scriptChhattisgarh CM Bhupesh Baghel said In Congress everyone is 'Azad' | छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल बोले- कांग्रेस में तो सब 'आजाद' ही होते हैं... | Patrika News

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल बोले- कांग्रेस में तो सब 'आजाद' ही होते हैं...

locationरायपुरPublished: Aug 27, 2022 02:11:04 am

Submitted by:

Anupam Rajvaidya

  • गुलाम नबी आजाद कर रहे थे कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने की कोशिश : बघेल

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल बोले- कांग्रेस में तो सब 'आजाद' ही होते हैं...
रायपुर. वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के कांग्रेस छोडऩे पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट किया कि- कांग्रेस में तो सब 'आजाद' ही होते हैं। अपने विचारों से, अपने तरीकों, अपने सुझावों से। सभी 'आजाद' होते हुए, हर महत्वपूर्ण बैठक और हर महत्वपूर्ण निर्णय का हिस्सा होते हैं। पार्टी अगर संघर्ष के दौर से गुजरे तो सड़क पर झंडा और पर्चे लेकर निकलने से कौन रोकता है? बाकी जो है सो है...
1)
यह भी पढ़ें

कांग्रेस को पहुंचा रहे थे नुकसान, देखें वीडियो


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि गुलाम नबी आजाद कांग्रेस में रहकर कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे थे। कांग्रेस पार्टी ने उनको वह सारी ज़िम्मेदारियां दी जो दी जा सकती थीं, लेकिन फिर भी वे खामियां निकालते रहे। उनके जाने से पार्टी को कुछ नुकसान नहीं होगा। वहीं, छत्तीसगढ़ कांग्रेस के संचार प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि गुलाम नबी आजाद को पार्टी ने बहुत कुछ दिया, लेकिन जब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कुशासन के खिलाफ सबसे बड़ी लड़ाई छेडऩे का समय आया, तो वो भाग गए।
2)
यह भी पढ़ें

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार की राहुल गांधी ने की तारीफ


गुलाम नबी आजाद को लेकर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने तीखा ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा- वरिष्ठ कांग्रेस सिपाही, सुख-दुख में गांधी परिवार के सबसे करीबी गुलाम नबी का कांग्रेस छोडऩा एक बड़े तूफान के पहले की आंधी है। 150 साल पुरानी पार्टी में आज गिनती के 15 नेता भी नहीं बचे हैं। अजीत जोगी ने भी सोनिया गांधी को आगाह किया था कि एक दिन ऐसा आएगा जब बिना जनाधार के मंदबुद्धि चाटुकार पार्टी और लाखों कांग्रेसियों के भविष्य को बर्बाद कर देंगे। आज वही बात चरितार्थ होती दिख रही है।
3)
यह भी पढ़ें

वामनराव लाखे : छत्तीसगढ़ में 109 साल पहले रखी थी सहकारिता की नींव

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.