scriptबरीघाट में एक फीट बड़ा जलस्तर, नए संयंत्र के पाइप से अब भी पानी दूर | Patrika News
टीकमगढ़

बरीघाट में एक फीट बड़ा जलस्तर, नए संयंत्र के पाइप से अब भी पानी दूर

तीन दिन चलेगा पानी, कलेक्टर ने टीम को दिए क्योलारी तक निरीक्षण के निर्देश टीकमगढ़. दो दिन का सफर पूरा कर शुक्रवार की सुबह 5.30 बजे क्योलारी बांध का पानी बरीघाट पहुंच गया। यहां पर पानी का भराव शुरू हो गया है। शाम 6 बजे तक बरीघाट में एक फीट जलस्तर बढ़ गया है। बताया […]

टीकमगढ़Jun 15, 2024 / 06:20 pm

हामिद खान

टीकमगढ़. जल संयंत्र का निरीक्षण करते जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी।

टीकमगढ़. जल संयंत्र का निरीक्षण करते जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी।

तीन दिन चलेगा पानी, कलेक्टर ने टीम को दिए क्योलारी तक निरीक्षण के निर्देश

टीकमगढ़. दो दिन का सफर पूरा कर शुक्रवार की सुबह 5.30 बजे क्योलारी बांध का पानी बरीघाट पहुंच गया। यहां पर पानी का भराव शुरू हो गया है। शाम 6 बजे तक बरीघाट में एक फीट जलस्तर बढ़ गया है। बताया जा रहा है कि नदी से पानी की आवक तीन दिन तक जारी रहेगी। वहीं नगर पालिका और प्रशासन की टीम ने क्योलारी से बरीघाट तक नजर रखना शुरू कर दिया है।
12 जून की रात को क्योलारी बांध से पानी छोडऩ के बाद शुक्रवार को वह बरीघाट पहुंच गया। पेयजल प्रभारी अनिल श्रीवास्तव ने बताया कि सुबह 5.30 बजे पानी बरीघाट पहुंच गया था और यहां पर भराव शुरू हो गया था।
सूख चुके बांध की तलहटी में भी अब पानी हिलोरे मारने लगा है। शाम 6 बजे तक बरीघाट का जलस्तर 1 फीट ऊपर आ गया था, जबकि नवीन जलावर्धन योजना के पाइप पानी से ऊपर बने हुए थे। श्रीवास्तव का कहना था कि नदी में अच्छा बहाव है और तीन दिन तक पानी आता रहेगा।
इसके बाद यह बांध पूरा भर जाएगा। उनका कहना था कि अब एक माह तक पानी की कोई कमी नहीं होगी।
जनप्रतिनिधियों ने किया निरीक्षण
बरीघाट में पानी पहुचने की सूचना के बाद विधायक यादवेंद्र ङ्क्षसह बुंदेला, कांग्रेस प्रदेश सचिव संजय नायक सहित नगर पालिका के पार्षद एवं सीएमओ गीता मांझी भी बरीघाट पहुंची। यहां पर सभी ने बरीघाट पहुंचे पानी को देखने के साथ ही जल संयंत्र का निरीक्षण किया। पानी आने के बाद पुरानी योजना के पाइप से जल संयंत्र में पानी पहुंचना शुरू हो गया है, जबकि नए संयंत्र में पनडुब्बी की सहायता से पानी भेजा जा रहा है। यहां पर विधायक बुंदेला ने नपा कर्मचारियों को पानी का ठीक से ट्रीटमेंट कर सप्लाई करने के निर्देश दिए है।
टीम क्योलारी रवाना
पूरी रात पानी के साथ चलने वाली टीम को अब कलेक्टर ने फिर से क्योलारी तक के लिए रवाना किया है। यह टीम पूरी नदी का मुआयना करेगी। उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश के एरिया में कोई भी खेती के लिए पानी न ले इस पर नजर रखी जाएगी। साथ ही नदी का जलस्तर भी पता किया जाएगा। उनका कहना था कि यदि कही लगेगा कि अब भी पानी की जरूरत है या धार कमजोर हो रही है तो शेष पानी को छोडऩे के लिए कहा जाएगा।

Hindi News/ Tikamgarh / बरीघाट में एक फीट बड़ा जलस्तर, नए संयंत्र के पाइप से अब भी पानी दूर

ट्रेंडिंग वीडियो