वोट लेने के बाद नहीं पूछते खैरियत

गंगापुरसिटी . अब चुनाव का मौसम है तो नेता दर-दर ढोक लगाते नजर आ रहे हैं, लेकिन वोट लेने के बाद उनके दर्शन दुर्लभ हो जाते हैं। चुनावों के बाद वोटर किस स्थिति में है और वह किन समस्याओं से रूबरू हो रहा है। इससे वह इत्तेफाक रखते नजर नहीं आते। यह बात बुधवार को पत्रिका के ‘मुद्दा क्या है’ कार्यक्रम में गंगापुर विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने कही।

By: Rajeev

Published: 10 Apr 2019, 09:18 PM IST

गंगापुरसिटी . अब चुनाव का मौसम है तो नेता दर-दर ढोक लगाते नजर आ रहे हैं, लेकिन वोट लेने के बाद उनके दर्शन दुर्लभ हो जाते हैं। चुनावों के बाद वोटर किस स्थिति में है और वह किन समस्याओं से रूबरू हो रहा है। इससे वह इत्तेफाक रखते नजर नहीं आते। यह बात बुधवार को पत्रिका के ‘मुद्दा क्या है’ कार्यक्रम में गंगापुर विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने कही।


लोगों ने कहा कि कई गांवों के रास्ते कई सालों से टूटे पड़े हैं। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में पशुओं के लिए चिकित्सालयों की व्यवस्था नहीं है। लोगों के लिए पानी का पर्याप्त प्रबंध नहीं हो रहा है। वहीं बेरोजगारों को रोजगार देने के लिए स्थानीय स्तर पर कोई पहल नहीं हो रही है। इससे युवाओं में निराशा है।

युवाओं ने कहा कि जनप्रतिनिधियों को रोजगार दिलाने की दिशा में पहल करनी चाहिए। लोकसभा चुनाव में ‘मुद्दा क्या है’ की बात पर लोगों का कहना है कि आम व्यक्ति की मूलभूत जरूरतें पूरी होनी चाहिए। इसमें पानी अहम मुद्दा है। इससे इतर किसानों को पूरी बिजली, सुगम सफर के लिए बेहतर सडक़ें, सस्ती और रोजगारपरक शिक्षा के साथ युवाओं को रोजगार देने के अवसर पैदा होने चाहिए। इस मौके पर सरपंच सुरेश गुर्जर, जलधारी मीणा, रवि सैनी, विश्वेन्द्र चौधरी, बंटी कुमार सैनी, दिलखुश सैन एवं अंगूरी देवी आदि मौजूद रहीं।

Rajeev Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned