कोरोना को लेकर विश्व व्यापी चेतावनी हुई जारी, इधर मध्य प्रदेश के एक गांव में जांच टीम को घुसने तक नहीं दिया गया

राजभवन के बाहर सोशल डिस्टेंस के नियमों की धज्जियां उड़ीं...

देश दुनिया में कोरोना वायरस के कहर के बीच जहां इसके संक्रमण को रोकने के लिए देश में लॉकडाउन समेत तमाम तरह की कोशिशें की जा रही हैं। लेकिन इसके बावजूद मध्यप्रदेश के कुछ जिलों में कोरोना पर लगाम नहीं कसी जा पा रही है।

इस सब के बीच भोपाल में कोरोना की शुरुआत से अब तक 31 पुलिस कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। राजधानी में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को कोरोना द्वारा घेर लिए जाने के बाद अब 26 अप्रैल तक मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय बंद रहेगा! वहीं कोरोना वायरस संक्रमण के चलते एक और पुलिस अधिकारी नीलगंगा थाने के प्रभारी यशवंत पाल की मंगलवार सुबह एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गयी।

वहीं भोपाल में कोरोनावायरस के बीच आज राजभवन में पांच मंत्रियों ने शपथ ली, इस दौरान राजभवन के बाहर सोशल डिस्टेंस के नियमों की धज्जियां उड़ती दिखी। इधर,कोरोना के कहर से जुझ रहे मध्यप्रदेश के रायसेन जिले के दस पॉजिटिव वाले अल्ली गांव में स्वास्थ्य विभाग की सर्वे टीम को जांच के लिए गांव वालों ने घुसने तक नहीं दिया। जिसके चलते टीम को वहां से खाली हाथ लौटना पड़ा है।

बड़ी चेतावनी हुई जारी...
एक ओर जहां 23 अप्रेल की शाम दीपिका पादुकोण वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक डॉ. टेड्रोस एधनॉम घेब्रेयेसस से इंस्टाग्राम पर लाइव बातचीत करेंगी। वहीं दूसरी ओर इससे ठीक पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से कोरोना की स्थिति को लेकर एक बड़ा बयान सामने आया है। डब्लूएचओ (WHO) के अनुसार लॉकडाउन सभी देश धीरे-धीरे ही हटाएं, क्योंकि यदि ढील देने में जल्दबाजी की जाती है, तो ऐसे में संक्रमण बढ़ सकता है।

डब्लूएचओ (WHO) के मुताबिक कोरोना के संक्रमण के बीच ये ढिलाई बरतने का समय नहीं है। WHO की इस चेतावनी ने पूरे विश्व के लोगों के चेहरों पर एक बार फिर तनाव की लकीरें खींच दी है, जानकारों के अनुसार ये चेतावनी ऐसे समय जारी की गई है जब भारत समेत दुनिया के तमाम देशों की सरकारें प्रतिबंधों में ढील देकर आर्थिक गतिविधियां चालू करने की योजना बना रही हैं।

इधर, सोशल मीडिया पर कुछ लोग वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक डॉ. टेड्रोस एधनॉम घेब्रेयेसस से दीपिका की बातचीत को लेकर आलोचना कर रहे हैं। उनका कहना है कि कोरोना वायरस को लेकर डब्ल्यूएचओ जिस तरह चीन का बचाव कर रहा है, उसे देखते हुए दीपिका को इस संगठन से बातचीत नहीं करनी चाहिए।

MUST READ : कोरोना वायरस को लेकर ज्योतिष में सामने आई ये खास बात, जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान

https://www.patrika.com/religion-and-spirituality/surprising-facts-on-coronavirus-you-can-t-believe-what-jyotish-says-5994280/

इधर, कोरोना के खात्मे को लेकर नया दावा...
वहीं दूसरी ओर सोशल मीडिया पर अब एक ओर नया दावा सामने आ रहा है, जिसमें कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस भारत में 20 मई के बाद मर जाएगा। इसका जो कारण बताया जा रहा है उसके अनुसार 20 मई तक देश में गर्मी चरम पर होगी, जिस कारण कोरोना का प्रभाव बहुत हद तक कम हो जाएगा या कोरोना मर जाएगा।

दावे की सत्यता बताने के लिए ये भी कहा गया है कि भारत विश्व में 8वां सबसे गर्म देश है, ऐसे में तेज गर्मी के चलते यहां पर कोविड-19 को सरवाइव करना मुश्किल हो जाएगा।

जबकि जानकारों का मानना है कि इस दावे का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। खुद WHO के अनुसार, कोरोना वायरस किसी भी जगह, किसी भी मौसम में फैल सकता है, चाहे वह मौसम गर्म हो या उमस भरा। साथ ही गर्मी में कोरोना वायरस की स्थिति को लेकर अभी तक कोई ऐसा ना तो तथ्य और ना ही कोई अध्ययन सामने आया है। ऐसे में सोशल मीडिया पर जो दावे किए जा रहे हैं, उसका कोई वैज्ञानिक आधार फिलहाल नहीं दिख रहा है कि 20 मई के बाद भारत में कोरोना खत्म हो जाएगा।

MUST READ : शादी के मुहूर्त 2020- जानिये लॉकडाउन के बाद अब कितने बचेंगे

https://www.patrika.com/horoscope-rashifal/2020-marriage-dates-and-2021-wedding-dates-with-muhurat-6009600/

क्या कहा डब्ल्यूएचओ ने...
कोरोना को लेकर डब्ल्यूएचओ के पश्चिमी प्रशांत के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. ताकेशी कासेई की ओर से लॉकडाउन में ढिलाई बरते की सरकारों की योजना पर कहा गया है कि यह ढिलाई बरतने का समय नहीं है, बल्कि हमें निकट भविष्य के लिए जीवन जीने के नए तरीके को लेकर स्वयं को तैयार रखने की आवश्यकता है। अब तक हमारी ओर से की जा रही गतिविधियों जैसे लॉकडाउन और सामाजिक दूरी बनाए रखने के अन्य कदमों को धीरे-धीरे हटाया जाना चाहिए। साथ ही सभी को स्वस्थ रखने और अर्थव्यवस्था को लेकर संतुलन रखने की जरूरत है।

दावों में इन देशों से तुलना...
सोशल मीडिया और कई मीडिया रिपोर्ट में विश्व के सबसे गर्म देश लीबिया व दूसरे सबसे गर्म देश सऊदी अरब सहित कुछ देशों को लेकर तुलनात्मक तौर पर भारत के लिए दावा किया जा रहा है। जिसमें बताया जा रहा है कि लीबिया में अब तक कोरोना से संक्रमित 49 केस दर्ज हैं और वहां पर केवल एक मौत हुई है।

वहीं सउदी अरब में 8500 केस आए है। कुछ ऐसा ही हालात सोमालिया, इथोपिया और जाम्बिया का भी है। इन्हीं देशों को दावे का आधार बनाकर कहा जा रहा है कि भारत में जब 20 मई तक गर्मी अपने चरम पर रहेगी तो इस गर्मी में कोरोना खत्म हो जाएगा।

MUST READ : कोरोना ज्योतिष- 4 मई को मंगल निकल जाएंगे मकर से, जानिये फिर कब क्या क्या होगा

https://www.patrika.com/dharma-karma/ending-date-of-corona-virus-from-world-what-astrology-planets-says-6011424/

इंदौर में बढ़ सकती है सख्ती...
जानकारों की मानें तो मध्यप्रदेश के इंदौर और भोपाल जिले कोरोना के हॉटस्पॉट बने हुए हैं। वहीं इंदौर में लगातार नए पॉजिटिव मरीज सामने आने और मृतक संख्या बढ़ने पर मंत्रालय की टीम ने भी चिंता जाहीर की है। हालांकि मंत्रालय की टीम ने कहा कि प्रशासन चुस्त-दुरस्त काम कर रहा है।

लेकिन देशभर में इंदौर कोरोना महामारी फैलने के मामले में तीसरे स्थान होने के चलते केन्द्रीय मंत्रालय ने प्रशासन को चेताया भी है। साथ ही सख्ती और बढ़ाने का निर्देश दिया है, जिससे की लॉकडाउन का पालन किया जा सके। वहीं ये भी सूचना आ रही है कि यदि इंदौर में लॉकडाउन की पालना में कमी दिखी या कोरोना के मरीजों में वृद्धि हुई तो यहां और सख्ती बढत्राई जा सकती है।

इधर, कोरोना महामारी का संकट अभी प्रदेश के रेड जोन इलाके इंदौर, भोपाल, उज्जैन, जबलपुर, बड़वानी, खरगोन, मुरैना से कम होने का नाम नहीं ले रहा है। जिसके चलते अब कारोबारियों की समस्या भी बढ़ती जा रही है। लेकिन केन्द्रीय टीम के जायजे के बाद इंदौर की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए कहा जा रहा है कि - 3 मई के बाद भी इंदौर से लॉकडाउन में कोई राहत मिलने के आसार नहीं है। हालांकि इंदौरवासियों को इस दौरान दवा, जरूरी सामान की आपूर्ति को और बेहतर ढ़ग से करने की तैयारी की जा रही है।

Corona virus coronavirus
Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned