संभावित कावंड़ियों को रोकने के लिए सहारनपुर रेंज में 13 कंपनी पीएसी तैनात, 40 पॉइंट पर चेकिंग शुरू

डीआईजी खुद कर रहे चेकिंग पॉइंट्स की मॉनिटरिंग, संभावित कांवड़ियों को रोकने के लिए धर्म गुरुओं का भी लिया जा रहा सहारा

By: shivmani tyagi

Updated: 07 Jul 2020, 05:15 PM IST

सहारनपुर ( Saharanpur ) कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए इस बार कांवड़ यात्रा (Kanwar Yatra) पर प्रतिबन्ध है। ऐसे में संभावित कांवड़ियों को रोकने के लिए सहारनपुर मंडल में 13 कंपनी पीएसी तैनात की गई है। सहारनपुर, मुजफ्फरनगर और शामली में 40 पॉइंट पर चेकिंग की जा रही है। सभी बॉर्डर पूरी तरह से सील कर दिए गए हैं। डीआईजी खुद चेकिंग पॉइंट्स की स्वयं मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: गाजियाबाद अग्निकांड: अवैध फैक्ट्री में हुए हादसे पर मानवाधिकार आयोग ने यूपी सरकार और DGP को भेजा नोटिस

सहारनपुर डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल ने बताया कि कोरोनावायरस ( Corona virus) के संक्रमण को देखते हुए इस बार कावड़ यात्रा (Kanwar Yatra) पर प्रतिबंध है। सहारनपुर, शामली और मुजफ्फरनगर ऐसे जिले हैं जो हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान और पंजाब समेत उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए देवभूमि हरिद्वार जाने का प्रवेश द्वार हैं। यहीं से होकर कांवड़िए हरिद्वार में जाते हैं। ऐसे में सहारनपुर शामली और मुजफ्फरनगर में 40 चेकिंग प्वाइंट बनाए गए हैं। इन पॉइंट्स पर मुख्य रूप से हरिद्वार की ओर जाने वाले लोगों की चेकिंग की जा रही है।

यह भी पढ़ें: यूपी हरियाणा समेत कई राज्यों में चोरी के वाहन बेचने वाले गिराेह के चार सदस्य गिरफ्तार

डीआईजी ने बताया कि हरिद्वार की ओर जाने वाले लोगों की चेकिंग की दौरान उनके आधार कार्ड और पास भी चेक किये जा रहे।हैं। इस दौरान अगर पुलिस को ऐसा लगता है कि ये लोग हरिद्वार गंगाजल लेने के लिए जाना चाहते हैं तो उन्हें रोका जाएगा और समझाकर वापस किया जाएगा। डीआईजी ने यह भी बताया कि इसके लिए धर्म गुरुओं से भी बात की गई है। धर्म गुरुओं के माध्यम से भी अपील कराई जा रही है कि इस बार लोग हरिद्वार ना जाएं।

यह भी पढ़ें: सोशल मीडिया पर रेप का वीडियो हुआ वायरल, लड़की की हो रही तलाश, मामला जानकर भन्ना जाएगा सिर

हरिद्वार गए तो अपने खर्चे पर होना होगा 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन
अगर आप भी पुलिस को चकमा देकर हरिद्वार जाने की सोच रहे हैं तो जान लीजिए कि हरिद्वार में प्रवेश करते ही आपको 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन होना पड़ेगा और इसका खर्च भी आपको स्वयं ही उठाना पड़ेगा। किसी भी दूसरे राज्य से उत्तराखंड जाने वाले लोगों की बॉर्डर पर सघन चेकिंग की जा रही है।

14 दिन के लिए पड़ेगा क्वारेंटॉइन

उत्तराखंड पुलिस भी आधार कार्ड के साथ साथ पूरी जानकारी ले रही। गैर राज्य और शहरों से हरिद्वार जाने वाले लोगों को 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन भी किया जा रहा है। तो ऐसे में साफ है कि, अगर आप भी पुलिस को चकमा देकर या किसी दूसरे रास्ते से हरिद्वार में प्रवेश करने की सोच रहे हैं तो जान लीजिए कि आपको 14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन होना पड़ सकता है।

डीआईजी खुद कर रहे मॉनिटरिंग
कावड़ यात्रा के मद्देनजर सहारनपुर शामली और मुजफ्फरनगर में बनाए गए 40 चेकिंग पॉइंट की डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल स्वयं मॉनिटरिंग कर रहे हैं। हर दिन इन चेकिंग पॉइंट्स की रिपोर्ट डीआईजी ने खुद अपनी टेबल पर मंगाई है और आकस्मिक निरीक्षण के भी निर्देश दिए हैं। मंगलवार को डीआईजी ने इन चेकिंग पॉइंट्स का जाकर निरीक्षण भी किया। इस दौरान सभी पुलिसकर्मियों को निर्देश दिए कि अगर हरिद्वार की ओर जाने वाला कोई भी व्यक्ति उन्हें कावड़ियां लगता है तो उनसे आराम से बात करें और समझा बुझा कर उन्हें वापस लौटाएं इस बार कोरोनावायरस को देखते हुए कावड़ यात्रा पर प्रतिबंध है।

Corona virus COVID-19 virus
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned