scriptइस हादसे की वजह से हर फिल्म में एक ही लुक में नजर आते हैं एक्टर राजेन्द्रन, शरीर पर नहीं बचा एक भी बाल | south actor motta rajendran and his unique look | Patrika News

इस हादसे की वजह से हर फिल्म में एक ही लुक में नजर आते हैं एक्टर राजेन्द्रन, शरीर पर नहीं बचा एक भी बाल

locationनई दिल्लीPublished: Nov 16, 2021 12:57:46 pm

Submitted by:

Satyam Singhai

साउथ फिल्मों में विलेन के किरदार में नजर आने वाले मशहूर एक्टर राजेन्द्रन अपने यूनिक लुक के लिए जाने जाते हैं। 1 जून, 1957 को तमिलनाडु के थोत्तुकुडी में जन्मे राजेन्द्रन का पूरा नाम मोट्टा राजेन्द्रन है। वो साउथ की करीब 500 फिल्मों में बतौर स्टंटमैन काम कर चुके हैं। हालांकि एक गंभीर हादसे की वजह से उनके शरीर पर एक भी बाल नहीं बचा था।

south actor motta rajendran and his unique look

इस हादसे की वजह से हर फिल्म में एक ही लुक में नजर आते हैं एक्टर राजेन्द्रन, शरीर पर नहीं बचा एक भी बाल

राजेंद्रन ने करियर की शुरुआत 1992 में आई फिल्म अमारन से की थी। हालांकि इसमें उन्हें क्रेडिट नहीं दिया गया था। राजेन्द्रन दिखने में भी आम लोगों से बिल्कुल अलग हैं। दरअसल, उनके शरीर पर एक भी बाल नहीं बचा है। ऐसा जन्म से नहीं है, बल्कि इससे यह एक घटना की वजह से हुआ है।
एक मलयालम फिल्म की शूटिंग के दौरान कलपेट्टा में राजेन्द्रन को स्टंट करते हुए बाइक के साथ पानी में छलांग लगानी थी। हालांकि बाद में पता चला कि जिस पानी में वो कूदे थे, उसमें किसी कंपनी ने केमिकल वेस्ट मिलाया हुआ था।
यह भी पढ़ें कभी सलमान खान की गाड़ी के पीछे भागता था ये एक्टर, आज मलयालम फिल्मों का है बड़ा नाम

इस केमिकल वाले पानी में कूदने की वजह से उनके शरीर में एलर्जिक रिएक्शन हो गया, जिससे पूरी बॉडी में एक भी बाल नहीं बचा। उनके शरीर के सारे बाल जल गए। इतना ही नहीं उनकी भौंहे और सिर के बाल भी पूरी तरह से उड़ गए।
राजेंद्रन ने 2003 में फिल्म ‘पितामगन’ में छोटा सा रोल किया था। हालांकि केमिकल वाले हादसे के बाद राजेंद्रन का लुक विलेन की तरह लगने लगा और उन्हें साउथ इंडस्ट्री में एक नई पहचान मिली। 2009 में आई फिल्म ‘नान कडावुल’ में उन्होंने विलेन का किरदार प्ले किया था।
यह भी पढ़ें 11 साल के संघर्ष के बाद मिला था रवि तेजा को लीड रोल, कभी ड्रग्स तो कभी सबसे ज्यादा फीस लेकर रहे चर्चा में

resize-16370476211950223993mottairajendranagewikibiographyandheight.jpg
दरअसल, राजेन्द्रन का गंजा सिर, पतला शरीर और डार्क कॉम्प्लेक्शन (गहरा रंग) विलेन के साथ-साथ बेहतरीन कॉमेडियन के तौर पर भी मदद करता है। बता दें कि राजेन्द्रन के पिता अरुणाचलम भी साउथ के पॉपुलर स्टंटमैन रह चुके हैं। उन्होंने एमजीआर और शिवाजी गणेशन के साथ कई फिल्मों में काम किया है।
राजेन्द्रन ने बॉलीवुड फिल्म ‘इंसान’ में भी काम किया है। हालांकि इसमें उनका छोटा रोल ही था। इसमें अक्षय कुमार और अजय देवगन भी थे। केमिकल वाले हादसे के बाद उन्हें एक डिसऑर्डर हो गया, जिसका नाम है एलोपीसिया यूनिवर्सेलिस। यह एक ऐसा डिसऑर्डर है, जिसमें शरीर के सारे बाल झड़ जाते हैं और नए बाल भी नहीं आते।
राजेंद्रन ने 500 से भी ज्यादा साउथ फिल्मों में बॉडी डबल और बतौर स्टंटमैन काम किया। हालांकि बाद में वो एक्टिंग की दुनिया में आ गए। इस दौरान उन्होंने विलेन से लेकर कॉमेडियन तक के रोल निभाए।
राजेंद्रन ने जेंटलमैन, थलाइमगन, नान कडावुल, बॉस एंगिरा भास्करन, थम्बी अर्जुन, अम्बुली, राजा रानी, थिरुदन पुलिस, कंचना 2, मास, नानुम राउडीधान, वेदालम, थेरी, रेमो, भैरवा, मर्सेल, वीरा, नेत्रा, गोरिल्ला और जैकपॉट जैसी फिल्मों में काम किया है।
loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो