इन 40 लाख परिवारों को मिलेगी 5 लाख रुपए तक की ये सुविधा, रात 12 बजे से बल्ले-बल्ले

इन 40 लाख परिवारों को मिलेगी 5 लाख रुपए तक की ये सुविधा, रात 12 बजे से बल्ले-बल्ले

Chandu Nirmalkar | Publish: Sep, 16 2018 08:54:54 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 08:54:55 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

इन 40 लाख परिवारों को मिलेगी 5 लाख रुपए तक की ये सुविधा, रात 12 बजे से बल्ले-बल्ले

रायपुर. आज रात यानी रविवार की रात 12 बजे से प्रदेशभर के 40 लाख परिवारों के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की सुविधा प्रारंभ कर दी गई है। यह सेवा के लिए प्रदेश के हजार से अधिक अस्पतालों को चिंहित किया गया है, जिसमें 325 निजी और 608 शासकीय अस्पताल शामिल हैं, साथ ही अस्पतलों की आवेदन प्रक्रिया अब भी जारी है।

पंजीकृत अस्पतालों की सूची के लिए जिला स्वास्थ्य अधिकारी से संपर्क किया जा सकता है। इस योजना के अंतर्गत सामाजिक आर्थिक जनगणना के पात्र तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना में पंजीकृत हितग्राहियों को यह सुविधा प्रदान की जाएगी।

 

Chhattisgarh govt Hospital

मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना अंतर्गत पंजीकृत हितग्राहियों को पूर्व की भांति ही 50 हजार रुपए तक का स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होता रहेगा। योजनांतर्गत चिंहित ऐसे पात्र परिवार जिनके कार्ड नहीं बन पाए हैं, वे शासन के द्वारा जारी कोई भी फोटो पहचान पत्र के आधार पर योजनांतर्गत ईलाज प्राप्त कर सकते हैं। इस स्थिति में योजना में पात्र प्रत्येक हितग्राही को प्रथम बार चिकित्सालय में भर्ती होने के समय प्रमाणीकरण पत्र प्राप्त होगा। अस्पतालों में तकनीकी दिक्कतों के निराकरण के लिए सोमवार को दिल्ली की टीम चिकित्सालयों का निरीक्षण करेगी।

15 दिनों तक अनंतिम पंजीयन
पूर्व में आरएसबीवाय व एमएसबीवाय के अंतर्गत पंजीकृत अस्पताल जिन्होंने 31 अगस्त से पूर्व आवेदन किया है और किन्हीं कारणवश जिला समिति की तरफ से निरीक्षण नहीं होने पर 15 दिवस के लिए अनंतिम पंजीयन दिया जा रहा है। साथ ही जिन चिकित्सालयों का पंजीयन कमियों के कारण निरस्त कर दिया गया है, वह चिकित्सालय कमियां दूर कर पुन: आवेदन कर सकते हैं। वहीं, जिला समिति से असहमत चिकित्सालय राज्य नोडल एजेंसी को अपील कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त योजना में शामिल होने के लिए आवेदन प्रक्रिया अब भी जारी है।

12 बजे शुरू हुआ पायलट प्रोजेक्ट
16 सितंबर रात 12 बजे राजधानी के एक निजी अस्पताल से पायलट प्रोजेक्ट के तहत देश का पहला ऑनलाइन सर्वर शुरू किया गया। इस अवसर पर स्वास्थ्य आयुक्त आर. प्रसन्ना, एडिशनल सीइओ विजेंद्र कटरे सहित अन्य अधिकारी शामिल रहे। आयुक्त प्रसन्ना ने बताया, कि योजना के पहले दिन 150 से अधिक प्रकरण अस्पतालों में देखने को मिले, जिन्हें यह सुविधा मिलना शुरू हो गया है। किसी प्रकार की परेशानी होने पर सभी अस्पतालों में तैनात आयुष्मान मित्र या फिर आरोग्य सेवा 104 डायल कर जानकारी ले सकते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned