scriptafter 4 days of construction bridge broke down into river | भ्रष्टचार की भेंट चढ़ा नदी पर बना पुल, निर्माण के चार दिन बाद ही टूटकर नदी में बहा | Patrika News

भ्रष्टचार की भेंट चढ़ा नदी पर बना पुल, निर्माण के चार दिन बाद ही टूटकर नदी में बहा

-भ्रष्टचार की भैंट चढ़ा नदी पर बना पुल
-चार दिन में धंसक गया निर्माणाधीन पुल
-ईई ने एक माह पहले की थी साइट विजिट
-स्लैब न ढालने लिखित में दिए थे आदेश

शाहडोल

Published: June 22, 2022 06:41:02 pm

शहडोल. मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में बारिशें शुरु होने से ऐन पहले नदी पर बना एक पुल भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया। बता दें कि, यहां ईई ब्रिज कार्पोरेशन के लिखित आदेश के बाद भी मातहतों ने मनमानी की और निर्माणाधीन पुल का स्लैब ढाल दिया, जिसका परिणाम ये हुआ कि, चार दिन बाद ही स्लैब धंसककर नदी में जा गिरा। नदी में पानी का बहाव ज्यादा होने की वजह से ठेकेदार की कई निर्माण सामग्री भी बह गई। वहीं एक क्रेन भी नदी में समा गई।

News
भ्रष्टचार की भेंट चढ़ा नदी पर बना पुल, निर्माण के चार दिन बाद ही टूटकर नदी में बहा


आपको बता दें कि, ये घटना जिले के नवलपुर-धनगवां मार्ग में सोन नदी पर निर्माणाधीन पुल की है। जहां मंगलवार को चार दिन पहले ही ढाला गया पुल का स्लैब धंसक गया। बताया जा रहा है कि, 28 मई को ईई ब्रिज कार्पोरेशन ने साइट विजिट की थी। इस दौरान उन्होने स्लैब ढालने से मना किया था। ईई का कहना था कि, बारिश का रिस्क है। इस संबंध में उन्होने लिखित आदेश भी जारी किया था।

यह भी पढ़ें- पाइपलाइन बिछाते समय जमीन में धंसे दो मजदूर, 1 की मौत, दूसरे की हालत गंभीर


अधिकारी और ठेकेदार की मिलीभगत

इस बीच 30 मई को आदेश जारी करे वाले संबंधित अधिकारी का ट्रांसफर हो गया। बताया जा रहा है कि, ईई के ट्रांसफर के बाद विभागीय अधिकारी और ठेकेदार ने मिलीभगत करते हुए आनन-फानन में 16 जून को स्लैब ढलवा दिया, जिसके परिणाम स्वरूप मंगलवार की सुबह पूरा का पूरा स्लैब बीच नदी में गिर गया। हालांकि, इलाके के लोगों का कहना है कि, गनीमत ये रही कि, जो होना था वो निर्माण के बीच ही हो गया। क्योंकि, अगर यही हादसा पुल के शुरु होने के बाद होता, तो इसमें जान का नुकसान होने की भी संभावनाएं बढ़ जातीं।


निर्माण में इस्तेमाल होने वाला सामान भी बहा

आपको बता दें कि, पुल का स्लैब गिरने के कारण सिर्फ स्लैब का नुकसान ही नहीं हुआ, बल्कि इसके साथ ही, निर्माण कार्य में इस्तेमाल होने वाली मशीनरी के साथ साथ जरूरी सामग्री भी नदी में बह गई, जिसका खामियाजा ठेकेदार को मुगतना पड़ रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मीन राशि में वक्री होंगे गुरु, इन राशियों पर धन वर्षा होने के रहेंगे आसारइन राशियों के लोग काफी जल्दी बनते हैं धनवान, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानभाग्यवान होती हैं इन नाम की लड़कियां, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानऊंची किस्मत वाली होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, करियर में खूब पाती हैं सफलताधन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीweather update news..मौसम की भविष्यवाणी सटीक, कई जिलों में तूफानी हवा के साथ झमाझमस्कूल में 15 साल के लड़के से बनाए अननेचुरल संबंध, वीडियो भी बनाया

बड़ी खबरें

Maharashtra: ईडी ने शिवसेना नेता संजय राउत को फिर भेजा समन, जमीन घोटाले के मामले में 1 जुलाई को पेश होने के लिए कहाMaharashtra Political Crisis: अब महाराष्ट्र के NCP-कांग्रेस विधायकों पर बीजेपी की नजर! सांसद नासिर हुसैन ने किया बड़ा दावाहाईकोर्ट ने ब्यूरोक्रैसी को दिखाया आईना, कहा- नहीं आता जांच करना, सरकार को भी कठघरे में किया खड़ाIMD Rain Alert: एक हफ्ते तक बिहार, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल में भारी बारिश का पूर्वानुमानMukesh Ambani ने जियो के डायरेक्टर पद से दिया इस्तीफा, आकाश अंबानी बने चेयरमैनपीएम मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री को तोहफे में दिए खास बर्तन, जानिए जी-7 के दूसरे दोस्तों को क्या किया गिफ्ट?Maharashtra Political Crisis: शिवसेना के दावे को एकनाथ शिंदे ने नकारा, बोले-अगर आपके संपर्क में विधायक हैं तो उनके नाम का करें खुलासाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में नई सरकार की कवायद हुई तेज, दिल्ली में आज देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हो सकती है मुलाकात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.