भारती सिंह का छलका दर्द, बताया- गरीबी में गुजरे दिन, नमक से खाते थे रोटी

By: पवन राणा
| Published: 18 Jul 2021, 08:05 PM IST
भारती सिंह का छलका दर्द, बताया- गरीबी में गुजरे दिन, नमक से खाते थे रोटी

कॉमेडियन भारती सिंह ने मनीष पॉल के पॉडकास्ट में उन दिनों का जिक्र किया है जब उनके परिवार की हालात दयनीय थी। वे बताती हैं कि कई बार घर में खाने के लिए कुछ नहीं होताा था। दाल या सब्जी न होने के चलते रोटी को नमक से खाना पड़ता था।

मुंबई। कॉमेडियन भारती सिंह की अदाकारी से सजा कॉमेडी शो 'द कपिल शर्मा' जल्द टीवी पर वापसी करने वाला है। इसमें पुरानी के साथ सुदेश लहरी भी नजर आ सकते हैं। इसी बीच भारती ने एक्टर-कॉमेडियन मनीष पॉल से उनके पॉडकास्ट में शिरकत की और अपने जीवन से जुड़े अनसुने किस्से बताए। भारती ने बताया कि आज के हालात के उलट बचपन में उन्हें काफी गरीबी को देखा। ऐसा वक्त भी था जब उन्हें बिना सब्जी के केवल नमक से रोटी खानी पड़ती थी। मां और भाई-बहन घर चलाने के लिए छोटे-मोटे काम करते थे।

'नमक से खानी पड़ती थी रोटी'
मनीष पॉल ने अपना पॉडकास्ट सीरीज शुरू की है और इसकी शुरूआत भारती सिंह से की। इस पॉडकास्ट में भारती ने बताया कि उनका बचपन तंगहाली में गुजरा था। कभी कभार घर में खाने को कुछ नहीं होता था। उन्होंने नमक से खानी पड़ती थी रोटी, लेकिन अब दाल, सब्जी और रोटी है। उनका कहना है कि अब उनके परिवार के लिए हमेशा खाने के लिए दाल तो अवश्य होगी ही। वे प्रार्थना करती हैं कि दोबारा कभी वैसी स्थिति से नहीं गुजरना पड़े। जो कुछ अभी उनके पास है, ईश्वर उसे बनाए रखे।

यह भी पढ़ें : भारती सिंह ने 11 साल तक कपिल शर्मा से हर्ष लिंबाचिया के साथ रिलेशनशिप को छिपाए रखा

दूसरों के घर खाना बनाती थी मां
भारती ने बताया कि गरीबी के दिनों में मां को दूसरों के घर खाना बनाते देखा। भाई एक दुकान पर काम करता तो बहन और मां एक फैक्ट्री में कंबल सिलने का काम करती थीं। उनकी मां माता रानी के दुपट्टे सिलकर भी थोड़ा पैसा कमा लिया करती थीं। उस सिलाई मशीन की आवाज में वह 21 साल तक रहीं हैं। लेकिन अब वहां वापस नहीं जाना चाहती हैं। भारती ने कहा कि उस समय दोस्तों के साथ कॉलेज और हॉस्टल ही रूक जाने का मन करता था, क्योंकि वहां वह खाना खाने की उम्मीद देखती थीं। वे जानती थीं कि अगर घर गईं तो वही गरीबी उनको देखनी पड़ेगी।

यह भी पढ़ें : भारती सिंह की आपबीती, कहा- इवेंट कॉर्डिनेटर्स गलत ढंग से छूते थे, विरोध करने की हिम्मत नहीं थी

ऐसे बदले दिन
भारती ने मनीष पॉल से बातचीत में बताया कि कई बार ऐसा होता था कि दुकानदार उधारी वसूलने के लिए घर तक चले आते थे। वे मां के साथ गलत व्यवहार करते थे। एक ने तो मां के कंधे पर हाथ भी रख दिया था। हालांकि जब भारती ने एंटरटेनमेंट जगत में एंट्री ली, तो पीछे मुड़कर नहीं देखा। अब वे करीब-करीब हर भारतीय कॉमेडी शो का हिस्सा बन चुकी हैं। हर्ष लिंबाचिया से शादी कर वे बहुत खुश हैं और पति के प्यार की तारीफ करती नहीं थकती हैं।