भागवत का श्रवण लगाता है भवसागर से पार-उत्तम स्वामी

भागवत का श्रवण लगाता है भवसागर से पार-उत्तम स्वामी

laxman singh | Publish: Sep, 10 2018 12:43:22 PM (IST) Rajsamand, Rajasthan, India

मियाला में 1101 महिलाओं की कलश यात्रा के साथ भागवत कथा शुरू

भीम. मिनी रुणेचा मियाला में राष्ट्रीय राजमार्ग पर के समीप सात दिवसीय भागवत कथा का शुभारम्भ महर्षि उत्तम स्वामी के सानिध्य में रविवार को हुआ।
कथा संयोजक हीरालाल चंदेल, आयोजन समिति अध्यक्ष जयेंद्रसिंह रावत, शोभायात्रा संयोजक प्यारी कंवर, कलश समिति अध्यक्ष सरपंच पंकजा सिंह, सरपंच विनिता सालवी ने उत्तम स्वामी का स्वागत किया। कथा का वाचन करते हुए स्वामी ने कहा कि भागवत के श्रवण मात्र से मनुष्य भव सागर पार कर सकता है। इससे सभी समस्याओं का निराकरण स्वत: हो जाता है। सांसारिक सुख प्राप्ति के लिए भी यह उत्तम माध्यम है। इस दौरान रावत सेना जिलाध्यक्ष गिरधारी सिंह, किशनसिंह सुजावत, अभयसिंह, पाली के पूर्व सांसद पुष्प जैन, लक्ष्मणसिंह, तोलु सिंह, डूंगाजी का गांव के सरपंच भूपेंद्रसिंह, नेमीचंद खटीक, भंवरसिंह, राजेन्द्रसिंह, अजमाल सिंह, नारायण सिंह़, हवलदार विरदसिंह, कैलाशनाथ, सूबेदार विजयसिंह, लक्ष्मणसिंह, रामलाल मेवाड़ा, रामसिंह गहलोत, मोहनसिंह मौजूद थे।
कलश यात्रा में झलकी श्रद्धा
कथा के शुभारंभ से पूर्व छोटा रुणेजा के नाम से सुप्रसिद्ध मंदिर पर बाबा रामदेव के चाचा धनराज की समाधि स्थल से स्वामी के सानिध्य में सर्वजातीय 1101 महिलाओं की कलश यात्रा का शुभारम्भ हुआ। गाजे-बाजे के साथ महिलाओं ने सिर पर कलश धारण कर दो किलोमीटर लम्बी यात्रा करते हुए नेशनल हाइवे पर भागवत कथा आयोजन स्थल तक पहुंची। इस दौरान महिलाएं नाचते-गाते अपने आराध्य देव के जयकारे लगा रही थी। क्षेत्र में पहली बार आयोजित हो रही भागवत कथा व कलश यात्रा को देखने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। ग्रामवासियों ने यात्रा का पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। इस दौरान रावत राजपूत महासभा अध्यक्ष हरिसिंह सुजावत, गोपालसिंह पीटीआई, जसवन्त सिंह, छीतरसिंह, शैलेन्द्रसिंह, भी मौजूद थे।
यह रहेगा समय
कथा का समय रोजाना दोपहर एक से शाम चार बजे तक रहेगा। कथा 15 सितम्बर तक चलेगी।

मियाला में रामदेव मेला शुरू , पदयात्रियों के जत्थों ने लिया आध्यात्मिक लाभ
भीम. मिनी रुणेचा के नाम से प्रसिद्ध मियाला में मगरा क्षेत्र का ख्यातनाम चार दिवसीय बाबा रामदेव मेले का शुभारंभ रविवार को हुआ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता सरपंच विनिता सालवी ने की। उत्तम स्वामी, जिला प्रमुख प्रवेश कुमार सालवी, प्रधान उम्मेदसिंह, भागवत आयोजन समिति अध्यक्ष जयेन्द्र ंिसंह, मण्डावर सरपंच प्यारी रावत, ठीकरवास सरपंच बसंता कंवर, बरार सरपंच पंकजासिंह, डूंगाजी का गांव सरपंच भूपेन्द्रंिसंह, पुजारी मोहनसिंह अतिथि थे। अतिथियों ने फीता काटकर एवं ध्वजा चढ़ाकर मेले का विधिवत उद्घाटन किया। साथ ही मंत्रोच्चारण के साथ हवन व पूजा-अर्चना की गई। रविवार को भीम-देवगढ़ क्षेत्र के हजारों लोगों ने पदयात्रा कर आध्यात्मिक लाभ उठाया एवं मेले में भ्रमण किया। इसके चलते भीम से मियाला एवं कामलीघाट से मियाला दोनों तरफ सडक़ किनारे पदयात्रियों की रेलमपेल रही। इन मार्गों पर विभिन्न स्थानों पर रामरसोड़ा संचालकों द्वारा जातरुओं को अल्पाहार कराया गया। इस दौरान डीएसपी भरतसिंह के नेतृत्व में देवगढ़ थानाधिकारी सहित भारी पुलिस बल तैनात रहा।
सरपंच सालवी ने बताया कि मेले में अवांछित गतिविधियों पर अंकुश के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाये गए हैं तथा ड्रोन कैमरों से भी निगरानी की जा रही है। वहीं, सुरक्षा कारणों से ग्यारह फीट से अधिक ऊंचाई वाले निशान के प्रवेश पर भी रोक लगाई गई है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned