भारतीय एथलीट ओलंपिक क्वालीफायर विश्व रिले में नहीं ले पाएंगे भाग, जानिए वजह

भारतीय एथलीट टीम को ओलंपिक क्वालीफायर विश्व रिले में भाग लेने के लिए एम्सटर्डम रवाना होना था

By: Mahendra Yadav

Published: 29 Apr 2021, 04:19 PM IST

पूरा विश्व कोरोना के कहर से जूझ रहा है। ऐसे में कई देशों ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर कुछ समय के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। नीदरलैंडस की सरकार ने भी भारत से आने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसकी वजह से अब भारतीय एथलीटों की टीम पोलैंड में एक और दो मई को होने वाली ओलंपिक क्वालीफाईंग विश्व एथलेटिक्स रिले में भाग नहीं ले पाएगी। बता देें कि भारतीय एथलीट टीम को ओलंपिक क्वालीफायर विश्व रिले में भाग लेने के लिए एम्सटर्डम रवाना होना था, लेकिन भारत में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण रॉयल डच एयरलाइन्स (केएलएम) ने भारतीय उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

इन टीमों को जाना था पोलैंड
बता दें कि भारत की महिला चार गुणा 100 मीटर और पुरुष चार गुणा 400 मीटर दौड़ रिले टीमों को एक और दो मई को पोलैंड में होने वाले विश्व रिले में भाग लेने के लिए एम्सटर्डम के रास्ते पोलैंड रवाना था। केएलएम ने भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) को बताया था कि भारत में बढ़ते कोरोना के मामले के कारण नीदरलैंडस की सरकार ने मुंबई से आने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है, इसलिए भारतीय एथलीट यात्रा नहीं कर सकते।

यह भी पढ़ें— महिला हॉकी टीम पर भी कोरोना का साया: कप्तान सहित 7 खिलाड़ी कोरोना संक्रमित

तलाश रहे हैं विकल्प
एएफआई अध्यक्ष आदिले सुमरिवाला ने कहा कि वे इस समय बहुत निराश हैं। भारत से पोलैंड के बीच कोई सीधी उड़ान नहीं है। कई प्रयासों के बावजूद दूसरी उड़ान से टीम को भेजा नहीं जा सकता। पिछले 24 घंटे से हम विकल्प तलाश रहे हैं। आयोजकों, विश्व एथलेटिक्स, विभिन्न वाणिज्य दूतावासों से लगातार बात कर रहे हैं। लेकिन कहीं से कुछ नहीं हो सका। बता दें कि महिला टीम में हिमा दास और दुती चंद के अलावा एस धनलक्ष्मी, अर्चना सुसींद्रन, हिमाश्री रॉय और ए टी दानेश्वरी शामिल थीं। भारत को चार गुणा 400 मीटर पुरुष रिले में भी भाग लेना था।

यह भी पढ़ें— टोक्यो ओलंपिकः मशाल रिले में कोरोना से जुड़ा पहला मामला आया सामने

प्रतिदिन होगा एथलीटों का कोरोना टेस्ट
इंटरनेशनल ओलंपिक समिति (आईओसी) और जापानी आयोजक टोक्यो ओलंपिक के दौरान प्रतिदिन एथलीटों का कोरोना टेस्ट करने पर सहमत हो गए हैं। यह फैसला आईओसी, टोक्यो आयोजक, जापानी सरकार और अंतरराष्ट्रीय पैरालंपिक समिति के बीच हुई बैठक के बाद लिया गया है। बैठक के बाद आईओसी ने एक बयान में कहा कि एथलीटों और एथलीटों के साथ निकटता वाले सभी लोगों का प्रतिदिन कोरोना टेस्ट किया जाएगा।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned