अखिलेश यादव ने किया खुलासा, बताया ट्रांसफर से पहले रामपुर जेल में क्या हुआ आजम खान के साथ

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को सीतापुर की जेल में बंदी सपा सांसद आजम खां, उनकी पत्नी डाॅ0 तंजीन फातिमा व अब्दुल्ला आजम से भेंटकर उनका हालचाल लिया तथा उन्हें अपने एवं पार्टी के समर्थन का भरोसा दिलाया।

By: Abhishek Gupta

Published: 27 Feb 2020, 08:19 PM IST

सीतापुर. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को सीतापुर की जेल में बंदी सपा सांसद आजम खां, उनकी पत्नी तंजीन फातिमा व अब्दुल्ला आजम से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना। उन्होंने उम्मीद जताई कि न्यायालय से जरूर न्याय मिलेगा। समाजवादी पार्टी हर दुःख दर्द में उनके साथ खड़ी रहेगी। अखिलेश यादव ने यह भी बताया कि कैसे आजम खान को रामपुर की जेल में रात को अपमानित किया गया। अखिलेश यादव के साथ राजेन्द्र चौधरी, इन्द्रजीत सरोज, नरेन्द्र वर्मा, अनिल वर्मा, राधेश्याम जायसवाल, अनूप गुप्ता, निर्मल वर्मा, रामपाल रघुवंशी, आनन्द भदौरिया, मनीष रावत भी मौजूद रहे। अखिलेश ने कहा कि आजम साहब ने दशकों लोकतंत्र के लिए संघर्ष किया है। आपातकाल में दो वर्ष तक उन्होंने जेल की यातना सही है। उन्होंने तालीम के क्षेत्र में मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय रामपुर में स्थापित कर ऐतिहासिक काम किया है।

ये भी पढ़ें- दिल्ली हिंसा के लिए मायावती ने अरविंद केजरीवाल से कहा यह, अखिलेश ने राष्ट्रपति से वार्ता के लिए मांगा समय

भाजपा सरकार संविधान को नहीं मानती-

अखिलेश यादव ने कहा कि मोहम्मद आजम खां के साथ भाजपा सरकार अन्याय कर रही है। वह बदले की भावना से काम कर रही है। आजम साहब को राजनीतिक षड़यंत्र के तहत फंसाया गया है। प्रशासन का जो रवैया है वह पूर्णतयः अनुचित है। सरकार में बैठे लोग रागद्वेष और पक्षपात से परे कर्तव्य पालन की शपथ लेते हैं, उनका आचरण भी तदुनसार होना चाहिए। भाजपा सरकार संविधान को नहीं मानती है।

कयामत वाले बयान पर बोले अखिलेश-

अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री को और सरकारों को अमर्यादित आचरण नहीं करना चाहिए। राष्ट्रवाद के नाम पर जो सत्ता में आए है, उन्हीं से राष्ट्र को खतरा उत्पन्न हो गया है। मुख्यमंत्री कहते हैं कयामत के दिन आने वाले नहीं है। वैसे उत्तर प्रदेश को तो पहले ही भाजपा ने कयामत के दरवाजे तक पहुंचा दिया है। भाजपा सरकार के रहते हुए उत्तर प्रदेश की खैर नहीं है।

ये भी पढ़ें- सीएम योगी कई मुख्यमंत्रियों के साथ खेलेंगे होली, ब्रज की होली को अंतरराष्ट्रीय बनाने की कोशिश जारी

आजम खां को सोने नहीं दिया-

उन्होंने बाद में पत्रकारों से वार्ता में कहा कि शासन द्वारा आजम साहब को अपमानित करने की नीयत से रामपुर कारागार में रात में सोने नहीं दिया। तीन बजे रात में जेल एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने मोहम्मद आजम खां को जेल से स्थानांतरण का आदेश दिया और चार बजे उन्हें रामपुर से सीतापुर जेल के लिए रवाना कर दिया। डाॅ0 तंजीन फातिमा की तबियत खराब है उन्हें भी परेशान किया गया।

BJP
Abhishek Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned