VIDEO: रणथम्भोर में पर्यटकों के साथ ऐसा क्या हुआ कि निराश होकर लौटना पड़ा ओर भविष्य में दुबारा रणथम्भोर नही आने तक कि भी बात कही....

Vijay Kumar Joliya | Publish: Nov, 11 2018 06:10:05 AM (IST) Sawai Madhopur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

 

सवाईमाधोपुर. रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान के मौजूदा पर्यटन सत्र में पर्यटन व्यवसाय को जैसे ग्रहण ही लग गया है। करंट बुकिंग प्रक्रिया में बदलाव के बाद वाहनों की संख्या निर्धारित करने के बाद पर्यटकों को पार्क भ्रमण के टिकट नहीं मिल पा रहे है। ऐसे मेें पर्यटकों में निराशा है। शनिवार को भी कई पर्यटकों को टिकट नहीं मिलने के कारण वे पार्क भ्रमण पर नहीं जा सके। कई पर्यटकों ने तो निराश होकर भविष्य में दुबारा रणथम्भौर नहीं आने तक की बात कही।

यह है नया नियम
नए नियम के तहत रणथम्भौर में पार्क भ्रमण के दौरान पार्क में पर्यटन वाहनोंं की संख्या निर्धारित कर दी गई है। अब ररणथम्भौर में एक जोन में केवल आठ ही वाहनों को प्रवेश दिया जा रहा है ऐसे में एक पारी में 80 वाहन ही पार्क भ्रमण पर जा रहे है। दोनों पारियों में कुल 160 वाहनोंं को ही पार्क भ्रमण पर भेजा जा रहा है।

फि र एमपी में कैसे बढ़े वाहन
रणथम्भौर में वाहनों की संख्या निर्धारित करने के पीछे वन अधिकारी उच्च न्यायालय के आदेशों का हवाला दे रहे है। जबकि उच्च न्यायालय के आदेश तो सभी राज्यों में समान रूप से लागू होते है। ऐसे में मध्यप्रदेश के अभयारण्यों में वाहनों की संख्या कैसे बढ़ा दी गई।

पांच घंटों तक कतार में इंतजार फिर भी मायूसी
रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान में त्योहारी सीजन होने के कारण पर्यटकों की भारी भीड़ उमड़ रही है। पर्यटकों को टिकट के लिए शिल्पग्राम स्थित बुकिंग विण्डो पर घंटों कतार में इंतजार करना पड़ रहा है। इसके बाद भी पर्यटकों को टिकट नहीं मिल पा रहे हैं। ऐसे में पर्यटक मायूस लौट रहे हैं। शनिवार को भी पर्यटक टिकट के लिए रात दो बजे से लाइन में खड़े हो गए लेकिन उन्हेें वाहनों की लिमिट पूरी होने के बाद आठ बजे तक भी टिकट नहीं दिया गया। ऐसे में पर्यटक निराश होकर लौट गए।

शुक्रवार को पर्यटकों ने की थी तोडफ़ोड़
बुकिंग विण्डो पर टिकट नहीं मिलने से नाराज पर्यटकों ने शुक्रवार शाम की पारी के दौरान भी अधिकारियों को जमकर खरीकोटी सुनाई थी। गुस्साए पर्यटकों ने बुकिंग विण्डोंं के पास लगी जालियां तोड़ दी थी और पर्यटक विण्डो के गेट पर झूल गए थे हालांकि बाद में समझाइश पर मामला शांत हुआ था।

तत्काल के नाम पर काट रहे जेब
पर्यटकों ने आरोप लगाया कि घंटों इंतजार करने ेके बाद भी टिकट नहीं दिए जा रहे हैं और अंतिम समय में तत्काल के नाम पर करीब दोगुनी राशि वसूल कर पर्यटकों को जंगल भेजा जा रहा है। पर्यटकों का आरोप है कि जब वाहनों की लिमिट पूरी हो गई तो फिर तत्काल में वाहनों को पार्क में क्यों भेजा जा रहा है। विभाग तत्काल के नाम पर पर्यटकों की जेब काट रहा है।

यूं झलका पर्यटकों का दर्द....

अब दुबारा नहीं आऊंगा रणथम्भौर
लंदन से रणथम्भौर घूमने आए मॉर्क जोन ने बताया कि वह अपने दोस्त के साथ शुक्रवार को रणथम्भौर घूमने आए थे। शुक्रवार को उनको टिकट नहीं मिला। अधिकारियों ने शनिवार को सुबह आने को कहा अब सुबह भी टिकट नहीं दिया और शाम का नाम ले रहे हैं। अब हम एमपी के कान्हा में भ्रमण के लिए जाने की प्लानिंग कर रहे हैं।
- मार्क जॉन, लंदन से आया पर्यटक।

500 रुपए अतिरिक्त मांग रहे
सुबह पांच बजे से लाइन में खड़े है लेकिन टिकट नहीं मिल रहे है। लोकल होटेलियर्स लाइन तोड़कर टिट ले रहे हैं। कई लोग टिकट कराने के लिए पांच सौ रुपए मांग रहे हैं।
- दीपक खण्डेलवाल , महाराष्ट्र से आया पर्यटक।

विण्डो पर नहीं व्यवस्था
यहां टिकट विण्डो पर कोई व्यवस्था नहीं है। सुअह तीन बजे के लाइन में खड़े हैं। सुबह साढ़े पांच बजे काउंटर ओपन हुए हैं। लेकिन अब तक टिकट नहीं मिल रहे हैं। सिस्टम बहुत धीरे चल रहा है।
- सुरेश गोयल, गाजिबाद से आया पर्यटक।

जानकारी तक नहीं दे रहे
रणथम्भौर में पर्यटकों को टिकट नहीं मिल रहे है। रात दो बजे से सुबह आठ बजे तक कतार में खड़े हैं। टिकट काउंटर पर लगा डिसप्ले बोर्ड भी काम नहीं कर रहा है। पर्यटकों को टिकट के बारे में जानकारी तक नहीं दी जा रही है।
- आशुतोष, महाराष्ट्र से आया पर्यटक।

यूं चला हंगामों का दौर....
28 सितम्बर- ऑनलाइन सिस्टम में अटकी मशीने
29 सितम्बर- टिकटनहीं मिलने से पर्यटकों काहंगामा

30 सितम्बर- पुलिसकर्मी ने महिला पर्यटक से की अभद्रता
7 अक्टूबर- बुकिंग विण्डो पर पर्यटकों ने किया हंगामा।

26 अक्टूबर- टिकट विण्डो पर जीवी रेड्डी का घेराव।
1 नवम्बर- बुकिंग में देरी से पर्यटकों का हंगामा।

1 नवम्बर- शाम की पारी में बंद मिला जोन नौ।
2 नवम्बर- वाहन चालकों ने जंगल में वाहन नहीं भेजने की दी चेतावनी

5 नवम्बर- वाहन चालकों व एजेंटों में हाथापाई।
9 नवम्बर- पर्यटकों को नहीं मिले टिक ट।

9 नवम्बर- पर्यटकों ने तोड़ी जालियां, गेट पर की धक्का मुक्की।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned