scriptHow to get Relief from Shani dev and mangal dev | Relief from Shani dev : हनुमानजी की आराधना दूर करती है ये बड़े दोष | Patrika News

Relief from Shani dev : हनुमानजी की आराधना दूर करती है ये बड़े दोष

हिंदू धर्म तथा ज्योतिष में हनुमानजी भी रूद्र यानी शिव के अवतार माने जाते हैं, मंगल भी शिव के ही अंश है

भोपाल

Updated: January 14, 2022 04:00:43 pm

भगवान शिव के 11वें रुद्रावतार श्री हनुमान को कलयुग के देवता माना जाता है। एक ओर जहां हनुमान यानि बजरंगबली का विशेष दिन मंगलवार माना जाता है, वहीं शनिवार को भी श्री हनुमान का दिन माना जाता है। वहीं साल 2022 के राजा शनि हैं जो इस साल कर्मों के आधार पर दंड देने की स्थिति में हैं। ऐसे में ज्योतिष के जानकारों के अनुसार यदि आप अपने जीवन में अमंगल को मंगल करने के लिए सभी प्रयत्न कर चुके हैं और फिर भी कुछ ठीक नहीं हो रहा है। तो मंगलवार को श्रीहनुमान जी के कुछ विशेष मंत्रों का जाप राहत प्रदान करता है। मान्यता के अनुसार इन 5 मंत्रों का जाप से आपके सारे अमंगल कार्य मंगल हो जाएंगे।

Relief from Shani dev and mangal
Relief from Shani dev and mangal

दरअसल हिन्दू धर्म में मंगलवार का दिन नाम के अनुसार ही शुभ और मंगलकारी माना जाता है, क्योंकि धार्मिक दृष्टि से यह दिन कई देवी देवताओं की उपासना का दिन माना गया है, जिनके आगे काल भी नतमस्तक होता है और उनकी शक्तियां संकटनाशक मानी गई है, इन देवताओं में रूद्र अवतार हनुमान, भैरव और मंगल प्रमुख हैं, वहीं इस दिन शक्ति की देवी मां दुर्गा की पूजा भी की जाती है। मंगलवार के दिन श्रीहनुमान और मंगल की उपासना का विशेष महत्व हैं।

hanuman ji

श्रीहनुमान की उपासना से मंगल दोष दूर होता है। वहीं ज्योतिष मान्यताओं में शिव अंश होने से मंगल के शुभ होने पर व्यक्ति समस्त सांसारिक सुखों को पाता है, किंतु अशुभ होने पर संतान, भूमि, धन, विवाह, पुत्र, विद्या, रोग आदि से जुड़ी पीड़ाओं का सामना करता है, यही कारण है कि मंगलवार के दिन मंगल दोष शांति का विशेष मह त्व है, लेकिन किसी कारणवश आप मंगलदोष शांति के लिए मंगल पूजा या आराधना करने में कठिनाई महसूस कर रहे हैं तो हम यह समझ लें, कि एक सरल उपाय है, जिसे अपनाना आसान और असरदार है।

मंगल दोष शांति का यह उपाय है-
हनुमानजी भी रूद्र यानी शिव के अवतार माने जाते हैं, मंगल भी शिव के ही अंश है, यही वजह है कि हनुमान की भक्ति मंगल पीड़ा को भी शांत करने में प्रभावी मानी गई है। इसलिए जाने श्रीहनुमान भक्ति से मंगल दोष शांति के लिए कुछ विशेष हनुमान मंत्र, जो हनुमान की सामान्य पूजा के बाद बोलें- पूजा के बाद श्रीहनुमान के इन 5 असरदार मंत्रों का जप करें ।
- ओम रूद्रवीर्य समुद्भवाय नम:।
- ओम शान्ताय नम:।
- ओम तेजसे नम:।
- ओम प्रसन्नात्मने नम:।
- ओम शूराय नम:।
इन 5 हनुमान मंत्रों के जप के बाद हनुमानजी और मंगल देव का ध्यान कर लाल चन्दन लगे लाल फूल और अक्षत लेकर श्रीहनुमान के चरणों में अर्पित करें। इसके पश्चात हनुमान जी की आरती कर मंगल दोष से रक्षा के लिए भगवान से प्रार्थना करें।

Must Read- 2022 में इस तारीख से शुरू होने वाला है 5 राशि वालों का शानदार समय, और इन पर शुरु होगा शनि का सबसे कष्टदायी चरण

Shani 2022 Impact-Shani Rashi Parivartan 2022

शनि की परेशानियों से मुक्ति के लिए हनुमान जी के मंत्र
1. यदि आप शनि दशा से प्रभावित हैं तो हनुमान जी की पूजा करने ये शनि की दशा भी टल जाती है।

2. शनि के दोष और परेशानियों को दूर करने के लिए हर शनिवार को नारियल लेकर हनुमान मंदिर जाएं। अब इसके बाद मंदिर में हनुमान जी की मूर्ति के सामने सात बार नारियल अपने सिर पर धारण करें। ध्यान रहे कि इस दौरान हनुमान मंत्र (ऊँ राम दूताय नमः या ऊँ महावीराय नमः) का जाप करें। अब सिर पर वार करने के बाद हनुमानजी के सामने नारियल तोड़कर भगवान को नारियल चढ़ाएं। माना जाता है कि इसके बाद शनि के दोष और कष्टों को दूर करने की प्रार्थना करें और अन्य भक्तों को नारियल का प्रसाद बांटें।

3. शनिवार के दिन हनुमान जी को लाल वस्त्र, सिंदूर, चमेली का तेल, लाल फूल चढ़ाएं और उसके साथ हनुमान चालीसा क पाठ करें। माना जाता है कि ऐसा करने से शनि की परेशानियों से निजाद मिलती है।

Must Read- कोरोना की तीसरी लहर का पीक से लेकर अंत तक का समय, ज्योतिष की नजरों में

coronavirus.png

4. शनिवार के दिन पीपल के 11 साफ-सुथरे पत्ते तोड़ें और सभी पत्तों को साफ पानी से धो लें और उसके बाद हनुमान मंदिर जाएं और सभी पत्तों पर चंदन के साथ श्रीराम नाम लिखें। और उन पत्तों की एक माला बनाकर हनुमानजी को अर्पित करें। मान्यता के अनुसार इसके बाद हनुमान जी की पूजा करने से सारे कार्य संपन्न हो जाएंगे।

5. शनिवार की शाम सूर्यास्त के बाद हनुमानजी के सामने सरसों के तेल का दीया जलाएं। दीया अगर मिट्टी का हो तो और भी शुभ होता है। दीपक जलाकर हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ करें। माना जाता है कि ऐसा करने से सभी शत्रुओं का नाश होता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.