मोदी का विपक्ष पर हमला, क्‍या वायनाड और रायबरेली में हिन्‍दुस्‍तान हार गया?

मोदी का विपक्ष पर हमला, क्‍या वायनाड और रायबरेली में हिन्‍दुस्‍तान हार गया?

Dhirendra Kumar Mishra | Updated: 26 Jun 2019, 04:03:30 PM (IST) राजनीति

  • Pm Modi का नारा- जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान और जय अनुसंधान
  • Emergency नहीं है कि किसी को जेल में डाल दिया जाए
  • जेल में डालना Judiciary का काम

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) ने बुधवार को राज्‍यसभा में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ( President Ramnath Kovind ) के अभिभाषण पर हुुुुई चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि यह 2019 का चुनाव दलों से परे जनता ने लड़ा था। यह चुनाव अपने आप में बहुत खास था। लोगों ने बढ़ चढ़कर मतदान किया। देश की जनता ने देश में स्थिर सरकार पर बल दिया है। इस दौरान पीएम मोदी ने विपक्ष पर कई हमले किए।

 

कांग्रेस पर बरसे पीएम मोदी

उन्‍होंने विपक्षी दलों के नेताओं पर प्रहार करते हुए कहा कि अहंकार की भी कोई सीमा होती है। विरोधी नेताओं की ओर से तरह-तरह के बयान दिए जा रहे हैं। उन्‍होंने विपक्षी दलों के नेताओं व सदन से पूछा कि क्‍या वायनाड या रायबरेली में हिन्‍दुस्‍तान हार गया, क्‍या ये केरल और तमिलनाडु पर भी लागू होता है? क्या कांग्रेस हार गई तो पूरा देश हार गया क्या। ईवीएम पर आरोप हार का बहाना है। लोकतंत्र हार गया कहना जनतंत्र का अपमान है।

 

विरोधी दलों के नेताओं की ओर से यहां तक कहा जा रहा है कि मीडिया ने मोदी या भाजपा को चुनाव जीता दिया। क्‍या मीडिया बिकाऊ है? अब तो ईवीएम को लेकर नई बीमारी शुरू हो गई है। किसान को बिकाऊ बताकर अपमान किया गया।

पीएम मोदी ने कहा कि इस चुनाव में महिलाओं ने कमाल कर दिया। 78 महिलाएं इस बार लोकसभा में चुनकर आई हैं। बता दें कि मंगलवार को पीएम ने लोकसभा में अभिभाषण पर धन्‍यवाद भाषण दिया था। अपने भाषण में उन्‍होंने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला था। उन्‍होंने राहुल गांधी को भी निशाने पर लिया। इसके अलावा पीएम ने मंगलवार को लोकसभा में नया नारा जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान और जय अनुसंधान दिया।

अधीर रंजन को पीएम का सख्‍त जवाब

पीएम मोदी ने मंगलवार को लोकसभा में राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर धन्‍यवाद भाषण देते हुए कांग्रेस पर हमला बोला था। उन्‍होंने लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन ( Congress Leader Adhir Ranjan ) के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि हमें इसलिए कोसा जा रहा है कि हमने फलाने को जेल में क्यों नहीं डाला।

हम बदले की भावना से काम नहीं करते

उन्होंने कहा कि 'मैं, कोसने वालों को ये बताना चाहता हूं कि ये इमरजेंसी नहीं है कि किसी को भी जेल में डाल दिया जाए। ये लोकतंत्र है। ये काम न्यायपालिका ( Judiciary ) का है। हम कानून से चलने वाले लोग हैं। किसी को जमानत मिलती है तो वो इंजॉय करें। हम बदले की भावना से काम नहीं करेंगे'।

BJP नेता ने नीतीश कुमार की नीयत पर जताया शक, JDU ने की कार्रवाई की मांग

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned