scriptNCW to Maharashtra police Don't act on basis of political revenge | महाराष्ट्र पुलिस को NCW ने लगाई फटकार, कहा- 'राजनीतिक प्रतिशोध' के आधार पर कार्रवाई न करें | Patrika News

महाराष्ट्र पुलिस को NCW ने लगाई फटकार, कहा- 'राजनीतिक प्रतिशोध' के आधार पर कार्रवाई न करें

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार के बारे में सोशल मीडिया पर कथित आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर मराठी अभिनेत्री केतकी चिताले की गिरफ्तारी के खिलाफ राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने शुक्रवार को सुनवाई की. इस दौरान एनसीडब्ल्यू ने पुलिस को राजनीतिक प्रतिशोध नहीं बल्कि कानून के तहत कार्य करने की हिदायत दी है।

मुंबई

Published: June 18, 2022 09:33:13 am

मुंबई: राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) ने महाराष्ट्र पुलिस को राजनीतिक प्रतिशोध के आधार पर एक्शन नहीं लेने की हिदायत दी है। एनसीडब्ल्यू ने यह बात राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार के बारे में सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर गिरफ्तार मराठी अभिनेत्री केतकी चिताले के मामले की सुनवाई के दौरान कही है। इस मामले की सुनवाई की अध्यक्षता एनसीडब्ल्यू की अध्यक्ष रेखा शर्मा कर रहीं है।
Ketaki Chitale
Ketaki Chitale
मराठी अभिनेत्री केतकी चिताले की एक पोस्ट के चलते उनकी गिरफ्तारी के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग ने महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक को व्यक्तिगत रूप से आयोग के समक्ष पेश होने के लिए नोटिस जारी किया था। हालांकि कल सुनवाई के दौरान महाराष्ट्र पुलिस प्रमुख की ओर से विशेष महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) मिलिंद भारम्बे आयोग के सामने पेश हुए।
यह भी पढ़ें

Maharashtra MLC Elections: एमवीए को बड़ा झटका, बॉम्बे हाईकोर्ट ने नवाब मलिक और अनिल देशमुख को नहीं दी वोटिंग की अनुमति

एनसीडब्ल्यू ने सुनवाई के दौरान कहा कि पुलिस को ‘राजनीतिक बदला’ को आधार बनाकर काम नहीं करना चाहिए था। साथ ही आयोग ने पूछा कि केतकी चिताले के खिलाफ दर्ज एफआईआर में मानहानि का प्रावधान क्यों किया गया है और इसका शिकायतकर्ता कौन था? एनसीडब्ल्यू महाराष्ट्र पुलिस प्रमुख का पक्ष रखने आये पुलिस अधिकारी से जानना चाहा कि केतकी वाले पोस्ट को पहले ही कई लोगों शेयर कर चुके थे, लेकिन कार्रवाई केवल केतकी के खिलाफ ही क्यों की गई।
एनसीडब्ल्यू ने साथ ही मराठी अभिनेत्री की गिरफ्तारी को लेकर उचित कानूनी प्रक्रिया का पालन नहीं करने की भी बात कही। आयोग ने कहा, “सीआरपीसी की धारा 41ए के तहत, पुलिस को गिरफ्तारी से पहले आरोपी को नोटिस देना होता है और असंज्ञेय मामलों में मजिस्ट्रेट से पहले अनुमति लेनी होती है। हालांकि, पुलिस कानून के इस अनिवार्य प्रावधान का पालन करने में विफल रही।’’
सुनवाई के दौरान राष्ट्रीय महिला आयोग ने पुलिस स्टेशन के बाहर केतकी पर हमला करने वाली एनसीपी की महिला नेताओं के खिलाफ भी कार्रवाई जानकारी मांगी। केतकी के खिलाफ दर्ज एफआईआर में निरस्त हो चूकी आईटी अधिनियम की धारा 66 ए को जोड़ने को लेकर भी आयोग ने महाराष्ट्र पुलिस से जवाब मांगा। एनसीडब्ल्यू ने मामले को अगली कार्रवाई तक के लिए स्थगित कर दिया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएम, देवेंद्र फडणवीस ने किया ऐलानMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!Maharashtra: एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के नए सीएम, आज शाम होगा शपथ ग्रहण समारोहमहाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के बने सीएम, देवेंद्र फडणवीस ने ली डिप्टी सीएम पद की शपथ'इज ऑफ डूइंग बिजनेस' के मामले में 7 राज्यों ने किया बढ़िया प्रदर्शन, जानें किस राज्य ने हासिल किया पहला रैंक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.