगी।

अभिषेक बनर्जी का दौरा ऐसे समय हो रहा है जब अगरतला के एक होटल के कमरे में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की आई-पैक टीम को कोविड-19 पाबंदियों का हवाला देते हुए पुलिस की ओर से नजरबंद करने से विवाद ने तूल पकड़ लिया।

सोमवार को सुबह टीएमसी के दो अन्‍य नेता ब्रात्‍यो बसु और मलॉय घटक भी त्रिपुरा दौरे पर जाएंगे। उनके साथ ऋतुब्रत भट्टाचार्य भी होंगे।

त्रिपुरा दौरे की शुरुआत अभिषेक बनर्जी प्रसिद्ध मठबाड़ी मंदिर में पूजा-अर्चना से ही करेंगे। इसके बाद वह पार्टी की एक मीटिंग में हिस्‍सा लेंगे।

इस दौरान वह स्‍थानीय नेताओं से मिलेंगे और बूथ स्‍तर की रिपोर्ट लेंगे। माना जा रहा है कि अभिषेक बनर्जी के दौर के बीच त्रिपुरा में टीएमसी ( TMC ) की नई संगठनात्‍मक स्‍थापना हो सकती है।

ऐसा होता है तो ये भी बीजेपी खेमे के लिए चिंता का कारण बन सकता है। चुनाव से पहले टीएमसी का बढ़ता दखल और अभिषेक बनर्जी के दौरा बीजेपी को कड़ा संदेश होगा।

टीएमसी से डर रही बीजेपी
अभिषेक बनर्जी के दौरे से पहले उनके पोस्टर को फाड़े जाने के बाद टीएमसी नेताओं ने बीजेपी पर तंज कसा है। टीएमसी नेताओं का कहना है कि त्रिपुरा में उनके पार्टी पोस्टर को फाड़े जाने से साबित होता है कि बीजेपी टीएमसी से डर गई है। अभिषेक बनर्जी के दौरे को लेकर बीजेपी खेमे में बैचेनी है।

ये है बीजेपी का कहना
उधर बीजेपी के प्रवक्‍ता नाबेंदु भट्टाचार्य का कहना है कि पार्टी TMC को राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के तौर पर नहीं देखती। अगर वे चाहें तो पोस्टर फाड़े जाने की घटना को लेकर एफआईआर दर्ज करा सकते हैं।

टीएमसी नेता सुखेंदु शेखर रॉय के मुताबिक ‘अभिषेक त्रिपुरा में पार्टी की यात्रा का नेतृत्व करेंगे, जहां बंगाली और अन्य समुदाय हमारा, हमारी नेता ममता बनर्जी का समर्थन कर रहे हैं। वे बिप्लब देब नीत बीजेपी सरकार से त्रस्त हैं।’

16.jpg

ममता के दौर से पहले तूफान की चेतावनी
बंगाल में पार्टी की जीत से टीएमसी नेताओं के हौसले कितने बुलंद है। इसका अंदाजा पार्टी के वरिष्ठ नेता और लोकसभा सदस्य सौगत रॉय के बयान से लगाया जा सकता है। रॉय की माने तो अभिषेक का त्रिपुरा दौरा ममता के दौरे से पहले तूफान की चेतावनी है। पार्टी का मानना है कि अभिषेक के दौरे से पहले ही बीजेपी का ये हाल तो ममता के आने पर तो हालत और खराब होगी।

BJP
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned