अगर आपने RDA के इंद्रप्रस्थ और कमल विहार में लिया है मकान तो यह खबर आपके लिए

- आरडीए ने घटा दी पीएम आवास योजना की किश्तें
- अब 24 नहीं बल्कि 5 किश्तों में करना होगा भुगतान

By: Ashish Gupta

Published: 22 Nov 2020, 05:01 PM IST

रायपुर. रायपुर विकास प्राधिकरण (RDA) ने प्रधानमंत्री आवास योजना के अंर्तगत बन रहे मकानों की किश्तें घटा दी है। पीएम आवास योजना में सबसे पहले 24 और 12 किश्तों के जरिए आवंटितियों को राशि के भुगतान का समय दिया जा रहा था, लेकिन अब नए आवंटितियों के लिए 5 किश्तें कर दी गई है। एक तरफ जहां आरडीए समय पर मकानों का निर्माण नहीं कर पा रहा है तो दूसरी तरफ किश्तें घटाकर ग्राहकों की परेशानी बढ़ा दी गई है।

किसानों की तरह अब मछुआरों को बिना ब्याज के ऋण और बिजली बिल की छूट

इंद्रप्रस्थ रायपुरा और कमल विहार के पीएम आवास योजना में पूरी राशि देने के बाद भी ग्राहकों को पजेशन का इंतजार करना पड़ रहा है। कमल विहार के सेक्टर-4, सेक्टर-11 और सेक्टर 14 में भी पीएम आवास योजना के अंर्तगत ग्राहकों को आवंटन किया गया है, लेकिन यहां भी कार्यों की रफ्तार सुस्त गति से चल रही है।

कोविड-19 का हवाला
आरडीए के आला अधिकारी और आरडीए अध्यक्ष सुभाष धुप्पड़ प्रोजेक्ट में लेटलतीफी की बड़ी वजह कोविड-19 को मान रहे हैं। आरडीए अध्यक्ष का कहना है कि कोविड-19 की वजह से बीते कई महीनों से काम-काज प्रभावित हुआ है। शीघ्रता से पूरा करने के लिए अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिया गया है। हालांकि आरडीए के सूत्रों का कहना है कि कोविड-19 से बड़ी वजह कंस्ट्रक्शन कंपनियों को भुगतान नहीं होना सबसे बड़ी वजह है।

कोरोना: दूसरी लहर की आशंका, बड़े बाजारों और घनी बस्तियों में सभी की होगी जांच

भुगतान 50 फीसदी से कम
कंस्ट्रक्शन कंपनियों को भुगतान नहीं होने की वजह से आरडीए और कांट्रेक्टर्स के बीच आए दिन विवाद की स्थिति बनती जा रही है। कमल विहार और इंद्रप्रस्थ में बीते कई दिनों से इसकी वजह से काम भी बंद कर दिया गया था। कांट्रेक्टर्स ने शर्त रख दी थी कि जब तक भुगतान नहीं होगा तब तक काम दोबारा शुरू नहीं होगा। कांट्रेक्टर्स का कहना है कि आरडीए से कभी भी पूरा भुगतान नहीं किया जाता है। उदाहरण के तौर पर 20 लाख के काम में 5 लाख का भुगतान किया जाता है। लंबे समय से 50 फीसदी से कम भुगतान किया जा रहा है।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned