बारिश पर भारी आस्था

बारिश पर भारी आस्था

Shubham Singh | Publish: Sep, 12 2018 11:40:22 AM (IST) Sawai Madhopur, Rajasthan, India

त्रिनेत्र के दर पर उमड़ रहे Ÿद्धालु

सवाईमाधोपुर. णथम्भौर दुर्ग स्थित त्रिनेत्र गजानन के दर पर श्रद्धालुओं का सैलाब उमडऩे लगा है। दूर- दूर से श्रद्धालु त्रिनेत्र के दर्शनों के लिए बैण्डबाजों के साथ पदयात्रा के रूप में यहां पहुंच रहे हैं। मंगलवार को दिन भर चले बारिश के दौर से भी श्रद्धालुओं की आस्था पर कोई फर्क नहीं पड़ा और श्रद्धालु बारिश में भी भजनों पर नाचते गाते नजर आए।
सजने लगी दुकाने
णेश चतुर्थीग व लगने वाले तीन दिवसीय लक्खी मेले के तहत गणेश धाम पर दुकाने सजनी शुरू हो गंई है। दुकानों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ नजर आ रही है। खरीदारी को लेकर महिलाओं व युवतियों में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है।
चौपहिया वाहनों का प्रवेश बंद
श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए मंगलवार को चौपहिया वाहनों को पुलिस प्रशासन की ओर से गणेश धाम पर रोक दिया। केवल दुपहिया वाहनों को ही गणेश धाम से अंदर प्रवेश दिया गया। गौरतलब है कि बुधवार से गणेश धाम से दुपहिया वाहनों को भी प्रवेश नहीं उिया जाएगा। सभी वाहनोंं को शेरपुर हैलिपेड पर ही रोक दिया जाएगा।
जगह- जगह शुरू हुए भण्डारे
मेले को देखते हुए भामाशाहों व विभिन्न संगठनोंं की ओर से श्रद्धालुओं के लिए नि:शुल्क भण्डारे शुरू कर दिए गए हैं। पदयात्रा में गणेश दर्शनों के लिए आ रहे श्रद्धालु भण्डारों में प्रसादी पा रहे है। हालांकि बारिश के चलते अभी कई भण्डारे शुरू नहीं हो पाए हैं वे भी बुधवार से शुरू हो जाएंगे।

दान धर्म में करें समय का उपयोग
सवाईमाधोपुर.
सकल दिगम्बर जैन समाज के तत्वावधान में आलनपुर स्थित चमत्कार जैन मंदिर में चातुर्मास कर रहे सुकुमालनंदी ने मंगलवार को श्रावकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि व्यक्ति को अपनी शक्ति का सदुपयोग कर दान-धर्म बिना अभिमान के करना चाहिए। उन्होंने जिनवाणी के सार को अपनाते हुए प्राणी मात्र के प्रति दया का भाव रखने पर जोर दिया। धर्म और संस्कारों से जुड़कर संयम धारण करने के लिए लोगों को प्रेरित किया।साथ ही धर्म सभा के मंच पर विराजित मुनि सुनयनंदीजी एवं ऐलक सुलोकनंदीजी ने भी लोगों को उपदेश देकर धर्म की राह पर चलने की बात कही।चातुर्मास समिति के प्रचार-प्रसार मंत्री प्रवीण कुमार जैन ने बताया कि श्रावकों ने शांतिसागर के समाधि दिवस पर उन्हें विनयांजलि अर्पित की । सुकुमालनंदी ने उनके जीवन पर प्रकाश डाला ।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned