आखिर मुहब्बत की जंग जीत ही गयी अंजलि, पति से मिलकर बोली- बस पिता भी आशीर्वाद देकर अपना लें

वह अभी भी असुरक्षित महसूस कर रही है उन्हें सुरक्षा की जरुरत है। वह अपने माता-पिता को मनाने की कोशिश करेगी, जिससे वे आशीर्वाद देकर उन्हें स्वीकार लें। उन्होंने अपने परिवार वालों से अपील की कि जो हुआ उसे भूल कर वह उसे अपना लें।

By: Karunakant Chaubey

Published: 20 Nov 2019, 05:41 PM IST

रायपुर. उच्च न्यायालय के फैसले के बाद बुद्धवार को अंजलि जैन को सखी सेंटर से रिहा कर दिया गया। धमतरी की रहने वाली अंजलि को उनके पति इब्राहिम सिद्धकी उर्फ आर्यन आर्य लेने आये। हालांकि इस दौरान उसके मायके पक्ष से कोई भी व्यक्ति मौजूद नहीं था। पति से मिलकर अंजलि अपने आंसू नहीं संभाल पाई।

मौत बनी पहेली, युवक को बिल्डिंग से छलांग लगाता देख पड़ोस की युवती भी कूदी लेकिन सिर्फ एक की गयी जान

उन्होंने कहा कि वह अपनी मर्जी से पति के साथ जा रही हैं। वह अभी भी असुरक्षित महसूस कर रही है उन्हें सुरक्षा की जरुरत है। वह अपने माता-पिता को मनाने की कोशिश करेगी, जिससे वे आशीर्वाद देकर उन्हें स्वीकार लें। उन्होंने अपने परिवार वालों से अपील की कि जो हुआ उसे भूल कर वह उसे अपना लें।

वो हमे जान से मार देगा आप प्लीज हमें बचा लीजिये, पुलिस वालों ने कहा- पहले थाने आकर रिपोर्ट लिखाओ

धमतरी के रहने वाले मोहम्मद इब्राहिम सिद्दीकी और अंजलि जैन ने दो साल की जान-पहचान के बाद 25 फरवरी 2018 को रायपुर के आर्य मंदिर में शादी की थी। इब्राहिम का दावा है कि उसने शादी से पहले हिंदू धर्म अपना लिया था। इसके बाद उन्होंने अपना नाम आर्यन आर्य रखा था।

ये भी पढ़ें: 9th की नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप, वैन चालक ने घूमने का लालच दे साथियों संग किया दुष्कर्म

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned