scriptCybercrime from jail, ex-jail superintendent under departmental invest | जेल से साइबर क्राइम, विभागीय जांच के घेरे में पूर्व जेल अधीक्षक,भोपाल तलब | Patrika News

जेल से साइबर क्राइम, विभागीय जांच के घेरे में पूर्व जेल अधीक्षक,भोपाल तलब

जेल डीजी को बयानों की रिपोर्ट सोंपेंगे डीआइजी

उज्जैन

Published: November 15, 2021 07:55:34 pm

उज्जैन. केंद्रीय भेरवगढ़ जेल में साइबर क्राइम मामले में अब पूर्व जेल अधीक्षक अलका सोनकर भी विभागीय जांच के घेरे में हैं। जेल डीजी ने उन्हें भी इन्दौर से भोपाल तलब किया है। वहीं केंद्रीय भेरवगढ़ जेल से शनिवार को 7 प्रहरी और तीन कैदियों के बयान लेकर गए डीआइजी संजय पांडे सोमवार को डीजी को सौंपेंगे। हालांकि विभाग की आंतरिक जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि बंदी को स्पेशल कैबिन मुहैया करवाया गया था।

ujjain_jail.png

इसके साथ ही उसे लैपटॉप और इंटरनेट डोंगल उपलब्ध कराया जाता था। यहीं स्पेशल कैबिन में बैठकर बंदी देशी और विदेशी खाते हैक कर 7 प्रहरी और तीन कैदियों के खातों में रुपए ट्रांसफर करता था। इस मामले में पूर्व जेल अधीक्षक अलका सोनकर से भी विभागीय जांच के तहत पूछताछ की जाएगी। इस संबंध में जेल डीजी ने कहा कि उनसे भी पूछताछ करने के लिए तलब किया है। वहीं यह भी जानकारी लगी है कि साइबर सेल की एसआइटी भी पूर्व जेल अधीक्षक से पूछताछ कर सकती है।

Must See: गाय का गोबर खरीदेगी सरकार, बकरी का दूध भी बेचेगी

विभागीय जांच में इनके बयान
शनिवार को जेल मुख्यालय से केंद्रीय. भैरवगढ़ जेल पहुंचे डीआइजी व उनकी टीम ने जेल प्रहही पूनम, सुनीता चौहान, उषा आर्य, ओमप्रकाश सिंह, रामसुमिरन मिश्रा, मतीन कुरैशी, ललित मोहन आर्य व कैदी संतोष पाटीदार, राकेश राय व एक अन्य कैदी के बयान लिए हैं। इनके बयानों की रिपोर्ट अब डीआइजी संजय पांडे सोमवार को जेल डीजी को सौंपेंगे।

Must See: वारदातः रुपए नहीं देने पर युवक को मारी गोली

जेलर का लैपटॉप जब्त
जानकारी लगी है कि एसआइटी ने संतोष लड़िया का लैपटॉप महिला जेल प्रहरी के पास से जब्त किया है, जिससे हैकर अमर अग्रवाल देशी विदेशी खाते है करता था। जेलर ने एसआइटी को बरगलाने के लिए नया खरीदा लैपटॉप दे दिया था, बाद में जानकारी लगाने के बाद जेल प्रहरी सुनीता चौहान के घर से लैपटॉप जब्त किया, जिसे एसआइटी ने जब्त किया है।

Must See: अब इलाज से पहले बताना होगा वैक्सीनेशन हुआ या नहीं

जमानत के बाद भी बांड नहों भर पाए अधिकारी तो हुआ खुलासा
फरवरी 2018 में महाराष्ट्र के गांव हिवरा पहाड़ी थाना पिंपलनेर बीड़ के रहने वाले साइबर क्राइम एक्सपर्ट और बैंक अकाउंट हैकर अमर अनंत अग्रवाल को भैरवगढ़ जेल भेजा गया था। यहां आरोप है कि सहायक जेल अधीक्षक सुरेश गोयल, जेलर संतोष लडिया व अन्य जिम्मेदारों ने मिलकर उसे लैपटॉप व इंटरनेट मुहैया करवा देशी और विदेशी खाते हैक करवा 7 प्रहरी और तीन कैदियों के खातों में लाखों रुपए की देशी और विदेशी करंसी ट्रांसफर करवाई।

Must See: फिर हुई गांधी के हत्यारे गोडसे की पूजा प्रशासन को नहीं लगी भनक

इसके बदले जेल अधिकारियो को उसकी जमानत करवाना थी। परंतु आरोपी की जमानत हो गई और उसे सात लाख रुपए के बांड भरने के निर्देश कोर्ट ने दिए तो उसका बांड नहीं भरा गया। यही से विवाद की स्थिति उत्पन्न हुई। इस बीच अमर अनंत अग्रवाल ने पेशी के दौरान न्यायाधीश सहित जेल डीजी को जानकारी दे जान का खतरा होने का हवाला देते हुए अन्य जेल स्थानातंरित का आग्रह किया। इसके बाद 30 अक्टूबर को उसे भोपाल स्थानातंरित कर साइबर सेल ने अज्ञात के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी। बताया जाता है कि ऑनलाइन धोखाधड़ी मामले में जेल अधिकारियों ने ही आरोपी की जमानत करवाई है। इसके सबूत भी एसआइटी द्वारा जुटाए जा रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.