'मैं जिंदा हूं' का सबूत देने के लिए 30 नवंबर अंतिम दिन

मैं जिंदा हूं का सबूत देने के लिए इस माह की 30 नवंबर अंतिम तारीख है। प्रतिवर्ष नवंबर माह में केंद्र व राज्य सरकार से बैंक में पेंशन लेने वालों को अपने जीवित होने का प्रमाण पत्र देना होता है।

रतलाम. मैं जिंदा हूं का सबूत देने के लिए इस माह की 30 नवंबर अंतिम तारीख है। प्रतिवर्ष नवंबर माह में केंद्र व राज्य सरकार से बैंक में पेंशन लेने वालों को अपने जीवित होने का प्रमाण पत्र देना होता है। इस बार कें्रदीय कर्मचारियों को यह सुविधा अक्टूबर माह में मिल गई थी। जबकि राज्य के कर्मचारियों को सिर्फ इस माह यह सुविधा है। कोई समय सीमा में सबूत नहीं देगा तो पेंशन बंद हो जाएगी। अब तक आधे पेंशन लेने वालों ने भी इसको लेकर प्रमाण पत्र सूचना के अभाव में नहीं दिया है।

sbi_3.jpg

जिले में पेंशन लेने वालों के सबसे अधिक खाते स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में है। इस बैक में करीब 6 लाख खाते है। इसमे से करीब 2 लाख खाते पेंशनरों के है। इसमे राज्य व केंद्रीय सेवा से सेवानिवृत हुए कर्मचारी शामिल है। अब इन सभी पेंशनधारकों को सालाना अपना जिंदा होने का सबूत देना है, लेकिन इसका बैंक ने अब तक कोई प्रचार प्रसार तक नहीं किया है। यहां तक की पूर्व में पेंशनधारकों को इस बारे में सूचना पहुंचती थी, वो भी इस बार नहीं पहुंचाई गई है।

VIDEO :  <a href=SBI के एटीएम से गायब होते-होते बचे 22 लाख रुपए, पढ़े खबर" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/09/17/sbi_5367000-m.jpg">

सूचना के अभाव
अब तक सूचना के अभाव में आधों ने भी इसको लेकर जरूरी प्रमाण पत्र नहीं दिया है। इसकी एक बड़ी वजह सूचना नहीं होना है। असल में इसके पीछे का एक बड़ा कारण वो पेंशनर भी है जो पढे़ लिखे नहीं है या निरक्षर है। इसके चलते उनको सूचना ही नहीं है। अब बैंक इस बात का इंतजार कर रहा है कि वे जब आए उनको बताया जाए कि वे पहले अपना प्रमाण पत्र दें। बैंक के अनुसार करीब 2 लाख पेंशनर में से 98423 हजार ने अब तक जीवित होने का प्रमाण पत्र नहीं दिया है।

sbi_new.jpg

जीवित होने का प्रमाण पत्र देना
30 नवंबर तक प्रत्येक पेंशनर को अपने जीवित होने का प्रमाण पत्र देना है। जो नहीं देगा उनकी पेंशन दिसंबर में रुक सकती है। बेहतर है कि सतर्क होकर सभी अपने प्रमाण पत्र बैंक में जमा कराएं।
- एसपी अग्रवाल, मुख्य प्रबंधक, एसबीआई

SBI clerk prelims results 2019
Show More
Ashish Pathak
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned