बसपा सांसद अतुल राय को फिर लगा झटका, कोर्ट ने सुनाया यह निर्णय

बसपा सांसद अतुल राय को फिर लगा झटका, कोर्ट ने सुनाया यह निर्णय
BSP MP Atul Rai

Devesh Singh | Updated: 04 Jun 2019, 08:04:07 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

घोसी सांसद पर लगा है रेप करने का आरोप, लंका पुलिस लगातार कर रही बसपा नेता की तलाश

वाराणसी. घोसी सांसद अतुल राय को कोर्ट ने मंगलवार को बड़ा झटका दिया है। कोर्ट से घोसी सांसद को सरेंडर करने के लिए और समय देने की याचिका खारिज कर दी है। आरोपी सांसद ने कोर्ट से समर्पण करने के लिए और समय मांगा था जिसे देने से कोर्ट ने इंकार कर दिया है। इससे बीएसपी नेता की मुश्किले बढ़ गयी है। यूपी कॉलेज की पूर्व छात्रा ने अतुल राय पर रेप करने का आरोप लगाया है और लंका थाने में मुकदमा भी दर्ज है लेकिन अभी तक लंका पुलिस आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पायी है।
यह भी पढ़े:-पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में गर्मी में गंगा का हुआ यह हाल



बाहुबली मुख्तार अंसारी के खास माने जाने वाले अतुल राय के अधिवक्ता ने न्यायिक मजिस्ट्रेट (प्रथम) में सरेंडर करने के लिए प्रार्थना पत्र दिया था जिस पर कोर्ट ने चार जून तक का समय दिया था। मंगलवार को सरेंडर करने का अंतिम दिन था और अतुल राय के अधिवक्ता ने फिर कोर्ट में एक याचिका दायर की थी जिसमे कहा था कि आरोपी सांसद सरेंडर करने के लिए जमानिया (गाजीपुर) से आ रहे थे कि रास्ते में वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसमे अतुल राय के पैर में गंभीर चोट लगी है इसके चलते ही वह कोर्ट में सरेंडर नहीं कर पाये हैं। अतुल राय के अधिवक्ता ने कोर्ट से समर्पण करने के लिए और समय मांगा था कहा था कि वह शपथ पत्र भी दे सकते हैं। सुनवाई के बाद कोर्ट ने अधिवक्ता की याचिका खारिज कर दी। कोर्ट ने कहा कि आरोपी द्वारा प्रक्रिया को अनावश्यक विलंबित किया जा रहा है जिससे न्याय की मूलभावना प्रभावित हो रही है। बचाव पक्ष ने आरोपी के दुर्घटना में घायल होने की दलील दी है लेकिन कोर्ट में दोपहर बाद तक चिकित्सकीय प्रमाण पत्र प्रस्तुत नहीं किया जा सका है ऐसे में आरोपी की याचिका खारिज की जाती है।
यह भी पढ़े:-मायावती ने की बीजेपी की राह आसान, सीएम योगी आदित्यनाथ को होगा बड़ा फायदा

 

रेप के आरोप में फंसे अतुल राय को कही से नहीं मिली राहत
रेल के आरोप में फंसे अतुल राय को कही से राहत नहीं मिली है। स्थानीय अदालत से लेकर हाईकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट ने भी बीएसपी नेता की गिरफ्तारी पर रोक लगाने वाली याचिका खारिज कर दी है। लोकसभा चुनाव में रेप का आरोप लगने के बाद भी अतुल राय घोसी संसदीय सीट से चुनाव जीत गये थे। अतुल राय ने हमेशा ही रेप के आरोप को राजनीतिक से प्रेरित बताया है। अतुल राय के समर्थन में सबपा सुप्रीमो मायावती भी आ गयी थी और सीएम योगी आदित्यनाथ पर सत्ता का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया था। घटनाक्रम में सबसे बड़ी बात है कि लंका पुलिस आज तक अतुल राय का सुराग तक नहीं लगा पायी है जिससे बनारस पुलिस की कार्यशैली पर गंभीर सवाल खड़े हो गये हैं।
यह भी पढ़े:-अखिलेश यादव ने गठबंधन से अलग होने का किया इशारा, कहा 2022 में बनेगी सपा की सरकार

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned