scriptपीएम एक्सीलेंस कॉलेज: दिल्ली आईआईटी से ऑनलाइन होगी एआई और एआई विथ फिनटेक की पढ़ाई | Patrika News
खास खबर

पीएम एक्सीलेंस कॉलेज: दिल्ली आईआईटी से ऑनलाइन होगी एआई और एआई विथ फिनटेक की पढ़ाई

विज्ञान व कला संकाय में नए पाठ्यक्रमों की सौगात, तीन प्रकोष्ठों के गठन के साथ मिलेगी बस सुविधा

शाहडोलJun 27, 2024 / 12:31 pm

Ramashankar mishra

शहडोल. पीएम एक्सीलेंस कॉलेज का दर्जा मिलने के बाद शासकीय महाविद्यालय बुढ़ार में आगामी 1 जुलाई को दीक्षारंभ कार्यक्रम का आयोजन होना है। इसे लेकर महाविद्यालय प्रबंधन आवश्यक तैयारी में जुटा है। शासकीय महाविद्यालय के पीएम एक्सीलेंस कॉलेज के रूप में उन्नयन होने के साथ ही यहां संसाधन व सुविधाओं में इजाफा हुआ है। साथ ही विद्यार्थियों के हितों को लेकर भी कई महत्वपर्ण कदम उठाए गए हैं। महाविद्यालय में दिल्ली आईआईटी से एआई (आर्टिफिसिएल इंटलीजेंस) व एआई विथ फिनटेक विषय पर ऑनलाइन अध्यापन की कार्ययोजना है। इस पाठ्यक्रम के लिए 20-20 सीट निर्धारित की गई है। इसके अलावा अलग-अलग संकायों में नए पाठ्यक्रम प्रारंभ किए गए हैं। साथ ही स्किल डेवलपमेंट को लेकर भी प्रयास किए जा रहे हैं।

तीन प्रकोष्ठ का गठन, विद्यावन का भी प्रस्ताव
महाविद्यालय में तीन प्रकोष्ठ का गठन किया जाएगा। इनमें भारतीय ज्ञान परंपरा प्रकोष्ठ, विवेकानंद युवा संसाधन प्रकोष्ठ व हिन्दी ग्रंथ एकेडमी प्रकोष्ट शामिल है। इसके अलावा कैम्पस में विद्यावन का प्रस्ताव है। विद्यावन के तहत महाविद्यालय के छात्र कैम्पस में चिन्हित स्थल में पौधरोपण करेंगे और उसके देखरेख की पूरी जिम्मेदारी उन्ही की होगी।

बसों का होगा संचालन, अन्य सुविधाएं बढ़ेंगी
दीक्षारंभ के साथ ही महाविद्यालय से विद्यार्थियों के आवागमन की सुविधा को ध्यान में रखते हुए दो बसों की संचालन प्रारंभ किया जाएगा। इसके अलावा कैम्पस में गार्डेन सहित अन्य सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। मेन गटे को सभी पीएम एक्सीलेंस कॉलेज की तर्ज पर एकरूपता प्रदान की जा रही है।

विद्यार्थियों के लिए नए पाठ्यक्रमों की सौगात
पीएम एक्सीलेंस कॉलेज बुढ़ार के नोडल मनोज कुजूर ने बताया कि महाविद्यालय में विद्यार्थियों के लिए नए पाठ्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। विज्ञान संकाय में कम्प्यूटर साइंस व बॉयोटेक्नॉलाजी से स्नातक पाठ्यक्रम, कला संकाय में संगीत व संस्कृत में स्नातक के साथ स्किल डेवलपमेंट को लेकर स्क्रिप कोर्स बी. कॉम इन रिटेल ऑपरेशन्स प्रारंभ किया गया है। इसके अलावा दो वर्षीय बीएड पाठ्यक्रम प्रारंभ करने की भी योजना है।

स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों को मिली स्वीकृति
महाविद्यालय में अभी तक जनभागीदारी मद से स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों का संचालन किया जा रहा था। इससे छात्र-छात्राओं को ज्यादा फीस देनी पड़ती थी। पीएम एक्सीलेंस कॉलेज के रूप में उन्नयन के साथ ही महाविद्यालय मैथ, फिजिक्स, बॉटनी सहित अन्य विषयों में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम की स्वीकृति प्रदान की गई है। साथ ही महाविद्यालय में 42 शैक्षणिक व 11 तृतीय व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के पद भी स्वीकृत किए गए हैं।
इनका कहना है
महाविद्यालय में दीक्षारंभ को लेकर तैयारी चल रही है। पीएम एक्सीलेंस का दर्जा मिलने से विद्यार्थियों के लिए सुविधाओं व संसाधनों में वृद्धि के साथ ही नए पाठ्यक्रमों की भी सौगात मिली है। इससे शैक्षणिक व्यवस्थाएं सुदृढ होंगी। महाविद्यालय में रंग रोगन, इन्फ्रास्ट्रक्चर सहित अन्य कार्य कराए जा रहे हैं।
डॉ. आशा अग्रवाल, प्राचार्य पीएम एक्सीलेंस कॉलेज बुढ़ार

Hindi News/ Special / पीएम एक्सीलेंस कॉलेज: दिल्ली आईआईटी से ऑनलाइन होगी एआई और एआई विथ फिनटेक की पढ़ाई

ट्रेंडिंग वीडियो