मध्यप्रदेश में तीन माह बाद याद आई शिक्षक की भर्ती

मध्यप्रदेश में तीन माह बाद याद आई शिक्षक की भर्ती
education: स्कूल में छात्राओं दी जाएगी यह विद्या, पढ़ें पूरी खबर

Ashish Pathak | Updated: 09 Oct 2019, 03:19:41 PM (IST) Ratlam, Ratlam, Madhya Pradesh, India

ऑनलाइन आवेदन के आधार पर स्थानांतरण नीति लागू होने से स्कूलों की गड़़बड़ार्ई व्यवस्था, अधिकांश स्कूलों में शिक्षकों, व्याख्याताओं के पदों पर नहीं है पर्याप्त नियुक्तियां, रखना पड़ रहे हैं अतिथि शिक्षक।

रतलाम। मध्यप्रदेश सरकार को सरकारी स्कूलों में शैक्षधिक सत्र शुरू होने के तीन माह बाद अतिथि शिक्षक रखने की याद आई है। असल में राज्य सरकार ने इस बार ऑनलाइन आवेदन के आधार पर स्थानांतरण नीति लागू की तो स्कूलों की व्यवस्था और गड़़बड़ा गई। स्थानांतरण के पहले ही अतिथियों की नियुक्ति कर दी और जब स्थानांतरण हुए तो फिर से स्कूलों में पद खाली हो गए। अब लोक शिक्षण संचालनालय नए सिरे से अतिथियों को रखने की प्रक्रिया 11 अक्टूबर से शुरू करने जा रहा है। इसमें भी नया पेंच यह आ गया है कि स्कूलों में पद तो खाली है किंतु पोर्टल पर पद रिक्त दिखाई ही नहीं दे रहे हैं। ऐसे में अतिथि के लिए आवेदन करने वालों के सामने संकट यह है कि वे आवेदन करे तो कैसे।

पालकों की गुहार पर सख्त हुआ CBSE, बिना मान्यता 8वीं तक पढ़ाई कराने वाले 136 स्कूलों को थमाया नोटिस

तीन माह बाद याद
स्कूलों में शिक्षा सत्र शुरू हुए करीब तीन माह से ज्यादा समय बीत चुका हैं। स्कूलों में तिमाही परीक्षाएं भी हो चुकी है और इनके परिणाम भी ऑनलाइन अपलोड हो गए हैं। स्कूलों में शैक्षणिक सत्र के कुछ ही महीने बचे हैं और फिर नए सिरे से अतिथि शिक्षक रखने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है जिससे इतने कम समय में कैसे कोर्स का काम पूरा होगा यह सोचा जा सकता है।

MP Education Department latest news in hindi

इस तरह से होगी प्रक्रिया
- 11 अक्टूबर - स्कूल द्वारा पूर्व में पैनल उपलब्ध होने पर पैनल के अभ्यर्थी को अतिथि शिक्षक के रूप में कार्य करने के इच्छुक अभ्यर्थी द्वारा आवेदन करना। पैनल उपलब्ध नहीं होने पर आवेदक द्वारा स्कोर कार्ड सहित आवेदन प्रस्तुत करना
- 12 अक्टूबर - मेरिट के क्रम में आवेदक को आमंत्रित करना।
- 14 अक्टूबर - आमंत्रित अतिथि शिक्षक द्वारा विद्यालय में ज्वाइनिंग एवं अध्यापन कार्य प्रारंभ करना।

cbse supplementary exam

यह आ रही है समस्या

- जिन स्कूलों में रिक्त पद हैं वहां पहले नियमित काम करते थे किंतु स्थानांतरण के बाद वे पद खाली हो गए किंतु पोर्टल पर अब भी वहां नियमित शिक्षक का पद भरा हुआ दिखाई दे रहा है।
- जिन संकुलों में कोई आवेदन ही नहीं आए वहां के लिए विभाग को फिलहाल कोई निर्देश भी विभाग की तरफ से जारी नहीं किए गए हैं कि वहां कैसे व्यवस्था करके पढ़ाई सुचारू की जा सके।
- पूर्व में जिन स्कूलों में विषय शिक्षकों के पोर्टल पर आवेदन ही नहीं आए वहां कैसे आवेदन की व्यवस्था होगी इसे लेकर भी कोई दिशा निर्देश नहीं मिले हैं कि आवेदन कैसे होंगे।
- नियमित शिक्षकों के आने के बाद अतिथियों को हटा दिया गया। अब इन हटाए गए अतिथियों को दूसरे स्कूलों में कैसे रखा जाएगा क्योंकि उन्होंने जहां आवेदन किया था वहां से हट चुके हैं।
- गणित, अंग्रेजी और विज्ञान विषय के अब भी विषयवार शिक्षक नहीं हैं। खासकर ग्रामीण अंचल के स्कूलों में तो इनकी सबसे ज्यादा कमी है। शहरी क्षेत्र में तो इतनी ज्यादा समस्या नहीं है।

cbse.jpg

समस्याओं से अवगत करवा दिया

भोपाल स्थित वरिष्ठ कार्यालय को इन समस्याओं से अवगत करवा दिया गया है कि पोर्टल पर रिक्त पद दिखाई नहीं दे रहे हैं। हालांकि ११ अक्टूबर से अतिथियों के आवेदन की प्रक्रिया शुरू होना है। हो सकता है एक या दो दिन में सुधार हो जाए।

- केसी शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी

CBSE School News
IMAGE CREDIT: patrika

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned