script5 planets to form straight line, visible from Earth with naked eye | 18 वर्षों में पहली बार एक क्रम में होंगे 5 ग्रह, धरती से देखने के लिए नहीं होगी किसी उपकरण की जरूरत | Patrika News

18 वर्षों में पहली बार एक क्रम में होंगे 5 ग्रह, धरती से देखने के लिए नहीं होगी किसी उपकरण की जरूरत

18 वर्षों में पहली बार, पांच ग्रह सूर्य से अपनी दूरी के क्रम में एक पंक्ति में होंगे और उन्हें नग्न आंखों से देखा जा सकेगा। पांच ग्रह बुध, शुक्र, मंगल, बृहस्पति और शनि सूर्य से अपनी दूरी के क्रम में पंक्तिबद्ध होंगे और धरती से नग्न आंखों से भी दिखाई देंगे।

नई दिल्ली

Published: June 02, 2022 08:18:22 pm

सुर्योदय से पहले उठने वालों के लिए अच्छी खबर है। अगर आप जल्दी उठने के शौकीन हैं और आपको अंतरिक्ष में होने वाली अद्भुत नजारों को देखना पसंद है, तो आपको बता दें, कल सुबह बुध (Mercury), शुक्र (Venus), मंगल (Mars), बृहस्पति (Jupiter) और शनि (Saturn) ग्रह सूर्य से अपनी दूरी के क्रम में एक पंक्ति में होंगे और उन्हें नग्न आंखों से देखा जा सकेगा। दो या तीन ग्रहों को एक साथ देखना सामान्य बात है। मगर एक साथ 5 ग्रहों को देखना, ऐसा बहुत ही कम मौकों पर प्राप्त होता है।
18 वर्षों में पहली बार एक क्रम में होंगे 5 ग्रह, धरती से देखने के लिए नहीं होगी किसी उपकरण की जरूरत
18 वर्षों में पहली बार एक क्रम में होंगे 5 ग्रह, धरती से देखने के लिए नहीं होगी किसी उपकरण की जरूरत
पहली बार एक साथ पांच ग्रहों को एक ही क्रम में दिसंबर 2004 में ब्रिटेन से देखा गया था। तो वहीं अब लगभग 18 वर्षों के बाद फिर से इसे देखा जा सकेगा। बतया जा रहा है शुक्रवार की तड़के पांच ग्रह क्षितिज से ऊपर उठेंगे। बुध सबसे कमजोर और क्षितिज के बहुत करीब होगा, लेकिन सूरज की रोशनी में गायब होने की उम्मीद है।
सूर्योदय की चकाचौंध में गायब होने से पहले, कल (3 जून) शो शुरू होने पर बुध सबसे कमजोर और क्षितिज के काफी करीब होगा, लेकिन जैसे-जैसे महीना आगे बढ़ेगा, इसे देखना आसान हो जाएगा। एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के इंस्टीट्यूट फॉर एस्ट्रोनॉमी में एक्सोप्लैनेट कैरेक्टराइजेशन के निजी अध्यक्ष प्रोफेसर बेथ बिलर ने कहा, "यह काफी अच्छा और कूल है।"
तो वहीं रॉयल म्यूजियम ग्रीनविच के डॉ ग्रेग ब्राउन के अनुसार, 'बुध के उदय होने के बाद लेकिन सूरज के निकलने से पहले एक ही समय में सभी पांच ग्रहों को देखने का आपका एकमात्र मौका बहुत ही कम समय के लिए होगा। उन्होने कहा UK के वक्त के मुताबिक शुक्र और बृहस्पति को देखना सबसे आसान होगा, शुक्र सुबह 4 बजे के आसपास दिखाई देगा और मंगल, बृहस्पति लगभग 2:45 बजे से क्षितिज में दिखाई देगा। तो वहीं शनि लगभग 1:30 बजे GMT क्षितिज से ऊपर उठेगा लेकिन गोधूलि में देखना मुश्किल हो जाएगा।

यह भी पढ़ें

मशहूर संतूर वादक पंडित भजन सोपोरी का निधन, विरासत में मिली थी संतूर वादन की शिक्षा

हर्टफोर्डशायर विश्वविद्यालय के वेधशाला में प्रमुख तकनीकी अधिकारी डॉ सामंथा रॉल्फ के अनुसार, यदि आपके पास दूरबीन नहीं है तो कोई बात नहीं, इसकी कोई आवश्यकता नहीं है, आप जहाँ भी हैं इस नजारे का आनंद ले सकते हैं, भले ही आप अपने स्थान से इन सभी पाँचों ग्रहों को न देख सकें। उन्होंने आगे कहा, यह एक दुर्लभ नजारा है जो हमें प्रकृति और हमारे आस-पास की दुनिया से जुड़ाव महसूस करने में मदद कर सकता है, और सामान्य रूप से रात के आकाश का आनंद लेना एक व्यायाम की तरह भी है जो स्वास्थय के लिए काफी फायदेमंद भी है।

यह भी पढ़ें

जातिगत जनगणना का CM नीतीश कुमार का बड़ा प्लान, हिंदुओं सहित मुस्लिम जातियों की भी होगी गिनती

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीउदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांडः कानपुर से आतंकी कनेक्शन, एनआईए की टीम जल्द जा कर करेगी छानबीनAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.