राजस्थान का रण : जिन बूथों ने दिया बंपर वोट, उनकी हकीकत जानकर रह जायेंगे हैरान

राजस्थान का रण : जिन बूथों ने दिया बंपर वोट, उनकी हकीकत जानकर रह जायेंगे हैरान

Mahendar Singh Shekhawat | Publish: Sep, 04 2018 01:24:49 PM (IST) Sri Ganganagar, Rajasthan, India

इस बार भी बूथ मैनेजमेंट पर जोर

श्रीगंगानगर. विधानसभा चुनाव में ज्यादातर मतदाता इसी उम्मीद में अपना प्रतिनिधि चुनते हैं कि वह उनके बीच आएगा, उनकी पीड़ा सुनेगा, समस्याएं दूर करेगा। लेकिन पिछले चुनाव में वोटों और काम का गणित देखें तो जनता की उम्मीदें धराशायी ही हुई हैं। पक्ष हो या विपक्ष, कई बूथों पर थोक में वोट मिलने के बावजूद जीतने के बाद विधायकों ने मतदाताओं की सुध नहीं ली। जो हार गए, वे तो पलटकर आए ही नहीं। जो जीते, उन्होंने भी सूरत दिखाने में कंजूसी ही बरती।
'पत्रिका' ने ऐसे कई बूथ क्षेत्रों की पड़ताल की, जहां 2013 के चुनाव में जीत का अन्तर बहुत बड़ा रहा। मतदाताओं ने प्रत्याशी को भरपूर वोट दिए। इन बूथों के इलाकों के लोगों का कहना है कि जहां कांग्रेस को वोट दिए, विकास कार्य होने की उम्मीद वैसे भी नहीं थी। जहां भाजपा को वोट दिए, वहां भी काम उम्मीदों के मुताबिक नहीं हुए।

वे बूथ, जहां कांग्रेस को मिले अधिक वोट

स्थिति : कांग्रेस के पक्ष में जमकर वोटिंग हुई मगर कांग्रेस प्रत्याशी गुरमीत सिंह कुन्नर चुनाव नहीं जीत पाए। जीत भाजपा के सुरेन्द्रपाल सिंह टीटी की हुई, जो सरकार में ं मंत्री बने। यह इलाका दलित समुदाय इलाके में ऐसे में है। यहां कांग्रेस का दबदबा अधिक होने के कारण कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में अधिक वोट पड़े।
मतदान केन्द्र : 71
कांग्रेस को मिले वोट 759
मुद्दा : खराब सड़कें

 

विधानसभा क्षेत्र : श्रीकरणपुर
स्थिति : श्रीकरणपुर कस्बे के वार्ड एक में यह बूथ सरकारी स्कूल में आता है। वाल्मीकि समाज बहुल क्षेत्र होने के कारण कांग्रेस का वोट बेँक माना जाता है, पिछले चुनाव में भी यहां कांग्र्रेस प्रत्याशी कुन्नर के पक्ष में एकतरफा वोट पड़े। लेकिन कुन्नर जीत दर्ज नहीं करवा पाए तो यहां विकास कार्य अटका हुआ है।
मतदान केन्द्र : 74
कांग्रेस को मिले वोट 859
मुद्दा : स्वच्छ पानी की आपूर्ति नहींं


विधानसभा क्षेत्र : श्रीकरणपुर
]स्थिति : श्रीकरणपुर कस्बे के वार्ड एक में यह बूथ सरकारी स्कूल में आता है। वाल्मीकि समाज बहुल क्षेत्र होने के कारण कांग्रेस का वोट बेँक माना जाता है, पिछले चुनाव में भी यहां कांग्र्रेस प्रत्याशी कुन्नर के पक्ष में एकतरफा वोट पड़े। लेकिन कुन्नर जीत दर्ज नहीं करवा पाए तो यहां विकास कार्य अटका हुआ है।
मतदान केन्द्र : 70
कांग्रेस को मिले वोट 623

मुद्दा : अटकी सीवरेज लाइन

 

 


विधानसभा क्षेत्र : श्रीकरणपुर
स्थिति : दलपतसिंहपुरा गांव के इस बूथ पर हर चुनाव में कांग्रेस को बढ़त मिलती आई है। मतदाताओं का रुझान कांग्रेस प्रत्याशी की ओर ही रहा। हालांकि चुनाव में भाजपा के टीटी जीते। वे कांग्रेस के मतों में सेंध लगाने में नाकाम रहे। स्थानीय लोगों की मानें तो पिछले 5 साल में भाजपा सरकार ने गांव पर ध्यान नहीं दिया।
मतदान केन्द्र : 30
कांग्रेस को मिले वोट 589

मुद्दा : किसानों की समस्या


विधानसभा क्षेत्र : सादुलशहर
स्थिति : इस क्षेत्र में कांग्रेस और भाजपा के बीच कांटेदार मुकाबला देखने को मिला है। इस बूथ पर ज्यादातर मतदाताओं का रुझान कांग्रेस की तरफ रहा है। लेकिन भाजपा के गुरजंट सिंह बराड़ विधायक चुने गए। वहां विकास कार्य की जितनी उम्मीद थी उतना नहीं हो पाया। सीएचसी में चिकित्सक कम है।
मतदान केन्द्र : 127
कांग्रेस को मिले वोट570

 

वे बूथ, जहां कांग्रेस को मिले अधिक वोट
उन बूथों पर फोकस है, जहां हम पिछड़े थे। जहां हम आगे थे, वहां भी विशेष ध्यान है। मतदान अधिकाधिक कराने का प्रयास करेंगे। हर बूथ पर पांच कार्यकर्ता तैनात होंगे।
संतोष सहारण,जिलाध्यक्ष कांग्रेस

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

 

वे बूथ, जहां भाजपा को मिले अधिक वोट

 


विधानसभा क्षेत्र : सूरतगढ़
स्थिति : बीरमाना गांव में चार साल पहले इंडोर स्टेडियम की घोषणा हुई लेकिन आज तक निर्माण नहीं हो पाया है। हालांकि भाजपा ने यहां पेयजल की लंबे से चल रही समस्या का निराकरण करवाया है। भाजपा को उनके बूथ पर मिले वोटों के मुकाबले काम कम हुआ। कृषि उपज मंडी का निर्माण
भी अटका है।
मतदान केन्द्र : 204
भाजपा को मिले वोट 755

मुद्दा : इंडोर स्टेडियम


विधानसभा क्षेत्र : सूरतगढ़
स्थिति : चक 6 डी डब्ल्यूएम में इस बूथ एरिया में भाजपा के राजेन्द्र भादू को अधिक फायदा हुआ। लेकिन बढ़ती बिजली की दरों ने ग्रामीणों के मंसूबों पर पानी फेर दिया। ग्रामीणों ने बिजली की दरों में कमी लाने के लिए विधायक भादू को व्यक्तिगत अवगत कराया लेकिन समस्या ज्यो ंकी त्यों है। बिजली आपूर्ति भी कम रहती है।
मतदान केन्द्र : 203
भाजपा को मिले वोट724


मुद्दा : महंगी बिजली, आपूर्ति भी कम ंं

 

-------------------
विधानसभा क्षेत्र : सूरतगढ़
स्थिति : सूरतगढ़ शहर के मुंसिफ कोर्ट बार संघ भवन में इस बूथ पर भाजपा की एक तरफा पोलिंग हुई, तब मोदी लहर का फायदा भाजपा को खूब मिला। लेकिन इस क्षेत्र में सीवरेज लाइन का अटका काम अब सिर दर्द बन चुका है। अधिवक्ताओं का कहना है कि बदलते समीकरण में इस बार भाजपाा के प्रति मोहभंग हो रहा है।

मतदान केन्द्र : 203
भाजपा को मिले वोट 724

विधानसभा क्षेत्र : श्रीकरणपुर
स्थिति : कांग्रेस के गढ़ में इस बूथ पर भाजपा प्रत्याशी ने सेंध लगाते हुए अधिक वोट हासिल किए। दलित समुदाय के एक वर्ग को टीटी समर्थक साधने में सफल हुए तो वोट कांग्रेस के बजाय भाजपा के पाले में आ गए। टीटी मंत्री बने लेकिन यहां की जर्जर सड़कों की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया।
मतदान केन्द्र : 75
भाजपा को मिले वोट 660

 


विधानसभा क्षेत्र :सूरतगढ़


स्थिति : राजियासर स्टेशन के इस क्षेत्र में लंबी दूरी की ट्रेनें नहीं रुकती। इस कारण आसपास की दुकानदारी प्रभावित हो गई है। किसानों के मालिकाना हक का मुद़्दा अब कांग्रेस ने अधिक उठाया है। किसानों की समस्याओं को लेकर धरने प्रदर्शन तक हो चुके। ऐसे में भाजपा की मुश्किलें बढऩे वाली है।
मतदान केन्द्र : 212

भाजपा को मिले वोट660

 

 

पिछले चुनाव में मिले वोट के आधार पर हमने बूथों की ग्रेडिंग की है। कमजोर बूथों को मजबूत करने पर विशेष फोकस है। हर बूथ पर इक्कीस सदस्यीय कमेटी बना रखी है।
हरीसिंह कामरा, जिलाध्यक्ष भाजपा
विधानसभा क्षेत्र : श्रीकरणपुर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned