scriptcwg 2022 why wrestlers have weird ears and what is reason behind this | CWG 2022: कुश्ती करने वाले पहलवानों का कान टेढ़ा-मेढ़ा और सूजा हुआ क्यों होता है, कारण जानिए | Patrika News

CWG 2022: कुश्ती करने वाले पहलवानों का कान टेढ़ा-मेढ़ा और सूजा हुआ क्यों होता है, कारण जानिए

आपने देखा होगा कि पहलवानों के कान कुछ अलग तरह के होते हैं। किसी के कान में सूजन तो किसी के कान टेढ़े मेढ़े होते हैं। आप ने चीज हमेशा देखी होगी लेकिन इसके पीछे का कारण आप लोगों को शायद पता नहीं होगा। आइए हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देते हैं।

नई दिल्ली

Published: August 06, 2022 02:04:32 pm

commonwealth games 2022 कुश्ती में इस समय भारत जलवा चल रहा है। भारत के तीन पहलवान गोल्ड जीत चुके हैं। कुश्ती में मेडल लाना कोई आसान बात नहीं है। खासतौर पर फ्रीस्टाइल में तो बहुत मुश्किल होता है। पहलवानी करना भी कोई आम बात नहीं। कई सालों की मेहनत के बाद ही ये काम हो पाता है। आपने एक चीज गौर की होगी कि पहलवानों के कान थोड़ा अलग दिखते हैं। हालांकि उनके शरीर की बनावट ही कुछ अलग होगी है लेकिन कान वाला हिस्सा अलग पहचाना जाता है। उनका कान टेढ़ा-मेढ़ा और सूजा हुआ होत है। किसी के कान की हड्डी भी टूटी हुई रहती है। आपने ये चीज नोटिस की होगी लेकिन इसके पीछे का कारण आपको पता नहीं होगा। आइए हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देंगे।
cwg 2022 why wrestlers have weird ears and what is reason behind this
पहलवानों की कान टेढ़े-मेढ़े होने का कारण

जानिए इसका मुख्य कारण?


आपको बता दें कि पहलवानों के कान की हड्डी टूटी या फिरे टेढ़ी-मेढ़ी खुद से नहीं की जाती है। ये चीज खुद से हो जाती है। ये एक अलग तरह की प्रक्रिया होती है। जब हम कुछ मेहनत का काम करते हैं तो हमारे शरीर का तापमान बढ़ जाता है। एक अलग स्तर पर ये पहुंच जाता है। कान के पास जो रक्त कोशिकाएं होती है वो बहुत ही नाजुक होती है।
रेसलर जब पहला दांव लगता है तो वो सबसे पहले गर्दन से ऊपर को हाथ डालता है। इस दौरान शरीर का तापमान बढ़ा होता है। कान पर जब किसी का हाथ उस दौरान लगता है तो फिर रक्त कोशिकाएं अपने आप धीरे-धीरे फटने लग जाताी है। यहां तक की हड्डी भी टूट जाती है।

इसके बाद कान में धीरे-धीरे खून भर जाता है और उसकी बनावट कुछ अलग हो जाती है। कोई भी रेसलर इसका ईलाज नहीं कराता है। ईलान कराने के बाद और भी दिक्कत होती है। रेसलर को ऐसे ही बहुत फायदा होता है क्योंकि उन्हें बाद में कोई दिक्कत नहीं होती है। आपको बता दें इसे कॉलीफ्लॉवर ईयर नाम दिया गया है, यानी गोभी के फूल जैसा कान हो जाता है।

यह भी पढ़ें

CWG 2022: 10 सेकंड में मैच पलटकर साक्षी मलिक ने कुश्ती में भारत को दिलाया गोल्ड


बचने का उपाय

आजकल कुश्ती के नियमों में बहुत बदलाव कर दिए गए है। रेसलर्स को कम चोट आई और उसे खतरा ना हो, इसके लिए कई नई चीजें आ गई है। आजकल आपने देखा होगा कि पहलवान कानों पर हेडगियर पहनते हैं। ये कान को बचाने के लिए पहना जाता है।

दरअसल ये हेडगियर प्‍लास्‍ट‍िक के बने होते हैं। ये कानों को बहुत अच्छे से कवर करते हैं। अगर आप इसे गौर से देखेंगे तो आपके लगेगा को ये सिर को बचाने के लिए पहना जाता है लेेकिन ऐसा नहीं है। ये कान की सुरक्षा के लिए प्रयोग में लाया जाता है।

यह भी पढ़ें

CWG 2022: दीपक पूनिया ने पाकिस्तानी पहलवान को पटक कर जीता गोल्ड

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगारIndependence Day 2022 : अगले 25 सालों का क्या है प्लान, पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातेंस्वतंत्रता दिवस के मौके पर लेह पहुंचे मनोज तिवारी और निरहुआ, जवानों को परोसा खानाIndependence Day 2022: लाल किले पर बना नया रिकार्ड, पहली बार मेड इन इंडिया तोप ने दी सलामी, जानें इसके बारे मेंHar Ghar Trianga Campaign में 30 करोड़ से ज्यादा के झंडे बिके, CAIT ने बताया इतने करोड़ का हुआ कारोबारIndependence Day 2022: मोहन भागवत ने RSS मुख्यालय में फहराया तिरंगा, बोले-देश को क्या दे रहे हैं यह सोचकर जीने की जरूरत38 साल पहले शहीद हुए लांसनायक चंद्रशेखर का पार्थिव शरीर आज पहुंचेगा घर, राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कारसिद्धू मूसेवाला के पिता का बड़ा बयान, कहा-' जिन्होंने किया भाई होने का दावा वहीं निकले बेटे के हत्यारे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.