scriptतनावग्रस्त पुलिस: पंजाब, महाराष्ट्र की तरह राजस्थान पुलिस को मिलेगी मेंटल हेल्थ ट्रेनिंग | Patrika News
उदयपुर

तनावग्रस्त पुलिस: पंजाब, महाराष्ट्र की तरह राजस्थान पुलिस को मिलेगी मेंटल हेल्थ ट्रेनिंग

कोरोना के बाद बढ़ी परेशानियों को लेकर पड़ी जरुरत, विशेषज्ञ स्क्रीनिंग से जानेंगे समस्या, करेंगे काउंसलिंग

उदयपुरJul 10, 2024 / 12:25 am

Pankaj

राजस्थान पुलिस

उदयपुर. प्रदेश में पुलिसकर्मियों का मानसिक स्वास्थ्य सही रखने और उन्हें तनाव व अवसाद से बचाने के लिए विशेष कार्य योजना बनाई गई है। इसके तहत तनावग्रस्त पुलिसकर्मियों की पहचान, उच्चाधिकारियों की ओर से संपर्क और उनकी व्यक्तिगत समस्याओं के समाधान में मदद पर काम किया जाएगा। पुलिसकर्मियों के मानसिक स्वास्थ्य को लेकर पूर्व में भी प्रयास किए गए, लेकिन अब प्रभावी रूप से काम शुरू होने जा रहा है। पोस्ट कोविड समस्याओं में मेंटल हेल्थ ट्रेनिंग की जरुरत महसूस की गई थी। पुलिस महानिदेशक कार्यालय ने आदेश जारी कर प्रदेश के सभी पुलिसकर्मियों को मेंटल हेल्थ ट्रेनिंग देने के लिए कहा है। पुलिसकर्मियों का मानसिक स्वास्थ्य बेहतर बनाया जा सके। ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत पहले पुलिसकर्मियों का मेंटल हेल्थ स्कोर जांचा जाएगा। इसके बाद चिह्नित पुलिसकर्मियों की काउंसलिंग की जाएगी, ताकि पुलिसकर्मियों के कार्य क्षेत्र की गुणवत्ता में वृद्धि हो सके। जयपुर में इसकी गतिविधियां शुरू हो गई है। पहले दौर में पुलिस प्रशिक्षण केंद्रों पर ट्रेनिंग होगी और इसके बाद बाकी प्रदेश में काम होगा।
इसलिए पड़ रही जरुरत

  • पुलिसकर्मियों में आत्महत्या के मामले भी बढ़ रहे हैं
  • आमजन से बुरा बर्ताव करने के मामले भी बढ़े हैं
  • फील्ड में मारपीट के कई मामलों में छवि खराब हुई
  • कोरोना के बाद मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं बढ़ी है
  • पुलिस की ड्यूटी का समय तय नहीं होना कारण है
  • लम्बी ड्यूटी, परिवार से दूरी भी एक कारण होता है
  • थानों में सिपाहियों को अवकाश कम मिलना भी वजह
    पूर्व में भी हुई ऐसी गतिविधियां
    पुलिस जवानों में मानसिक तनाव के स्तर का पता लगाने के लिए पूर्व जयपुर पुलिस ने एक एनआरआई से मदद ली गई थी। टीम ने तीन दिन तक जवानों में मानसिक स्तर की जांच की। ग्लोबल मेंटल हेल्थ एसेसमेंट टूल से हुई जांच में पुलिस जवानों से परिवार, खानपान, जीवनशैली और कार्य संबंधी सवाल पूछे गए। कम्यूटर सॉफ्टवेयर के जरिए मानसिक स्थिति और मनोविकारों की जानकारी ली गई।
    चार साल पहले महसूस हुई जरुरत
    पुलिसकर्मियों के मानसिक स्वास्थ्य को सही रखने के बारे में सुझाव के लिए पुलिस मुख्यालय की ओर से चार अधिकारियों की उपसमिति का गठन 2020 में किया गया था। उपसमिति ने तनाव के कारणों का विश्लेषण करते हुए उपाय सुझाए। सभी पुलिसकर्मियों तक उपाय पहुंचाए गए। उपसमिति ने माना है कि लगातार लम्बी डयूटी भी तनाव का एक कारण है, इसलिए पुलिसकर्मियों को आराम भी दिया जाना चाहिए।
    इनका कहना…
    पुलिस मुख्यालय ने जवानों के मेंटल हेल्थ को ध्यान में रखते हुए संस्था के साथ मार्च में करार किया था। इसको लेकर गतिविधियां शुरू हो रही है। कोरोना के बाद बढ़ी स्वास्थ्य समस्याएं और पुलिस की कार्यशैली को लेकर इस तरह की ट्रेनिंग की सख्त जरुरत है। हमारी टीम राजस्थान पुलिस को मानसिक स्वास्थ्य को प्रबल बनाने का काम करेगी।
    सुनील त्रिवेदी, राज्य समन्वयक, एम पावर आदित्य बिरला ग्रुप

Hindi News/ Udaipur / तनावग्रस्त पुलिस: पंजाब, महाराष्ट्र की तरह राजस्थान पुलिस को मिलेगी मेंटल हेल्थ ट्रेनिंग

ट्रेंडिंग वीडियो