बड़ी खबर: रीट परीक्षा में पास करवाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, रोजगार सेंटर व डिफेंस एकेडमी संचालक सहित तीन गिरफ्तार

राजस्थान के सीकर जिले में शिक्षक भर्ती परीक्षा रीट में पास करवाने की एवज में लाखों रुपए लेने वाले गिरोह का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है।

By: Sachin

Published: 24 Sep 2021, 03:15 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में शिक्षक भर्ती परीक्षा रीट में पास करवाने की एवज में लाखों रुपए लेने वाले गिरोह का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। आरोपी रानोली निवासी सुरेश यादव, अशोक मील तथा किशनपुरा निवासी हेमंत हैं। जो रीट का पेपर आउट करवाकर अभ्यर्थियों को पास करवाने की एवज में 7 से 15 लाख रुपए ले रहे थे। उद्योग नगर थानाधिकारी पवन चौबे ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी रीट परीक्षा में पास करवाने की एवज में कार सवार कुछ लोग रुपए की मांग कर रहे हैं। इस पर पुलिस ने मामले की पड़ताल कर आरोपियों को गुरुवार रात को देा अलग- अलग जगह से गिरफ्तार किया है। प्रारंभिक जांच में उनके एजेंट की भूमिका में काम करने की बात सामने आई है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर गिरोह के सरगना की तलाश में जुट गई है।

मोबाइल में मिले 50 प्रवेश पत्र, चेक से कर रहे थे लेन देन
उद्योग नगर थानाधिकारी पवन कुमार चौबे ने बताया कि आरोपियों के मोबाइल में परीक्षा के करीब 50 प्रवेश पत्र भी मिले हैं। आरोपियों ने परीक्षा पास करवाने की एवज में सात से 15 लाख रुपए में सौदा तय किये जाने की बात कबूली है। जिसकी राशि का लेन- देन चेक से किया गया है। कुल लेन- देन कितने रुपयों का हुआ है इसकी जांच की जा रही है।

रोजगार सेंटर, सोसायटी व डिफेंस एकेडमी संचालक
थानाधिकारी ने बताया कि आरोपी सुरेश यादव रोजगार सेंटर संचालक है। जो रानोली में महालक्ष्मी रोजगार सेंटर संचालित करता है। जबकि अशोक मील प्राइवेट कॉपरेटिव सोसायटी व हेमंत डिफेंस एकेडमी संचालक है। हेमंत को मिल्खा डिफेंस एकेडमी से गिरफ्तार किया गया है।

गर्म है अफवाहों का दौर
इधर, सीकर में रुपए लेकर रीट परीक्षा में पास करवाने की अफवाह का दौर लंबे समय से जारी है। पेपर आउट करने से लेेकर परीक्षा में नकल करवाने व ओमएमआर शीट बदलवाने के नाम पर 10 से 15 लाख रुपए लिए जाने की बातें आम चर्चा में है।

REEt 2021

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned