West Bengal Assembly Elections 2021: स्वपन दासगुप्ता ने राज्यसभा की सदस्यता से दिया इस्तीफा

  • West Bengal Assembly Election 2021 को लेकर सियासी हलचल तेज
  • स्वपन दासगुप्ता ने राज्यसभा की सदस्यता से दिया इस्तीफा

By: Mohit sharma

Updated: 16 Mar 2021, 05:03 PM IST

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 ( Bengal Vidhaan Sabha Chunaav 2021 ) के मतदान की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है, वैसे-वैसे राज्य का सियासी माहौल गरमाता जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी जहां इस बार 200 से ज्यादा सीट लाने का दावा ठोक रही है, तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ( Mamata Banerjee ) भी अपना गढ़ बचाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं। इस बीच पश्चिम बंगाल में तारकेश्वर विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार बनाए गए स्वपन दासगुप्ता ( Swapan Dasgupta ) ने मंगलवार को राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021: बीजेपी-कांग्रेस के खिलाफ ममता का नया नारा

'भाजपा उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल करूंगा'

तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस पार्टी ने उन पर राज्यसभा के मनोनीत सदस्य होने के नाते विधानसभा चुनाव लड़ने पर सवाल उठाए थे। पत्रकार से नेता बने दासगुप्ता ने अपना इस्तीफा इस अनुरोध के साथ भेजा है कि इसे बुधवार तक स्वीकार कर लिया जाय। राज्यसभा सदस्य के रूप में उनका कार्यकाल अप्रैल 2021 में समाप्त होना था। अपने इस्तीफे के बारे में दासगुप्ता ने एक ट्वीट किया कि बेहतर बंगाल की लड़ाई के लिए मैंने आज राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया है। मैं अगले कुछ दिनों में तारकेश्वर विधानसभा सीट के लिए भाजपा उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल करूंगा। रविवार को भाजपा ने तारकेश्वर विधानसभा सीट से दासगुप्ता की उम्मीदवारी की घोषणा की थी। आपको बता दें कि तृणमूल कांग्रेस की सदस्य महुआ मोइत्रा द्वारा स्वपन दासगुप्ता के उच्च सदन का सदस्य होने के बावजूद पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में उतरने का मुद्दा उठाए जाने के बाद कांग्रेस ने भी इसे मुद्दा बनाया था।

शरद पवार की भविष्यवाणी- केवल इस राज्य में ही जीत पाएगी BJP, 4 राज्यों में हार निश्चित

देश का सियासी पारा सातवे आसमान पर पहुंचा

आपको बता दें कि देश के पांच राज्यों पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, पुडुचेरी और केरल में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। जिसको लेकर देश का सियासी पारा सातवे आसमान पर पहुंचा हुआ है। हालांकि सबसे कड़ा मुकाबला पश्चिम बंगाल में माना जा रहा है। यहां एक और भाजपा और तृणमूल कांग्रेस आमने-सामने डटी हैं, वहीं कांग्रेस वामदलों के साथ मिलकर अपनी सियासी जमीन तलाश रही है। 294 सीटों पर आठ चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव के परिणाम दो मई को घोषित किए जाएंगे।

 

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 West Bengal Vidhaan Sabha Chunaav 2021
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned