Rashi parivartan 2021: बुध का अपनी ही राशि में प्रवेश, इन 4 राशिवालों का चमकाएगा भाग्य

बुध के राशि गोचर से सभी राशियां तो प्रभावित होंगी ही, लेकिन इनमें...

ग्रहों की चाल के बीच एक बार फिर एक शुभ ग्रह अपनी राशि में परिवर्तन करने जा रहा है। जिसका असर सभी 12 राशियों पर होगा। ऐसे में जहां कुछ राशियों का भाग्य अचानक चमक उठेगा तो वहीं कुछ राशि वालों को इसके चलते कुछ कठिन दौर भी देखने को मिल सकता है।

दरअसल साल 2021 की 26 मई,बुधवार को सुबह 7:50 बजे ग्रहों के राजकुमार बुध अपनी ही राशि मिथुन में प्रवेश कर रहे हैं। और वे यहां 3 जून 2021 को 3 बजकर 46 मिनट रहेंगे।

खास बात यह है कि बुध के मिथुन में प्रवेश के दिन ही चंद्र ग्रहण होने के साथ ही Budh purnima भी रहेगी। वहीं ज्योतिष के अनुसार बुध मिथुन और कन्या दोनों ही राशियों के स्वामी ग्रह हैं, जिनके कारक देव स्वयं प्रथम पूज्य Shri Ganesh हैं।

वहीं बुध को बुद्धि का प्रतीक भी माना जाता है। ऐसे में बुध के राशि गोचर से सभी राशियां तो प्रभावित होंगी ही, लेकिन इनमें जहां कुछ को इस परिवर्तन का खास लाभ मिलेगा तो वहीं कुछ के तनाव में इजाफा हो सकता है।

MUST READ : Buddha poornima 2021- वैशाख पूर्णिमा का व्रत बनाता है सर्वसुख सम्पन्न और ऐश्वर्यशाली

baisakh_poornima_2021
https://www.patrika.com/festivals/vaisakh-purnima-2021-date-shubh-muhurat-and-what-do-on-buddha-purnima-6829891/ IMAGE CREDIT: https://www.patrika.com/festivals/vaisakh-purnima-2021-date-shubh-muhurat-and-what-do-on-buddha-purnima-6829891/

ये होगा बुध के मिथुन राशि में जाने का 12 राशियों पर असर...

1. मेष राशि:
इस समय बुध आपकी राशि से तीसरे भाव यानि पराक्रम भाव में रहेगा। बुध का ये गोचर आपके शानदार साबित होगा। जिसके चलते आपके लिए कॅरियर में तरक्की की संभावना है। वहीं इस गोचर के दौरान आप साहस और वीरता से भरे रहेंगे, लेकिन साथ ही इसमें अपनी बुद्धि का भी खास प्रयोग करेंगे।

इस समय आप अपनी बौद्धिक क्षमता के कारण हर कार्य में सफलता पायेंगे। यह समय युवाओं के लिए खास समय रहने की संभावना है। इस दौरान आपके कार्यों की हर जगह सराहना होगी। वहीं इस समय किसी मित्र से भी धन लाभ की संभावना के बीच बिजनेस में मुनाफे की बीच मन में कई तरह के नए विचार आ सकते हैं।

उपाय: विष्णु सहस्त्रनाम का जाप करें।


2. वृषभ राशि :
बुध का गोचर इस समय आपकी राशि के दूसरे भाव यानि धन व वाणी भाव में रहेगा। इस गोचर के दौरान जहां आपको अपनी वाणी पर खास नियंत्रण रखना होगा, वहीं इस समय आपको धन लाभ की संभावना भी रहेगी। कार्यक्षेत्र में किसी भी तरह की राजनीति से इस समय दूर रहना ही आपके लिए खास उचित रहेगा। जबकि इस समय आपके लिए सबसे फायदेमंद स्वयं का व्यवसाय रहने की संभावना है।

इस समय आप लक्जरी और आराम पर भी धन खर्च कर सकते हैं। वहीं शेयर बाजार से भी आप एक निश्चित मात्रा में लाभ प्राप्त कर सकते हैं। वृषभ राशि के विद्यार्थी इस समय स्थिरता के साथ शिक्षा के क्षेत्र में प्रगति करेंगे। अपने प्यार को प्रपोज करने का यह अच्छा समय है।

स्वास्थ्य के मामले में जिन जातकों को थायराइड जैसे हार्मोन संबंधी बीमारी रही है, उन्हें इस समय खास देखभाल की जरूरत रह सकती है। वहीं पति या पत्नी का स्वास्थ्य भी आपके लिए चिंता और तनाव का विषय हो सकता है।

उपाय: प्रतिदिन तुलसी के पौधे को जल दें।

MUST READ : इस दिन लगेगा 2021 का पहला चंद्र ग्रहण...

lunar_eclipse_2021_in_india
https://www.patrika.com/hot-on-web/chandra-grahan-2021-date-and-time-in-india-6828813/ IMAGE CREDIT: https://www.patrika.com/hot-on-web/chandra-grahan-2021-date-and-time-in-india-6828813/

3. मिथुन राशि:
इस दौरान बुध का गोचर आपकी राशि के प्रथम भाव यानि लग्न भाव में रहेगा। इसका सबसे ज्यादा लाभ आपको मिलेगा। जिसके चलते आपके अटके हुए कार्य बनने लगेंगे, साथ ही इस समय कुछ प्रभावशाली लोगों से मुलाकात हो सकती है। नौकरी में प्रमोशन के प्रबल योग के बीच मेहनत रंग लाएगी।

कुल मिलाकर आप अपनी बुद्धि के बल पर कुछ ऐसे काम करेंगे जिससे आपको तुरंत फायदा मिलेगा। बुध इस समय आपको अपने पसंदीदा क्षेत्रों में काम करने और उनमें आगे बढ़ने का सामर्थ्य भी प्रदान करेगा।

इस दौरान मानसिक रूप से मजबूत रहने के साथ ही आप इस समय बहुत आश्वस्त होंगे। वहीं इस दौरान आप नकारात्मक प्रभावों से कम परेशान होंगे इसका कारण यह रहेगा कि बुध मिथुन राशि में आपको अपनी स्वयं की बुराईयों के खिलाफ लड़ने की क्षमता देगा।

उपाय: गाय को हरा चारा दें।


4. कर्क राशि:
बुध का गोचर इस समय आपकी राशि के द्वादश भाव यानि व्यय भाव में रहेगा। इस समय आपको अपनी स्थितियों के अऩुरूप ढलना होगा। वहीं खर्चों पर भी खास ध्यान देना होगा। आर्थिक रूप से यह समय सामान्य है ऋण न दें और लेनदेन के मामलों में सावधान रहें।

इस समय विदेश यात्रा या विदेशों से लाभ होने की संभावना है, लेकिन यह आपके खर्चों को भी बढ़ा सकता है। इस गोचर के दौरान आप मानसिक तनाव का सामना कर सकते हैं।

वहीं इस दौरान आपमें से कुछ जातक जॉब में परिवर्तन भी कर सके हैं। बिजनेस करने वाले जातक अपने कारोबार को विस्तार दे सकते हैं। इस समय बुध प्रतिस्पर्धा, ऋण और शत्रु के छठे घर को भी प्रभावित कर रहा है, इसलिए आपको इस दौरान किसी भी टकराव और झड़प से दूर रहना होगा अन्यथा यह आपकी छवि को धूमिल कर सकता है।

अपनी युवा भावना को बनाए रखें और उन बाहरी चीजों से बचें जो आपको अंदरूनी रूप से परेशान कर सकती हैं। इस दौरान आप सभी से थोड़ा अलग-थलग महसूस करेंगे, अत: आप आत्म अवलोकन के लिए बाहरी दुनिया से थोड़ा हटाकर आराम करें और खुद को ऊर्जान्वित करें।

उपाय: बुध के बीज मंत्र का पाठ करें।

5. सिंह राशि
इस समय बुध का गोचर आपकी राशि के एकादश भाव यानि आय भाव में रहेगा। इस गोचर के कारण आप खुद को सबसे लोकप्रिय व्यक्ति महसूस करेंगे। यह लाभ और इच्छाओं की पूर्ति के लिए एक अनुकूल समय है। आप इस दौरान आप नए लोगों से मिलेंगे, वहीं कुछ लोगों की मुलाकात अपने पुराने दोस्तों से भी हो सकती है।

इस दौरान आप अपनी प्राथमिकताओं पर ध्यान केंद्रित करेंगे। वहीं आपमें से ही कुछ जातक इस समय भावनात्मक रिश्तों में कुछ उलझन महसूस करेंगे। रिश्तों की बात की जाए तो, विवाहित जोड़े और प्रेमी कुछ उतार-चढ़ाव से गुजरेंगे, लेकिन इसका समाधान उचित रचनात्मक संचार के द्वारा किया जा सकता है।

इस राशि के लोग नई चीजों को सीखने के लिए उत्सुक होंगे और आने वाले समय में यह आपके लिए फायदे का सौदा भी हो सकता है। स्वास्थ्य के लिहाज से समय अच्छा रहेगा।

उपाय: हर रोज घर में कपूर जलाएं। श्री गणेश की पूजा करें।

6. कन्या राशि:
इस समय बुध का गोचर आपकी राशि के दशम भाव यानि कर्म भाव में रहेगा। इस समय आपको व्यक्तिगत और पेशेवर जीवन के बीच संतुलन रखना होगा। वहीं कर्म भाव में इस गोचर क फलस्वरूप आपके अंदर कार्यों को पूरा करने के लिए जुनून और उत्साह बढ़ेगा।

आप अपने करियर और सार्वजनिक छवि पर ध्यान केंद्रित करेंगे। आर्थिक रूप से यह अवधि आपके लिए अच्छी है और आपके खर्चे भी स्थिर होंगे।

इस गोचर के दौरान आपको रिश्तों को लेकर आपको थोड़ी मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन पिता, सरकार आदि से आपके संबंधों में सुधार होगा। वहीं इस समय आप प्रियजनों या जीवनसाथी के लिए बहुत कम समय निकाल पाएंगे, जिससे आपके रिश्ते में दरार आ सकती है।

इस गोचर के दौरान लेखन का कार्य करने वाले, सॉफ्टवेयर डेवलपर, गणितज्ञ, सीए, राजनेता, सरकारी अधिकारी सफल रहेंगे। इस अवधि में नियमित रूप से सैर करना आपके स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद रहेगा।

उपाय: श्री गणेश चालीसा पढ़ें। जरूरतमंद बच्चों और छात्रों को किताबें दान करें।

7. तुला राशि
इस समय बुध का गोचर आपकी राशि के नवम भाव यानि भाग्य भाव में रहेगा। इस समय आपको गलतफहमियों से बच कर रहना होगा। वहीं इस काल में आप कुछ ऐसे निर्णय भी ले सकते हैं तो सामान्य व्यक्ति की सोच से भी परे होंगे।

इस दौरान आप विशेष रूप से उच्च अध्ययन के लिए विदेश यात्रा में देरी के प्रति थोड़ा निराशा महसूस कर सकते हैं। वहीं स्वास्थ्य के लिहाज से यह गोचर अच्छा है।

इस समय आपके साथी को लग सकता है कि आप उससे दूर हो रहे हैं, इस गलतफहमी को आपको अपनी बुद्धि से सुलझाना होगा। इस समय आप अपनी सोच को व्यापक बनाते हुए अपने व्यक्तित्व में निखार लाएंगे। वहीं कोई नई भाषा सीखने के लिए यह अच्छा समय है और बुध आपको ऐसा करने की प्रेरणा देने के साथ ही हौसला भी देगा।

उपाय: हर रोज "ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय" का 108 बार जाप करें।

 

8. वृश्चिक राशि :
इस समय बुध का गोचर आपकी राशि के अष्टम भाव यानि आयु भाव में रहेगा। आपके लिए बुध का गोचर शुभ रहेगा। इस समय नये काम की शुरुआत आपके लिए अच्छी रहेगी। वहीं तरक्की में आपको माता-पिता का सहयोग भी मिलेगा।

कुल मिलाकर इस गोचर के दौरान आपको लाभ कमाने का मौका मिलेगा। इनकम में अच्छी खासी बढ़ौतरी की संभावना के बीच अत्यधिक लाभ के लालच में हानि होने की भी संभावना बनेगी। यात्राओं में भी कुछ न कुछ लाभ मिलने के आसार दिखाई देने के साथ ही नौकरी में बदलाव भी संभव है।

उपाय: जरूरतमंद बच्चों और छात्रों को किताबें दान करें।

9. धनु राशि :
इस समय बुध का गोचर आपकी राशि के सप्तम भाव यानि विवाह भाव में रहेगा। इस समय आर्थिक समस्याओं से छुटकारा मिलने की संभावना के बीच धन लाभ होने के योग भी बन रहे हैं। इस दौरान आपके संचार कौशल में काफी सुधार होगा, लेकिन ध्यान रखें कुछ भी बोलने से पहले उस पर अच्छे से विचार अवश्य कर लें।

आपमें से कुछ के लिए यह समय भाग्योदय की संभावना भी ला रहा है। जिसके चलते इनके लिए नया व्यापार शुरू करने के लिए यह समय काफी अच्छा रहेगा। कार्यस्थल पर पदोन्नति मिलने की संभावना के बीच नया वाहन या मकान लेने के भी योग बनेंगे।

इस समय आपका आत्म-विश्वास बढ़ने से आप लोगों के बीच अपनी छाप छोड़ने में सफल रह सकते हैं। जिसके कारण आपके द्वारा किए गए कार्यों की सराहना होगी। वहीं इस दौरान आप दान-पुण्य के कार्यों में भी धन खर्च कर सकते हैं।

उपाय: बुध की होरा के दौरान हर रोज बुध के बीज मंत्र का जाप करें।


10. मकर राशि :
इस समय बुध का गोचर आपकी राशि के षष्ठम भाव यानि शत्रु व रोग भाव में रहेगा। इस समय के दौरान आप वित्तीय रूप से लाभ की संभावना के बीच संपत्ति में निवेश करके अपने धन का सदुपयोग भी कर सकते हैं। जबकि कार्यक्षेत्र में आप मौजूदा संघर्षों को हल करने की कोशिश कर सकते हैं। वहीं स्वास्थ्य के लिहाज से यह समय अच्छा है।

इस गोचर के दौरान मकर राशि के लोगों को नौकरी में और कार्यस्थल पर अपार सफलता मिलेगी। हर कोई इस दौरान आपका साथ और सानिध्य चाहेगा। वहीं इस अवधि के दौरान प्रतियोगी और सरकारी परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों को सफलता मिल सकती है, इसके लिए आपको अपने प्रयासों को बढ़ाना होगा।

प्रेम के मामलों में यह समय थोड़ा विपरीत रह सकता है। जबकि दांपत्य जीवन की बात की जाए तो अपने मायके की ओर से अच्छे लाभ और उपहार मिलेंगे।

उपाय: हर दिन गाय को हरा चारा खिलाएं।

11. कुंभ राशि :
इस समय बुध का गोचर आपकी राशि के पंचम भाव यानि बुद्धि व पुत्र भाग्य भाव में रहेगा। यह समय आपके लिए आय में वृद्धि की संभावना लेकर आ रहा है। कुछ जानकारों के अनुसार यह सबसे अच्छा समय है।

इस समय प्यार और रोमांस चरम पर होगा और अपनी स्पष्टता के कारण आप अपने प्यार और विवाह के बंधन को मजबूत करेंगे। इस समय आपकी उन्नति भी होगी। वहीं इस राशि के कुछ लोग पैसे का निवेश किसी जरूरी वस्तु में करने की ओर प्रेरित होंगे।

इस समय आप दांपत्य जीवन में जो भी करेंगे, उसमें आपका साथी आपका सहयोग करेगा। लेकिन, स्वास्थ्य के लिहाज से कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, उचित होगा पेट से जुड़ी समस्याओं को हल्के में न लें।

उपाय: देवी सरस्वती की हर रोज पूजा करें।

12. मीन राशि :
इस समय बुध का गोचर आपकी राशि के चौथे भाव यानि मां व सुख भाव में रहेगा। करियर में उन्नति के लिए इस समय आपको आलस्य त्यागना होगा। आर्थिक पक्ष अच्छा रहने के बीच इस समय आप निकट भविष्य में कार या घर जैसी संपत्तियों पर अपना पैसा खर्च कर सकते हैं।

आपको आने वाले समय में भी लाभ होगा। इस गोचर के दौरान अचल संपत्ति या प्रॉपर्टी संबंधी व्यवसाय से जुड़ने वाले इस राशि के जातकों के लाभान्वित होने की संभावना है। इस गोचर के दौरान फिट और स्वस्थ रहेंगे, लेकिन स्वास्थ्य को लेकर सतर्क भी रहना होगा।

वहीं व्यावसायिक रूप से यह समय सामान्य है और इस दौरान आपको समझदारी से काम करने की जरूरत है। इस गोचर के दौरान आपके घरेलू जीवन में शांति और सद्भाव रहेगा और दांपत्य जीवन में पति या पत्नी को संगठन या कार्यस्थल में उनके प्रदर्शन के लिए प्रशंसा मिलने की संभावना है।

उपाय: तुलसी की हर रोज पूर्ण श्रद्धा से पूजा करें।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned