West Bengal: बीजेपी को फिर लगेगा बड़ा झटका, सव्यसाची और राजीव बनर्जी के TMC में शामिल होने की अटकलें तेज

West Bengal पश्चिम बंगाल में बंपर जनमत के साथ सत्ता में आई टीएमसी ने लगातार बीजेपी की मुश्किलें बढ़ा रखी है। चुनाव के बाद से ही बीजेपी नेताओं का पार्टी छोड़ने का सिलसिला नहीं थम रहा है, अब बीजेपी के दो बड़े नेताओं सब्यसाची दत्ता और राजीव बनर्जी से जल्द टीएमसी में शामिल होने की चर्चा है

By: धीरज शर्मा

Published: 06 Oct 2021, 02:46 PM IST

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल ( West Bengal ) में भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पार्टी के नेता लगातार साथ छोड़कर टीएमसी ( TMC ) का दामन थाम रहे हैं। विधानसभा चुनाव के बाद से ये सिलसिला जारी है। हालांकि इसको लेकर बीजेपी कोर्ट में लड़ाई लड़ रही है, लेकिन नेताओं के जाने के क्रम को नहीं तोड़ पा रही है।

अब पार्टी को दो अन्य नेताओं के टीएमसी में वापसी करने की अटकलें तेज हो गई हैं। सव्यसाची दत्ता और पूर्व मंत्री राजीव बनर्जी के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने की चर्चाएं चल रही हैं। माना जा रहा है कि कल ममता बनर्जी के विधायक के तौर पर शपथ लेने के बाद इन दोनों नेताओं को भी टीएमसी में शामिल किया जा सकता है।

यह भी पढ़ेँः ममता बनर्जी ने त्रिपुरा में भी BJP खेमे में मारी सेंध! जल्द TMC में शामिल होंगे विधायक आशीष

पश्चिम बंगाल में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापसी करने वाली तृणमूल कांग्रेस (TMC) लगातार बीजेपी (BJP) को झटका दे रही है। कई विधायक और कुछ सांसदों ने हाल ही में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की पार्टी का दामन थाम लिया था।

अब खबर आ रही है कि विधाननगर के पूर्व मेयर सब्यसाची दत्ता (Sabyasachi Dutta) और पूर्व मंत्री राजीव बनर्जी (Rajib Banerjee) भी बीजेपी का दामन छोड़ सकते हैं।

टीएमसी के पूर्व विधायकों की अपनी पुरानी पार्टी में ‘घर वापसी’ को लेकर अटकलें तेज हैं।

राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि, सब्यसाची दत्ता, जो पश्चिम बंगाल बीजेपी में राज्य सचिव हैं, पहले ही शीर्ष टीएमसी नेतृत्व से बात कर चुके हैं।

अगर योजना के मुताबिक चीजें चलती हैं, तो वह जल्द ही तृणमूल कांग्रेस में वापस आ सकते हैं।
उसी तरह से राजीव बनर्जी भी बीजेपी से नाराज चल रहे हैं और उन्होंने पहले ही बीजेपी से किनारा करना शुरू कर दिया है।

राजीवन भवानीपुर में ममता बनर्जी को रिकॉर्ड जीत पर बधाई भी दी थी। दरअसल सब्यसाची दत्ता ने 2019 में दुर्गा पूजा से ठीक पहले बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की थी। विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने टीएमसी छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया था।

यह भी पढ़ेँः West Bengal: ममता की जीत के बाद अब राज्यपाल जगदीप धनखड़ का ट्विस्ट, शपथ के लिए इंतजार करने को कहा

एक बार फिर कयास लगाए जा रहे हैं कि वह अगले हफ्ता दुर्गा पूजा से ठीक पहले टीएमसी में वापसी कर सकते हैं।

हालांकि, टीएमसी में वापसी के बाद दत्ता की राह आसन नहीं होने वाली है। उन्हें अपने कट्टर प्रतिद्वंद्वी विधाननगर विधायक और राज्य मंत्री सुजित बोस और राजारहाट न्यूटाउन के विधायक तापस चटर्जी के विरोध का सामना करना पड़ सकता है।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned