न एटीएम का पिन दिया ना ओटीपी फिर भी खाते से ठगो ने निकाला 70 हजार, अपना रहे ये नयी तकनीक

इसकी शिकायत बैंक प्रबंधन से की गई, तो खुलासा हुआ कि अज्ञात ठगों ने उनके बैंक खाते से 72 हजार 523 रुपए का आहरण कर लिया है। ठगों ने पुरी और रामगढ़ के एटीएम बूथ से राशि का आहरण किया है। एटीएम से राशि तभी निकाल सकते हैं, जब उनके पास दूसरा एटीएम कार्ड हो।

रायपुर. पुरानी बस्ती इलाके में एक शिक्षिका ऑनलाइन फ्रॉड की शिकार हो गई। ठगों ने उनके खाते से 70 हजार से अधिक राशि निकाल लिया। उनके पास किसी ने फोन नहीं किया था और न ही उन्होंने अपने बैंक खाता व एटीएम कार्ड संबंधित जानकारी दी थी। इसके बावजूद उनके खाते से राशि आहरण हो गया। पुलिस एटीएम क्लोनिंग की आशंका जता रही है।

पुलिस के मुताबिक शिक्षिका भारती चंद्राकर ने 19 नवंबर को भाठागांव स्थित एसबीआई के एटीएम बूथ से 7 हजार रुपए का आहरण किया था। इसके बाद वह चली गई। दो दिन बाद 22 नवंबर को वह पुन: एटीएम बूथ में पैसा निकालने गई, तो पता चला कि उनके खाते में पैसा नहीं है।

इसकी शिकायत बैंक प्रबंधन से की गई, तो खुलासा हुआ कि अज्ञात ठगों ने उनके बैंक खाते से 72 हजार 523 रुपए का आहरण कर लिया है। ठगों ने पुरी और रामगढ़ के एटीएम बूथ से राशि का आहरण किया है। एटीएम से राशि तभी निकाल सकते हैं, जब उनके पास दूसरा एटीएम कार्ड हो। इसके अलावा आरोपी ने 40 हजार रुपए ग्रीन चैनल के माध्यम से दूसरे खाते में ट्रांसफर किया है। इसकी शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

न एटीएम पिन बताया और न ओटीपी

महिला के मुताबिक उन्होंने किसी को अपने बैंक खाता, ओटीपी और एटीएम संबंधी जानकारी नहीं दी है। इसके बावजूद एटीएम विड्राल होना और ग्रीन चैनल के जरिए राशि का ट्रांसफर होने को पुलिस एटीएम क्लोनिंग मान रही है।

ये भी पढ़ें: फर्जी सैनिक ओएलएक्स में विज्ञापन देकर हवाई अड्डे में करने लगा इस कदर ठगी, पुलिस को लगाना पड़ा बैनर-पोस्टर

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned