सरकार के प्रयासों से बढ़ी कालेज शिक्षा में छात्राओं की भागीदारी : क‍िरण माहेश्वरी

उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने गुरुवार को मीरा कन्या महाविद्यालय में मेधावी छात्राओं को स्कूटी वितरित की।

By: madhulika singh

Updated: 07 Jun 2018, 08:54 PM IST

कृष्‍णा तंवर/ उदयपुर. उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने कहा कि राज्य सरकार के प्रोत्साहन के चलते प्रदेश में कॉलेज शिक्षा में छात्राओं की भागीदारी बढ़ी है। आज 51 प्रतिशत बालिकाएं कॉलेज शिक्षा ग्रहण कर रही हैं। गुरुवार को राजकीय मीरा कन्या महाविद्यालय में आयोजित मेधावी छात्रा व देवनारायण योजना के तहत जिले की सर्वश्रेष्ठ 50 छात्राओं को स्कूटी वितरण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर बोलते हुए उन्होंंने यह बात कही। माहेश्वरी ने कहा कि राज्य सरकार ने अगले सत्र से राजकीय महाविद्यालयों की सीटों में पचास प्रतिशत की बढ़ोतरी की है जिससे अधिस्नातक कक्षाओं के विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा। इसके अलावा करीब साढ़े पांच सौ व्याख्याताओं को जल्द ही पोस्टिंग दे दी जाएगी जिससे शिक्षण व्यवस्था में अपेक्षित सुधार आएगा।

कॉलेज में व्यवस्था सुधार के ल‍िए घोषणाएं

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सांसद अर्जुन लाल मीणा ने गर्ल्स कॉमन रुम हेतु 10 लाख रुपए की घोषणा की। महापौर चंद्र सिंह कोठारी ने कहा कि पहले भी नगर निगम की ओर से कॉलेज में कई प्रकार के कार्य करवाए गए हैं। स्मार्ट सिटी योजना के तहत इसे मॉडल महाविद्यालय के रुप में विकसित किया जाएगा। उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि छात्राओं की सुविधा हेतु एक डोम बनाया जाए जिसमें नगर निगम, सांसद एवं अन्य जनप्रतिनिधि सहयोग करें।

 

 

READ MORE : तृतीय श्रेणी के तबादलों में हुआ ये बड़ा खेल, मनाही के बावजूद शिक्षकों को टीएसपी से नॉन टीएसपी में क‍िया र‍िलीव

 

 

मीरा कॉलेज में बढ़ेंगी 300 सीटें

शहर के एकमात्र राजकीय कन्या महाविद्यालय के 18 विभागों में अधिस्नातक की 300 सीटें बढ़ेंगी। माहेश्वरी ने बताया कि इससे कट ऑफ मेरिट कम जाएगी और अधिक संख्या में बालिकाओं को शिक्षा मिल सकेगी। वर्तमान में महाविद्यालय में अधिस्नातक की 625 सीटें हैं। उन्होने बताया कि पूरे प्रदेश में एमए की 6 हजार 140, एमएससी की 1 हजार 30 तथा एमकॉम की 1 हजार 880 सीटें बढ़ाई गई हैं।

 

प्रतिभावान छात्राओँ की फीस होगी माफ

12 वीं कक्षा में 75 प्रतिशत या अधिक अंक प्राप्त करने वाली छात्राओं को स्नातक की शिक्षा निशुल्क प्रदान की जाएगी। इसके लिए वही छात्रा पात्र होगी जो स्नातक स्तर पर प्रतिवर्ष न्यूनतम 70 प्रतिशत अंक प्राप्त करेगी।

Show More
madhulika singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned