VIDEO : राजसमंद में किसान की आत्महत्या के कारण में नया मोड़, उठने लगे कई सवाल

प्रशासन बोला- प्रथम दृष्टया फसल खराबे से नहीं की आत्महत्या
विधायक ने तीन दिन में मुआवजा नहीं देने पर दी आंदोलन की चेतावनी
थाने में फसल खराबे से किसान के आत्महत्या की दर्ज है एफआईआर

By: laxman singh

Published: 03 Jan 2019, 10:12 PM IST

लक्ष्मणसिंह राठौड़ @ राजसमंद/ पीपली आचार्यान
पीपली आचार्यान में किसान की आत्महत्या के मामले में आत्महत्या के कारण को लेकर नया मोड़ आग या है। पुलिस थाने में फसल खराबे से आहत किसान के आत्महत्या करने की एफआईआर दर्ज है, जबकि प्रशासन जांच में प्रथम दृष्टया फसल खराबे की वजह से किसान ने आत्महत्या नहीं की है। इससे अब आत्महत्या के कारणों को लेकर कई तरह की अफवाहे फैलने लगी है। अब पुलिस जांच पूरी होने के बाद ही आत्महत्या के वास्तविक कारण सामने आ पाएंगे। इधर, विधायक किरण माहेश्वरी ने मृतक किसान के परिजनों को तीन दिन में मुआवजा नहीं देने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

कांकरोली थाने में दर्ज एफआईआर के मुताबिक 30 दिसम्बर को पीपली आचार्यान निवासी लेहरूलाल (48) पुत्र रादूलाल कीर ने बैंगन की फसल खराब होने से आत्महत्या कर ली थी। उसके बाद जिला प्रशासन द्वारा कराई गई जांच कराई गई। इस पर जिला कलक्टर अरविंद पोसवाल ने बताया कि प्रथम दृष्टया फसल खराबे से किसान के आत्महत्या करना सामने नहीं आया। अधिकारियों की जांच में ग्रामीणों से पता चला कि वह पारिवारिक कारणों से कुछ दिन से दबाव में था। यही मुख्य कारण निकलकर सामने आया है। उसके किसी बैंक से कोई ऋण नहीं था और वह पूरी तरह से खेती पर भी आश्रित नहीं था। वह टाइल्स जोडऩे का कार्य करता था और गांव के लिहाज से आर्थिक स्थिति भी इतनी कमजोर नहीं थी कि छोटे से खेत में बैंगन की फसल खराब होने से आत्महत्या कर ले। फिर भी पुलिस की जांच जारी है, जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसी अनुरुप अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

विधायक ने दिए कार्रवाई के निर्देश
विधायक किरण माहेश्वरी गुरुवार सुबह पीपली आचार्यान में मृतक किसान लेहरूलाल कीर के घर पहुंची और परिजनों सांत्वना दी। साथ ही परिजनों को मुआवजा दिलवाने का आश्वासन दिया। विधायक ने जिला कलक्टर व उपखंड अधिकारी व पटवारी को कॉल कर मुआवजा दिलाने के बारे में कार्रवाई के निर्देश दिए। इस दौरान भाजपा मंडल अध्यक्ष दिग्विजयसिंह भाटी सहित कई ग्रामीण मौजूद थे। इससे पहले बुधवार को पूर्व जिला प्रमुख नारायणसिंह भाटी ने पीपली आचार्यान पहुंचकर आहत परिवार को सांत्वना दी। इस दौरान पूर्व सरपंच मनोहर कीर व ग्रामवासी थे।

फसल खराबे से आत्महत्या नहीं
प्रथम दृष्टया लेहरूलाल ने फसल खराबे की वजह से आत्महत्या नहीं की। सभी पहलुओं पर प्रशासन द्वारा जांच कराई। फिर भी पुलिस की जांच जारी है, जिसमें जो भी तथ्य सामने आएंगे, कार्रवाई की जाएगी।
अरविंद पोसवाल, जिला कलक्टर राजसमंद

मुआवजा नहीं तो करेंगे आंदोलन
लेहरू के परिवार को दस लाख मुआवजा मिलना चाहिए। पिछली सरकार में कई ऐसे किसान परिवार को दिया है। तीन दिन में प्रशासन व राज्य सरकार कार्रवाई नहीं करेगा, तो आंदोलन किया जाएगा।
किरण माहेश्वरी, विधायक राजसमंद

Show More
laxman singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned